दिल्ली

दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने लगाया पटाखों पर बैन, भाजपा ने बताया धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला फैसला

Janjwar Desk
5 Nov 2020 5:16 PM GMT
Bakrid 2022 : केजरीवाल ने बकरीद के बाद दी देवशयनी एकादशी की शुभकामनाएं, ट्रोलर बोले - हिंदू याद आये 2 घंटे बाद
x

Bakrid 2022 : केजरीवाल ने बकरीद के बाद दी देवशयनी एकादशी की शुभकामनाएं, ट्रोलर बोले - हिंदू याद आये 2 घंटे बाद

दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष बोले, सरकार ने दिवाली पर ग्रीन पटाखों की अनुमति पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। पटाखे जलाने पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगेगा। इस प्रकार केजरीवाल सरकार ने धार्मिक भावनाओं को आहत करने का काम किया है...

नई दिल्ली, जनज्वार। दिल्ली में सभी तरह के पटाखों पर केजरीवाल सरकार के प्रतिबंध लगाने के फैसले का भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली इकाई ने विरोध किया है। भाजपा ने इसे धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला फैसला बताया है।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश कुमार गुप्ता ने गुरुवार को बयान जारी कर कहा, "केजरीवाल जी अगर आप समय रहते दिल्ली में प्रदूषण की समस्या के लिए कोई काम करते तो पटाखे बैन करने की नौबत नहीं आती। प्रदूषण बढ़ने की वजह आपकी विफलता है। प्रदूषण पर आपकी 26 घोषणाएं आज भी कागजों पर हैं। दिल्ली के लोग स्थायी समाधान चाहते हैं। पटाखे और ऑड-इवन जैसे अस्थाई समाधान नहीं।"

प्रदेश अध्यक्ष आदेश कुमार गुप्ता ने कहा कि, "दिल्ली में सरकार की ओर से 26 घोषणाओं पर काम न करने की वजह से ही प्रदूषण बढ़ा है। इन 26 घोषणाओं में एक हजार इलेक्ट्रिक बसें चलाने, दो करोड़ पेड़ लगाने और स्मॉग टॉवर की स्थापना जैसे वादे थे।"

प्रदेश अध्यक्ष आदेश कुमार गुप्ता ने कहा कि, "आज पटाखों पर प्रतिबंध लगाया, कल ऑड-ईवन के नाम पर गाड़ियों को बैन करेंगे। इससे लोगों को परेशानी के सिवा कुछ नहीं मिलेगा। दिल्ली वाले स्थाई समाधान चाहते हैं। स्थाई समाधान ही दिल्ली में प्रदूषण की समस्या का हल हो सकता है।"

प्रदेश अध्यक्ष ने केजरीवाल सरकार पर प्रदूषण के खिलाफ बजट खर्च न करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार को बताना चाहिए केंद्र सरकार से प्रदूषण के नियंत्रण के लिए मिले बजट को उन्होंने कहां खर्च किया।

पटाखों पर प्रतिबंध का विरोध करते हुए आदेश कुमार गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने दिवाली पर ग्रीन पटाखों की अनुमति पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। पटाखे जलाने पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगेगा। इस प्रकार केजरीवाल सरकार ने धार्मिक भावनाओं को आहत करने का काम किया है। दिल्ली सरकार का यह कदम ठीक नहीं है।

Next Story

विविध