दिल्ली

दिल्ली पुलिस ने कथित फर्जी TWEET के लिए महिला कार्यकर्ता को थमाया नोटिस

Janjwar Desk
3 Feb 2021 10:03 AM GMT
दिल्ली पुलिस ने कथित फर्जी TWEET के लिए महिला कार्यकर्ता को थमाया नोटिस
x
दिल्ली में 26 जनवरी की हिंसा के सिलसिले में दिल्ली पुलिस ने 60 किसान नेताओं सहित 270 लोगों को नोटिस जारी किए हैं। अपराध शाखा ने कई किसान नेताओं से फोन पर भी संपर्क किया है, उन्हें जांच में शामिल होने के लिए कहा है।

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने सामाजिक कार्यकर्ता योगिता भयाना को किसान प्रदर्शन के संबंध में ट्वीट करने के मामले में जांच में शामिल होने के लिए आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 41 ए के तहत नोटिस जारी किया है। स्पेशल सेल की साइबर क्राइम यूनिट ने यह नोटिस स्पेशल सेल द्वारा दर्ज की गई एफआईआर के मद्देनजर जारी की है।

भयाना ने हाल ही में अपने ट्विटर हैंडल पर कुछ ट्वीट्स पोस्ट किए थे, जो कथित रूप से फर्जी थे। पुलिस उनसे ट्वीट्स के स्रोत के बारे में जानना चाहती है।

योगिता भयाना ने अपने ट्वीट में लिखा, दिल्ली पुलिस ने मेरे नाम पर #FIR दर्ज किया है। मेरा गुनाह ये है कि मैं किसान आंदोलन में किसान भाइयों का साथ दे रही हूं। #DelhiPolice मेरी आवाज को दबाना चाहती है।''

इससे पहले योगिता ने एक दूसरे ट्वीट में लिखा था, कई किसान लापता हैं,ट्रैक्टर / वाहनों को जब्त कर लिया गया है।' रिपोर्टिंग के लिए पत्रकारों को परेशान किया जा रहा है। नवनीत की मौत की अब तक कोई जांच नहीं की गई जब उसकी मौत के कारणों पर सवाल उठाए जा रहे हैं !! सरकार अपने ही लोगों के खिलाफ कैसे हो सकती है ?

दिल्ली में 26 जनवरी की हिंसा के सिलसिले में दिल्ली पुलिस ने 60 किसान नेताओं सहित 270 लोगों को नोटिस जारी किए हैं। अपराध शाखा ने कई किसान नेताओं से फोन पर भी संपर्क किया है, उन्हें जांच में शामिल होने के लिए कहा है।

26 जनवरी को दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा के बाद, पुलिस ने विभिन्न थानों में 44 मामले दर्ज करने के अलावा, दंगा करने और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के आरोप में 122 लोगों को गिरफ्तार किया है।

Next Story

विविध

Share it