राष्ट्रीय

संबित पात्रा का ये कौन सा कांग्रेसी टूलकिट है, जिसको लेकर भाजपाई भर रहे कुलांचे

Janjwar Desk
19 May 2021 7:39 AM GMT
संबित पात्रा का ये कौन सा कांग्रेसी टूलकिट है, जिसको लेकर भाजपाई भर रहे कुलांचे
x
(भाजपा का आरोप: कांग्रेस टूलकिट के जरिये सोशल मीडिया पर पीएम मोदी को कर रही बदनाम)
कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने भाजपा के आरोपों पर संवाददाताओं से बातचीत में दावा किया कि भाजपा ने फर्जी टूलकिट तैयार किया है, ताकि एक बौने नेता की गढ़ी हुई छवि को बचाया जा सके। जबकि पूरा देश इनकी हकीकत जान चुका है.....

जनज्वार डेस्क। भाजपा और कांग्रेस के बीच टूलकिट को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस पर एक विशेष टूलकिट के जरिए सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि धूमिल करने का आरोप लगाया है।

वहीं कांग्रेस ने पलटवार करते हुए भाजपा पर झूठा आरोप लगाने और मामले में एफआईआर दर्ज करवाने की चेतावनी दे डाली। फिर कांग्रेस ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को चिट्‌ठी लिखकर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्‌डा, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, संगठन महासचिव बीएल संतोष और पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा समेत दिग्गज नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की।

कांग्रेस ने भाजपा पर कोरोना महामारी के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि बचाने और लोगों का ध्यान भटकाने के लिए 'फर्जी टूलकिट' तैयार करने का आरोप लगाया है। पार्टी के मुताबिक, नई दिल्ली के तुगलक रोड थाने में राजीव गौड़ा और सोशल मीडिया विभाग के प्रमुख रोहन गुप्ता की तरफ से शिकायत दर्ज कराई गई। पार्टी ने इस शिकायत में मांग की है कि 'जालसाजी' और 'झूठ फैलाने' के लिए भाजपा के इन वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी भी की जाए।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस 'टूलकिट' को फर्जी करार देते हुए कहा कि सत्तापक्ष को 'झूठ फैलाना' बंद कर लोगों का जीवन बचाने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया, 'अपना समय झूठ फैलाने में बर्बाद मत करिए। जागिए और लोगों का जीवन बचाना शुरू करिए।'

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने भाजपा के आरोपों पर संवाददाताओं से बातचीत में दावा किया, 'भाजपा ने फर्जी टूलकिट तैयार किया है, ताकि एक बौने नेता की गढ़ी हुई छवि को बचाया जा सके। जबकि पूरा देश इनकी हकीकत जान चुका है। अब हर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का असली चेहरा देख चुका है।'

उन्होंने कहा, 'जो भी सरकार से सवाल करता है, उसका चरित्र हनन करने का प्रयास किया जाता है। कांग्रेस इस तरह के हथकंडों से डरने वाली नहीं है। हम जनता की आवाज उठाते रहेंगे और सरकार से कठिन प्रश्न पूछते रहेंगे।'

सबसे पहले भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने 18 मई की सुबह एक वर्चुअल पीसी की। उन्होंने कांग्रेस पर कोरोना महामारी के दौरान देशवासियों में भ्रम फैलाने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि धूमिल करने का आरोप लगाया। उन्होंने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि कोरोना जैसे संकट काल में विपक्षी दल की गिद्धों की राजनीति उजागर हुई है। पात्रा ने इसके लिए एक 'टूलकिट' का हवाला दिया।

उन्‍होंने दावा किया किया महामारी के इस मुश्किल समय में कांग्रेस की रिसर्च विंग देश और प्रधानमंत्री को बदनाम करने में लगी है। पात्रा ने आगे बताया कि टूलकिट के जरिए कांग्रेस के लोगों को इंडियन स्‍ट्रेन को 'मोदी स्‍ट्रेन' कहने के लिए कहा गया है। वहीं, कुंभ को सुपर स्‍प्रेडर की तरह प्रचारित करना है। पात्रा ने यह भी दावा किया कि राहुल गांधी जो हर सुबह ट्वीट करते हैं, वो भी इसी टूलकिट का हिस्सा है, जिसके जरिए सरकार को बदनाम किया जा रहा है।

संबित पात्रा के आरोपों पर दोपहर में कांग्रेस के तीन बड़े नेताओं ने जवाब दिया। इनमें सबसे पहले कांग्रेस रिसर्च विंग के प्रमुख राजीव गौड़ा ने ट्वीट कर कहा कि भाजपा 'कोविड कुप्रबंधन' पर फर्जी टूलकिट का दुष्प्रचार कर रही है। इसे कांग्रेस के शोध विभाग से जोड़ रही है। हम जालसाजी को लेकर जेपी नड्डा और संबित पात्रा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा रहे हैं।'उन्होंने दावा किया कि हमारा देश कोविड की तबाही का सामना कर रहा है, ऐसे समय लोगों को राहत प्रदान करने की बजाय भाजपा बेशर्मी के साथ फर्जीवाड़ा कर रही है।

इसके बाद पार्टी प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि बीजेपी की ट्रोल आर्मी इस तरह का प्रोपगेंडा फैला रही है। जब देश और सरकार को महामारी से लड़ना चाहिए, तब उनकी पार्टी और नेता फर्जी टूलकिट फैलाने में लगे हुए हैं।

वहीं रणदीप सुरजेवाला ने भी भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि जेपी नड्‌डा और उनके अन्य नेताओं पर केस दर्ज करवा रहे हैं, पर जान लें कि इन कुकृत्यों से सच नहीं छुप सकती है।

दिनभर की बयानबाजी के बाद शाम को कांग्रेस ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर और एसएचओ तुगलक रोड पुलिस स्टेशन को चिट्ठी लिखी। इसमें जेपी नड्डा, संबित पात्रा, स्मृति ईरानी, बीएल संतोष समेत कई अन्य नेताओं के खिलाफ एफआईआर की मांग की गई।

कांग्रेस ने चिट्‌ठी में लिखा कि इन लोगों ने देश में सांप्रदायिक अशांति फैलाने के उद्देश्य से सोशल मीडिया के जरिए झूठी बातें फैलाई हैं। शिकायत में यह भी कहा गया है कि संबित पात्रा बीएल संतोष सहित बीजेपी के अन्य लोगों ने जेपी नड्डा के कहने पर एक फर्जी और मनगढ़ंत दस्तावेज तैयार किया है। इसके लिए इन लोगों ने एआईसीसी रिसर्च डिपार्टमेंट का लेटरहेड भी तैयार किया है। इसलिए इन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए।

बता दें कि 'टूलकिट' एक प्रकार का दस्तावेज होता है जिसमें अपने अभियान को आगे बढ़ाने के लिए बिंदुवार मुद्दे होते हैं। अभियान को धार देने के लिए इन्हीं मुद्दों पर विरोधियों को घेरने के लिए प्रचार-प्रसार किया जाता है। हाल ही में किसान आंदोलन के दौरान भी एक 'टूलकिट' सामने आया था, जिसकी काफी चर्चा भी हुई थी। उस समय भी भाजपा ने अपने दामन को बचाने के लिए काफी बवाल किया था।

Next Story

विविध

Share it