दिल्ली

Delhi Jahangirpuri Violence: जहांगीरपुरी हिंसा मामले में 21 आरोपी गिरफ्तार, जानें अब तक क्या हुआ?

Janjwar Desk
17 April 2022 7:02 PM GMT
Delhi Jahangirpuri Violence: जहांगीरपुरी हिंसा मामले में 21 आरोपी गिरफ्तार, जानें अब तक क्या हुआ?
x

Delhi Jahangirpuri Violence: जहांगीरपुरी हिंसा मामले में 21 आरोपी गिरफ्तार, जानें अब तक क्या हुआ?

Delhi Jahangirpuri Violence Update: उत्तर-पश्चिमी दिल्ली के जहांगीरपुरी हिंसा मामले में अब तक 21 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है, जबकि 2 नाबालिगों को भी हिरासत में लिया गया है।

Delhi Jahangirpuri Violence Update: उत्तर-पश्चिमी दिल्ली के जहांगीरपुरी हिंसा मामले में अब तक 21 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है, जबकि 2 नाबालिगों को भी हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने 5 तलवारों सहित 3 पिस्टल भी बरामद किये हैं। पुलिस ने 14 आरोपियों को जहांगीरपुरी कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने अंसार और असलम को एक दिन के लिए पुलिस रिमांड पर सौंपा, जबकि 12 को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

पुलिस ने अंसार को बताया मास्टरमाइंड

बता दें कि दिल्ली पुलिस द्वारा इस मामले में अंसार को नामजद आरोपी और हिंसा का मास्टरमाइंड बताया जा रहा है। 35 वर्षीय मोहम्मद अंसार जहांगीरपुरी के बी ब्लॉक का रहने वाला है। वहीं, दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में कहा कि 15 तारीख को अंसार और असलम को पता लग गया था कि एक यात्रा निकलने वाली है और इन लोगों ने साजिश रची थी।

आरोपियों को धाराओं में किया गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस के डीसीपी नॉर्थ-वेस्ट उषा रंगनानी ने बताया कि आरोपियों के पास से तीन पिस्टल और पांच तलवार बरामद की गई हैं। पिस्तौल और तलवार का इस्तेमाल हिंसा को भड़काने के लिए किया गया था। 20 आरोपियों में 4 एक ही परिवार के लोग हैं। आरोपियों को धारा 147, 148, 149, 186, 353, 332, 323, 427, 436, 307, 120बी आईपीसी और 27 आर्म्स एक्ट के तरह गरफ्तार किया गया है।

दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में शनिवार 16 अप्रैल को हिंसा भड़क गई। आरोप है की शोभायात्रा में शामिल उपद्रियों ने मस्जिद में माहौल ख़राब करने की कोशिश की जिसके बाद कुछ लोगों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी, जिसके बाद माहौल बिगड़ गया और हिंसा भड़क गई। हिंसा में एक स्थानीय व्यक्ति और आठ पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। हिंसा के एक दिन बाद रविवार को तनावपूर्ण शांति रही।

हिंसा मामले के आरोपियों को रोहिणी कोर्ट में पेश किया गया है। कोर्ट ले जाते समय सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। रोहिणी कोर्ट में सुनवाई दिल्ली पुलिस ने कहा, 15 तारीख को अंसार और असलम को पता लग गया था कि एक यात्रा निकलने वाली है, जिसके बाद इन लोगों ने पूरी तैयारी की और हिंसा को अंजाम दिया। कोर्ट ने अंसार और असलम को एक दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया है, जबकि 12 अन्य आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

Next Story

विविध