Top
राष्ट्रीय

आंदोलनकारी किसानों के समर्थन में आए कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो, विदेश मंत्रालय ने बताया 'गैरजरूरी'

Janjwar Desk
1 Dec 2020 2:43 PM GMT
आंदोलनकारी किसानों के समर्थन में आए कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो, विदेश मंत्रालय ने बताया गैरजरूरी
x
विदेश मंत्रालय ने कहा कि हमने कुछ कनाडा के नेताओं के भारत के किसानों के बारे में कमेंट सुने हैं, ऐसे बयान गैर जरूरी हैं, वो भी तब जब किसी लोकतांत्रिक देश के आंतरिक मुद्दों से जुड़े हो....

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की ओर से हाल में पारित किए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ इस समय जहां देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन चल रहे हैं। आंदोलनकारी इन कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। इस बीच कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रडो ने किसान आंदोलन को लेकर बयान दिया है। गुरुनानक देव जी की जयंती पर ट्रूडो ने सिख समुदाय को संबोधित करते हुए किसानों के आंदोलन पर चर्चा की और कहां कि भारत में हालत काफी चिंताजनक है।

इस दौरान ट्रूडो ने कहा कि कनाडा हमेशा से शांतिपूर्ण प्रदर्शन के हक की बात करता है लेकिन भारत में जो हो रहा है उसको लेकर वहां की सरकार से चर्चा की गई है। ट्रूडो के अलावा ब्रिटेन समेत अन्य देशों के नेताओं ने भी किसान आंदोलन को लेकर टिप्पणी की है।

वहीं कनाडाई प्रधानमंत्री के बयान पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने जवाब दिया है। विदेश मंत्री मंत्रालय ने इस तरह की उनकी टिप्पणी को गैर जरूरी करार दिया है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि हमने कुछ कनाडा के नेताओं के भारत के किसानों के बारे में कमेंट सुने हैं। ऐसे बयान गैर जरूरी हैं, वो भी तब जब किसी लोकतांत्रिक देश के आंतरिक मुद्दों से जुड़े हो। साथ ही ये भी जरूरी है कि डिप्लोमेटिक बातचीत को किसी राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल किया जाए।

बता दें कि पंजाब से बड़ी संख्या में लोग कनाडा में जाकर बसते हैं। वहां बसने वाले सिखों का कनाडा की राजनीति में प्रभाव है। वहीं भारत में चल रहे किसान आंदोलन में पंजाब और हरियाणा के अधिकांश किसान शामिल हैं।

दूसरी ओर सोशल मीडिया पर ट्रूडो के बयान पर खूब चर्चा हो रही है। एक तरफ उनकी तारीफ की जा रही है तो दूसरे पक्ष के यूजर्स उनकी टिप्पणी को आंतरिक मामले में दखल मान रहे हैं। ट्रडो के बयान के बाद फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार पर निशाना साधा जा रहा है।

बता दें कि अक्षय कुमार की कनाडाई नागरिकता है और उनकी ओर से अभी तक किसान आंदोलन पर किसी प्रकार की टिप्पणी नहीं की गई है। सोशल मीडिया यूजर्स यही बात कह रहे हैं कि कनाडाई प्रधानमंत्री किसान आंदोलन पर टिप्पणी कर रहे हैं लेकिन अक्षय कुमार अभी तक शांत हैं।







Next Story

विविध

Share it