दिल्ली

Bulldozer in Okhala: अब दिल्ली के ओखला और शाहीन बाग़ में चलेगा बुलडोजर, जनज्वार से बात करते हुए मेयर ने बताया कौन है निशाने पर है

Janjwar Desk
23 April 2022 5:40 AM GMT
Bulldozer in Okhala: अब दिल्ली के ओखला और शाहीन बाग़ में चलेगा बुलडोजर, जनज्वार से बात करते हुए मेयर ने बताया कौन है निशाने पर है
x
Bulldozer in Okhala: एसडीएमसी मेयर मुकेश सूर्यन ने कहा कि अतिक्रमण और अवैध निर्माण चाहे किसी भी क्षेत्र में किसी का भी क्यों न हो, उसे हटाया जाएगा। जहांगीरपुरी की तरह इस अभियान का अगर संवेदनशील इलाकों में विरोध हुआ तो आप क्या करेंगे, उन्होंने कहा कि विरोध का सवाल नहीं होता है।

Bulldozer in Okhala: जहांगीरपुरी ( Jahangirpuri ) मेंं बुलडोजर ( SDMC Bulldozer ) की कार्रवाई के बाद दक्षिणी दिल्ली के ओखला ( Okhala ) और शाहीन बाग ( Shaheen Bagh ) जैसे संवेदनशील इलाके में भी एमसीडी मी अवैध निर्माण व अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाने की योजना है। इसके लिए दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (South Delhi Municipal Corporation) के मेयर मुकेश सूर्यन ( SDMC Mayor Mukesh Suryan ) ने जनज्वार डॉट कॉम ( Janjwar.com ) से बातचीत में कहा है कि हमने तैयारी पूरी कर ली है। विरोध की आशंका को देखते हुए एसडीएमसी ने दिल्ली पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स को भी सुरक्षा के लिहाज से मौके पर उपलब्ध रहने को कहा गया है। गैर कानूनी गतिविधियों में लिप्त संदिग्ध लोगों को छोड़ने का सवाल ही नहीं होता है।

अतिक्रमण विरोधी अभियान को लेकर कार्रवाई का खाका तैयार

उन्होंने कहा कि एसडीएमसी ने अतिक्रमण विरोधी अभियान को लेकर कार्रवाई का पूरा खाका तैयार कर लिया है।उन इलाकों की सूची भी तैयार कर ली है जहां पर अवैध निर्माण और अतिक्रमण हटाना है। इस अभियान को लेकर एसडीएमसी के मेयर मुकेश सूर्यन ( SDMC Mayor Mukesh Suryan ) ने कहा कि हमने नजफगढ़ इलाके में यह अभियान चलाए हैं। सोमवार से शहीन बाग, ओखला, जसोला, मदनपुर खादर, जामिया नगर और असपास के क्षेत्रों में अतिक्रमण और अवैध निर्माण विरोधी अभियान चलेगा। एसडीएमसी योजनाबद्ध और प्रभावी तरीके ये यह अभियान चलाएगा।

अवैध निर्माण करने वाला चाहे कोई भी क्यों न हो, बच नहीं सकते

एसडीएमसी के मेयर मुकेश सूर्यन ( SDMC Mayor Mukesh Suryan ) ने कहा कि अतिक्रमण और अवैध निर्माण चाहे किसी भी क्षेत्र में किसी का भी क्यों न हो, उसे हटाया जाएगा। यह पूछे जाने पर कि जहांगीरपुरी की तरह इस अभियान का अगर संवेदनशील इलाकों में विरोध हुआ तो आप क्या करेंगे, उन्होंने कहा कि विरोध का सवाल नहीं होता है। अगर ऐसा हुआ तो हम अपना अतिक्रमण विरोधी अभियान जारी रखेंगे। विरोध को नियंत्रित करने के लिए सतर्कता बरती जा रही है। पर्याप्त सुरक्षा बल और दिल्ली पुलिस व अन्य अधिकारियों के संरक्षण में इस अभियान को अंजाम दिया जाएगा। हम इस अभियान को केवल इसलिए नहीं रोकेंगे कि शाहीन बाग और ओखला में इसका विरोध होगा। विरोध करने वाला कोई भी क्यों न हो, हम उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे। कानून की नजर में सभी एक समान है।

6 इलाकों में रोहिंग्याओं और बांग्लादेशियों की जानकारी

दरअसल, दक्षिण दिल्ली नगर निगम को ओखला और शाहीन बाग समेत छह से ज्यादा इलाकों में रोहिंग्या और बांग्लादेशी घुसपैठियों की जानकारी मिली है, जिन्होंने सड़कों पर अतिक्रमण कर रखा है। इसके अलावा कबाड़ के काम की आड़ में असामाजिक गतिविधियों को अंजाम दिया जा रहा है। बताया जा रहा है कि अतिक्रमण के साथ-साथ अवैध निर्माण और लूट और झपटमारी की जितनी घटनाएं हो रही हैं, उनमें भी बांग्लादेशी घुसपैठियों और रोहिंग्याओं का हाथ होता है। निगम के अधिकारियों का कहना है कि कार्रवाई से न केवल अवैध और अतिक्रमण पर लगाम लगेगी, बल्कि अपराध में भी कमी आएगी।

अभियान का विरोध करने वाले भी सक्रिय

जहांगीरपुरी में अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई के बाद उपद्रवियों का समर्थन करने वाले सक्रिय हो गए हैं। राम के अस्तित्व पर सवाल उठाने वाले, अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में बाधा डालने वाले वकील अब उपद्रवियों के अवैध कब्जे को बचाने के लिए अदालत पहुंच गए हैं। ये पुलिस और अन्य निर्दोष लोगों पर पथराव व फायरिंग करने वालों के खिलाफ कुछ नहीं बोलते हैं। सेना की सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल खड़ा करने व टुकड़े-टुकड़े गैंग का समर्थन करने वाले अब घुसपैठियों के प्रति हमदर्दी दिखा रहे हैं।

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून और सीएए के समय दक्षिणी दिल्ली इलाके में जो उपद्रव हुआ था उसमें भी बड़ी संख्या में शाहीन बाग और ओखला में रहने वाले रोहिंग्या और बांग्लादेशी मुस्लिम के शामिल होने की बात सामने आई थी। बांग्लादेशी और रोहिंग्या घुसपैठियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए भाजपा दिल्ली सरकार पर दबाव बनाएगी। इसे लेकर भाजपा जल्द ही आंदोलन शुरू करने की तैयारी में है।

Next Story

विविध