दिल्ली

Breaking : तिहाड़ से मंडोली तक जारी हुआ हाईअलर्ट, रोहिणी कोर्ट शूटआउट के बाद जेलों में खूनी गैंगवार की आशंका

Janjwar Desk
25 Sep 2021 10:36 AM GMT
dilli news
x

(कोर्ट में शूटआउट के बाद तिहाड़, मंडोली व रोहिणी में जारी हुआ अलर्ट)

Breaking : तिहाड़ के एक अधिकारी ने नाम ना छापने की शर्त पर जनज्वार को बताया कि जेलों में बड़े-बड़े खूंखार बंद हैं। गोगी बड़ा गैंग्स्टर था। यहां टिल्लू ताजपुरिया सहित गोगी के गुर्गे भी बंद हैं...

Rohini Court Shootout (जनज्वार) : शुक्रवार 24 सितंबर दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में हुए शूटआउट के बाद अब दिल्ली की जेलों में गैंगवार की संभावना बढ़ गई है। इसके मद्देनजर दिल्ली की सभी जेलों में अलर्ट (Alert) जारी कर दिया गया है। इसमें तिहाड़, मंडोली और रोहिणी जेल भी शामिल हैं।

तिहाड़ के एक अधिकारी ने नाम ना छापने की शर्त पर जनज्वार को बताया कि जेलों में बड़े-बड़े खूंखार बंद हैं। जितेंद्र गोगी (Jitendra Gogi) बड़ा गैंग्स्टर था। यहां टिल्लू ताजपुरिया (Tillu Tajpuriya) सहित गोगी के गुर्गे भी बंद हैं। हालांकि सभी को अलग अलग बैरक व सेल में रखा जाता है लेकिन, बाहर तो आते ही हैं। पेशियों में जाते हैं। इनमें आपस में गैंगवार को लेकर संभावना बन रही है।

सूत्रों की माने तो दिल्ली की तिहाड़, मंडोली व रोहिड़ी (Tihar Mandoli & Rohini Jail) जेल में कोई भी छोटी से बड़ी वारदात होने पर सभी जेलों में एक साथ सायरन बजाया जाता है। जेलों के भीतर बजने वाला यह सायरन खतरे का अलार्म होता है। सायरन के बजते ही सभी बंदी व कैदी समझ जाते हैं कि किसी ना किसी जेल में कोई बड़ी घटना या मर्डर हो गया है।

सायरन बजते ही सभी कैदियों बंदियों को बैरकों में बंद कर दिया जाता है। दिल्ली जेल के अफसर ने जनज्वार को बताया कि कल शुक्रवार 24 सितंबर को रोहिणी कोर्ट में हुए शूटआउट के बाद भी जेल में सायरन (Shootout Hooter) बजा था। दिन का वक्त था, सभी बंदी कैदी खुले हुए थे। जिनको तुरत बैरकों में बंद कर दिया गया।

गौरतलब है कि दिल्ली की तीनो ही जेलों में दो बार गिनती बंद होती है। यानी कैदियों व बंदियों को दो बार बैरकों व सेलों में बंद किया जाता है। एक गिनती रात की और दूसरी गिनती दिन की होती है। जेल के अधिकारी के मुताबिक रात्रि गिनती (Night Lockup) साढ़े 6 बजे के बाद कर दी जाती है जिसे सुबह 6 बजे खोला जाता है। और दिन की गिनती (Day Lockup) 12 बजे से 3 बजे तक बंदी होती है।

बवानिया से लेकर छेनू तक कई नामी हैं बंद

दिल्ली की विभिन्न जेलों में कई नामी-गिरामी क्रिमिनल बंद हैं। यहां तक की यूपी के भी कई बड़े बदमाश दिल्ली की तिहाड़ रोहिणी व मंडोली जेल में बनी हाइसिक्योरिटी सेल (High Siqurity Cell) में बंद हैं। दिल्ली, हरियाणा व उत्तराखंड में दहशत का पर्याय नीरज बवानिया भी तिहाड़ के अंदर बैठकर अपनी सिंडिकेट चलाता है। बवानिया इस समय दिल्ली का सबसे बड़ा गैंगस्टर है। उसके इशारों पर तमाम शूटर काम करते हैं। बवानिया सहित, छेनू पहलवान गैंग, इरफान गैंग, गोगी-टिल्लू गैंग, राजेश बवाना गैंग सहित नीतू दाबोदिया गैंग के तमाम शूटर बंद हैं। जिनमें आए दिन वर्चस्व को लेकर संघर्ष की बात सामने आती है।

Next Story

विविध

Share it