Top
राष्ट्रीय

दिल्ली सल्तनत ने किया तलब यूपी भवन पहुंचे योगी, मोदी और शाह से होनी है मुलाकात, प्रदेश में सियासी अटकलें शुरू

Janjwar Desk
10 Jun 2021 11:18 AM GMT
दिल्ली सल्तनत ने किया तलब यूपी भवन पहुंचे योगी, मोदी और शाह से होनी है मुलाकात, प्रदेश में सियासी अटकलें शुरू
x

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दिल्ली तलब किया गया है.चर्चा है कि विवादों को हवा देने की बजाय बीच का रास्ता निकाला जा सकता है.

योगी के आगमन को लेकर गाजियाबाद की साहिबाबाद पुलिस अलर्ट पर रही। इसकी वजह ये थी कि पहले सीएम योगी दोपहर सवा दो बजे हिंडन पर उतरे और फिर यहां से उनका काफिला दिल्ली रवाना हुआ। वह आज रात यहीं गुजारेंगे। कहा तो ये भी जा रहा है कि शुक्रवार 11 जून को वह प्रधानमंत्री से मुलाकात कर सकते हैं...

जनज्वार ब्यूरो, लखनऊ/दिल्ली। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दिल्ली में उत्तर प्रदेश भवन पहुंच गए हैं। माना जा रहा है कि वह यहां केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करेंगे। योगी की दिल्ली यात्रा के साथ ही यूपी में फेरबदल की अटकलें एक बार फिर तेज हो गई हैं।

जानकारी के मुताबिक सीएम योगी के आगमन को लेकर गाजियाबाद की साहिबाबाद पुलिस अलर्ट पर रही। इसकी वजह ये थी कि पहले सीएम योगी दोपहर सवा दो बजे हिंडन पर उतरे और फिर यहां से उनका काफिला दिल्ली रवाना हुआ। वह आज रात यहीं गुजारेंगे। कहा तो ये भी जा रहा है कि शुक्रवार 11 जून को वह प्रधानमंत्री से मुलाकात कर सकते हैं।

यूपी में विधान सभा चुनाव 2022 से पहले योगी सरकार में बड़े बदलाव की संभावना और पीएम-सीएम के बीच सबकुछ ठीक नहीं होने की चर्चा के बीच आज मुख्यमंत्री योगी को शीर्ष नेतृत्व ने दिल्ली बुलाया था। इस कवायद को चुनाव से पहले प्रदेश में किसी प्रकार के विवाद को हवा देने के बजाय बीच का रास्ता निकालने की कोशिश माना जा रहा है।

वहीं सियासी गलियारे में चर्चा तेज है कि पीएम मोदी के करीबी अरविंद शर्मा को अहम पद देने और सरकार में अन्य बदलावों को लेकर कोई समझौता हो सकता है ताकि दिल्ली सल्तनत और प्रदेश सरकार के बीच सबकुछ ठीक होने का संदेश दिया जा सके। पिछले कई दिनों से प्रदेश सरकार और संगठन में बदलाव को लेकर दिल्ली दरबार और सीएम योगी के बीच तनातनी चल रही है।

सोशल मीडिया, नौकरशाही और सियासी गलियारों में यह चर्चा आम है। बता दें कि यह जंग पीएम मोदी के सबसे करीबी अफसर अरविंद शर्मा की ताजपोशी को लेकर शुरू हुई थी। केंद्र चाहता है कि अरविंद शर्मा डिप्टी सीएम बने और नियुक्ति सहित गृह की कमान उनके हाथ में रहे मगर मुख्यमंत्री ने इससे साफ इंकार कर दिया है।

दिल्ली दरबार और मुख्यमंत्री के बीच बढ़ती तल्खी को दूर करने के लिए भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष ने न केवल राजधानी लखनऊ में तीन दिन तक डेरा जमाए रखा बल्कि मंत्रियों और विधायकों से अलग-अलग बैठक की और अपनी रिपोर्ट जेपी नड्डा को सौंपी थी।

माना जा रहा है कि राष्ट्रीय संगठन मंत्री ने सीएम योगी को बीच का रास्ता अपनाने का सुझाव भी दिया है। संघ भी इस मामले में सक्रिय हो गया था। संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले भी नहीं चाहते कि चुनाव से पहले किसी प्रकार का विवाद सामने आए जिससे भाजपा को नुकसान उठाना पड़े। इस सबके बीच आज मुख्यमंत्री का दिल्ली दौरा शुरू हो गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आज गृहमंत्री अमित शाह के साथ बैठक करेंगे। जिसके बाद वे कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। इसके पहले भी यूपी को लेकर प्रधानमंत्री से लेकर संगठन के पदाधिकारी की कई बैठकें हो चुकी हैं। माना जा रहा है कि गृहमंत्री अमित शाह के साथ बैठक के बाद यूपी में चल रहे विवाद पर विराम लग सकता है। सूत्रों का कहना है कि चुनाव के कारण पार्टी का शीर्ष नेतृत्व प्रदेश में बड़ा बदलाव करने का रिस्क नहीं लेगा और बीच का रास्ता निकाला जाएगा ताकि पीएम और सीएम के बीच अहम के टकराव पर विराम लग सके।

दूसरी तरफ संघ के सामने बड़ी चुनौती यह है कि पीएम मोदी और सीएम योगी दोनों ही उसके चहेते हैं, जिनके जरिए वह हिंदुत्व की कमान संभालता है। ऐसे में अगर दोनों में कोई एक नाराज होता है तो ये संघ के लिए बहुत परेशानी की बात होगी। लिहाजा संघ भी सक्रिय हो चुका है और बीच का रास्ता निकालने में जुटा हुआ है।

Next Story

विविध

Share it