राष्ट्रीय

Delhi Jahangirpuri Violence : सीब्लॉक की ओर से पहले पत्थर चले फिर गोलियां चलने लगीं और देखते-देखते कई पुलिसकर्मी जख्मी हो गए

Janjwar Desk
17 April 2022 4:01 PM GMT
Delhi Jahangirpuri Violence
x

Delhi Jahangirpuri Violence : सीब्लॉक की ओर से ही पहले पत्थर चले फिर गोलियां चलने लगीं और देखते-देखते कई पुलिसकर्मी जख्मी हो गए

शनिवार को जहांगीरपुरी इलाके में ​हुई हिंसा में के बाद पुलिस ने अब तक 14 लोगों को गिरफ्तार किया था। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक कोर्ट ने इनमें से दो को ए​क दिन की पुलिस हिरासत में और बाकी 12 को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है...

Delhi Jahangirpuri Violence : "रविवार को इलाके में एक जुलूस निकाला गया था। जुलूस जैसे ही एक मस्जिद के नजदीक पहुंचा वहां दो समूहों के बीच बहस शुरू हो गई। इसके बाद पत्थरबाजी होने लगी लेकिन दोनों समूह वहां से हट गए।पर धीरे-धीरे माहौल तनावपूर्ण हो गया"

ये बातें कही है दिल्ली (Delhi) की जहांगीरपुरी (Jahangirpuri) इलाके में हुई हिंसा (Violence) में घायल हुए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के सब इंस्पेक्टर (Sub Inspector) मेधा लाल ने।

जहांगीरपुरी हिंसा के समय घटनास्थल पर तैनात SI मेधालाल बताते हैं कि शुरू में सब कुछ सामान्य था. जो जुलूस निकले थे उनमें एक समूह जी ब्लॉक की ओर चला गया था और दूसरा जो मस्जिद के इर्द-गिर्द था वह सी ब्लॉक की ओर जाने लगा। उसके बाद सी-ब्लॉक की ओर से पत्थर चलने लगे। फिर वहीं से गोलियां भी चलने लगीं और देखते-देखते कई पुलिसकर्मी जख्मी हो गए।

इसके बाद लोग तलवार लेकर सी-ब्लॉक की ओर चले आए। इस दौरान सी ब्लॉक (C Block) के ओर से चली एक गोली मुझे भी लगी. धीरे-धीरे ओर माहौल साम्प्रदायिक हो गया। इस झड़प में कई पुलिसकर्मी और लोग घायल हो गए। मैं तुरंत पीसीआर में अस्पताल चला गया।

मेधा लाल ने कहा है कि मैं अब ठीक हूं। मेरी स्थिति धीरे-धीरे सुधर रही है. मैं जुलूस के दौरान वहां मौजूद था. उसके बाद भी मैं इमरजेंसी ड्यूटी के दौरान वहीं था। इससे पहले दो जुलूस शांतिपूर्वक निकाले जा चुके थे, पर अंत में सारी परिस्थिति बदल गयी।

बता दें कि शनिवार शाम को दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में हनुमान जयंती के जुलूस के दौरान पत्थरबाजी के दौरान दो समूहों के बीच झड़पें शुरू हो गयी थी। इस दौरान पत्थरबाजी के अलावे गोलियां भी चली जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। एसआई मेधालाल उन्हीें में से एक हैं।

आपको बता दें कि शनिवार को जहांगीरपुरी इलाके में ​हुई हिंसा में के बाद पुलिस ने अब तक 14 लोगों को गिरफ्तार किया था। इन्हें रविवार को रोहिणी कोर्ट में पेश किया गया था। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक कोर्ट ने इनमें से दो को ए​क दिन की पुलिस हिरासत में और बाकी 12 को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

जहांगीरपुरी हिंसा मामले में मीडिया से बातचीत में उत्तर पश्चिम दिल्ली की डीसीपी उषा रंगनानी ने बताया है कि इस मामले में रविवार को पांच और लोगों को गिरफ्तार की गयी है, जिससे कुल गिरफ्तार लोगों की संख्या चौदह तक पहुंच गई है।

वहीं दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर (कानून-व्यवस्था) दीपेंदर पाठक का कहना है कि हालात अब पूरी तरह काबू में है। माहौल शांत है।

आपको बता दें कि केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने भी दिल्ली पुलिस के कमिश्नर राकेश अस्थाना (Rakesh Asthana) और स्पेशल कमिश्नर (कानून-व्यवस्था) दीपेंदर पाठक (Deependra Pathak) से बातचीत कर हालात का जायजा लिया है और कानून-व्यस्था बनाए रखने की अपील की है।

इस दौरान दिल्ली पुलिस ने लोगों से अपील की है कि किसी भी अफ़वाह और ग़लत सूचना का तुरंत खंडन करें और किसी भी असामाजिक तत्व की संदिग्ध गतिविधि को लेकर पुलिस से संपर्क करें। दिल्ली पुलिस ने लोगों को निष्पक्ष जांच का भरोसा भी दिया है।

Next Story