राष्ट्रीय

नवभारत टाइम्स के दो पत्रकारों पर लखनऊ में दर्ज हुआ मुकदमा, राशन की धांधली पर की थी रिपोर्ट

Janjwar Desk
14 Sep 2021 4:57 AM GMT
नवभारत टाइम्स के दो पत्रकारों पर लखनऊ में दर्ज हुआ मुकदमा, राशन की धांधली पर की थी रिपोर्ट
x

(राशन में गड़बड़ी की खबर दिखाने पर NBT के पत्रकारों पर मुकदमा)

लखनऊ में विश्व गौरव पर मुकदमें की घटना तेजी से सुर्खियां बटोर रही है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति भी सवालों के घेरे में है...

जनज्वार, लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में नवभारत टाइम्स ऑनलाइन (NBT Online) के दो पत्रकारों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। जाने की सूचना है। मुकदमा भी उस विभाग से दर्ज हुआ है जिसका जिम्मा यूपी के मुखिया योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के पास है। यानी खाद्य एवं रसद विभाग।

रविवार 12 सितंबर को तालकटोरा (Talkatora) स्थित राजाजीपुरम में असाइनमेंट के चलते राशन गोदाम के रखरखाव व मैनेजमेंट की कवरेज एनबीटी ऑनलाइन के बरिष्ठ संवाददाता विश्व गौरव (Vishva Gaurav) अपने साथी रिपोर्टर आशीष सुमित मिश्रा के साथ पहुँचे थे। इस दौरान कोटेदार अलका का रिश्तेदार भी दोनो पत्रकारों के साथ था।

विश्व गौरव ने सहयोगी के साथ जब पड़ताल शुरू की तो गोदाम इंचार्ज शशि सिंह (Sashi Singh) व अन्य अफसर मौके से गायब मिले। वहीं आउटसोर्सिंग वाले खुद को अफसर बताने लगे। वहीं, गोदाम में राशन की धांधली भी सामने आई।

गोदाम पहुँचे पत्रकार ने शशि सिंह से फोन पर बात की तो उन्होने सीधे तौर पर एफआईआर (FIR) की धमकी दी। इस बीच शशि सिंह की तहरीर पर बिना सही गलत की पड़ताल किए लखनऊ पुलिस ने दोनो पत्रकारों पर आईपीसी (IPC) की धारा 186/504 व 506 के तहत मामला दर्ज किया है।

एफआईआर की कॉपी

इन मुकदमों से लखनऊ के पत्रकारों में रोष है। वहीं, मामले में यूपी कांग्रेस ने कड़े शब्दों में निंदा की है। विश्व गौरव पर मुकदमें की घटना तेजी से सुर्खियां बटोर रही है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति भी सवालों के घेरे में है।

एफआईआर की कॉपी में 3 लोगों के नाम हैं। पहला नाम विश्व गौरव का है। दूसरा इनके सहयोगी आशीष (Ashish) का नाम होने सहित तीसरा नाम रजनीश मिश्रा का डाला गया है। रजनीश मिश्रा कोटेदार अलका मिश्रा का देवर बताया जा रहा है। एफआईआर में रजनीश के अभिवावक के तौर पर अलका का नाम दर्ज किया गया है।

इस मसले पर जनज्वार संवाददाता ने मुकदमा करवाने वाली मार्केटिंग अफसर शशि सिंह से बात की। शशि सिंह ने कहा की वह ऑफिस पहुँचकर बात करेंगी। उनने 15 मिनट बाद बात करने की बात कही लेकिन बाद में 20 मिनट के बाद कई फोन करने पर भी उनका फोन नहीं उठा।

Next Story

विविध

Share it