Top
दिल्ली

लड़की से बात करने पर डीयू के छात्र की पीट पीटकर हत्या, पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

Janjwar Desk
10 Oct 2020 7:41 AM GMT
लड़की से बात करने पर डीयू के छात्र की पीट पीटकर हत्या, पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार
x
वारदात से पहले भी लड़की के भाइयों ने राहुल को जान से मारने की धमकी दी थी, फिलहाल पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है और शव का पोस्टमार्टम कराकर अंतिम संस्कार कर दिया गया है...

जनज्वार ब्यूरो, नई दिल्ली। दिल्ली विश्वविद्यालय के एक छात्र की तीन नाबालिग समेत 5 लोगों ने आदर्श नगर इलाके में बुधवार 7 अक्टूबर को पीट-पीटकर हत्या कर दी। पुलिस ने सभी आरोपितों को दबोच लिया है। शुरुआती जांच में पता चला है कि मृतक युवक जहांगीरपुरी में रहने वाली एक लड़की से बात करता था। इससे नाराज होकर लड़की के भाइयों ने युवक की बेरहमी से पिटाई की।

बताया जा रहा है कि वारदात से पहले भी लड़की के भाइयों ने युवक को जान से मारने की धमकी दी थी। फिलहाल पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं, मृतक के शव का पोस्टमार्टम कराकर अंतिम संस्कार कर दिया गया है।

गौरतलब है कि 19 वर्षीय राहुल राजपूत आदर्श नगर इलाके के मूलचंद कॉलोनी में रहता था। वह डीयू के स्कूल ऑफ ओपन लर्निग से बीए द्वितीय वर्ष की पढ़ाई करने के साथ कोचिंग सेंटर में बच्चों को अंग्रेजी भी पढ़ाता था। राहुल के परिवार में पिता संजय, मां रेणुका और छोटी बहन मुस्कान हैं। शुरुआती जानकारी के मुताबिक राहुल की दोस्ती कोचिंग सेंटर में पढ़ने वाली जहांगीरपुरी निवासी एक किशोरी से हो गई थी। लड़की के परिजन इस दोस्ती के विरोध में थे।

बुधवार 7 अक्टूबर की रात राहुल के चचेरे भाई गोलू के फोन पर अनजान नंबर से फोन आया। फोन करने वाले ने कहा कि उन्हें अपने बच्चे को ट्यूशन पढ़वाना है, इसलिए राहुल को घर से बाहर भेज दें। गोलू के बताने पर राहुल घर से बाहर गली में आ गया। इसके बाद बहाने से आरोपित राहुल को गंदा नाला के पास ले गए।

राहुल के चाचा धर्मपाल का कहना है कि उन्हें किसी जानने वाले ने फोन कर बताया कि गंदा नाला के समीप पांच लोग भतीजे राहुल की पिटाई कर रहे हैं। मौके पर पहुंचकर धर्मपाल ने राहुल को बचाया, जिसके बाद पास के डॉक्टर से इलाज कराने के बाद राहुल को वह घर लेकर आए।

देर रात राहुल की तबीयत खराब हुई तो उसे निकट के बाबू जगजीवन राम अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पर चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इसके बाद वारदात की जानकारी पुलिस को दी गई। मामले की जांच के क्रम में पुलिस ने मुहम्मद राज और मुहम्मद अफरोज समेत तीन नाबालिगों को भी गिरफ्तार किया है।

राहुल के परिजनों का कहना है कि लडकी के भाई अफरोज ने अपने अन्य चार दोस्तों के साथ मिलकर राहुल की हत्या की। राहुल को जान से मारने की धमकियां तो पहले से ही घरवाले दे रहे थे, लेकिन उसे भरोसा न था कि मार ही देंगे। उस दिन भी फोन करके नाले के पास बुलाया कि किसी बच्चे के ट्यूशन के बारे में बात करनी है और वहां पहुंचते ही उस पर हमले शुरु हो गये। देर रात अस्पताल में राहुल ने दम तोड़ दिया।

इसके बाद पुलिसिया कारवाई में पांच लोग गिरफ्तार किये गये, जिसमें से तीन नाबालिग हैं। नाबालिगों को बाल सुधार गृह भेज दिया गया है।

Next Story

विविध

Share it