राष्ट्रीय

Chandrashekhar Azad : ये गुंडों की सरकार है, इनसे न्याय की उम्मीद बिल्कुल नहीं, योगी सरकार पर रावण का जुबानी हमला

Janjwar Desk
23 Sep 2021 4:42 PM GMT
aligarh news
x

चंद्रशेखर आजाद रावण (file photo)

Chandrashekhar Azad : रावण ने कहा कि 'न्याय देना तो सरकार का काम है। आप ये समझ लें कि प्रदेश की कानून व्यवस्था बदहाल है। पीड़ित परिवार बैठा है, आंदोलन कर रहा है, धरना कर रहा है...

Chandrashekhar Azad (जनज्वार) : उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में दलितों की हत्या, रेप व अन्य मामलों को लेकर आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर रावण (Chandrashekhar Ravan) आज पीड़ित परिवारों से मिलने अलीगढ़ पहुँचे। अलीगढ़ में वह 3 परिवारों से मिले। यहां के बाद हाथरस (Hathras) और कासगंज भी जाने की योजना है।

इस बीच मीडिया (Media) से बात करते हुए चंद्रशेखर रावण ने कहा कि 'न्याय देना तो सरकार का काम है। आप ये समझ लें कि प्रदेश की कानून व्यवस्था बदहाल है। पीड़ित परिवार बैठा है, आंदोलन कर रहा है, धरना कर रहा है। और ये सब परिवार मजबूरी में कर रहा है। उन्होंने कहा कि प्रशासन के लोग न्याय देने के बजाय धमका रहे हैं, बेटे को कह रहे हैं कि कबूल कर लीजिए। 15 दिन में छुड़वा देंगे नहीं तो लंबा टांग देंगे।'

पलायन की स्थिति में हैं दलित परिवार

चंद्रशेखर रावण ने योगी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि 'ये गुंडों की सरकार है, इसमें न्याय की उम्मीद नहीं है। दलित पलायन की स्थिती में हैं। अलीगढ़ (Aligarh) में सैकड़ों की संख्या में घटनाएं हुई हैं। कप्तान से मिलेंगे और पूछेंगे कि अगर वो न्याय नहीं दे सकते तो उस कुर्सी पर बैठे क्यों हैं। अगर सरकार की सिफारिशों पर ही काम करना है तो वह संवैधानिक पद पर क्यों हैं। मैं पीड़ित परिवार के साथ खड़ा हूं और सवाल भी पूछूंगा। हालत ये है कि गांव में पानी भी रोका जा रहा है।'

न्याय के लिए जारी रहेगी लड़ाई

चंद्रशेखर ने कहा कि 'हाथरस (Hathras) में एक घटना हुई है वैसी ही घटना यहां हुई है। घटना के 13 दिनों में गिरफ्तारी (Arresting) क्यों नहीं हुई। पीड़ित परिवार 25 तारीख को आवास घेरेगा और मैं आज ही घेरूंगा। हाथरस से आने के बाद मैं यहां अधिकारियों से आकर पूछ लूंगा कि आप क्या कर रहे हो।

रावण ने कहा, यूपी चुनाव (UP Election 2022) बहुत दूर है मेरे लिए, यही चुनाव है कि मेरे परिवार को सुरक्षा मिल जाए और उनको न्याय मिल जाए। उनकी आंखों के आंसूओं को पोंछना ही मेरी राजनीति है। अलीगढ़ आया हूं क्योंकि न्याय नहीं हो रहा है। अलीगढ़ में न्याय नहीं होगा तो हम लोग लड़ेंगे और न्याय दिलाएंगे।'

Next Story

विविध

Share it