दिल्ली

दिल्ली में BJP कार्यकर्ता रिंकू शर्मा की हत्या पर VHP का दावा, जुटा रहा था राम मंदिर के लिए चंदा इसलिये उतारा मौत के घाट

Janjwar Desk
12 Feb 2021 7:25 AM GMT
दिल्ली में BJP कार्यकर्ता रिंकू शर्मा की हत्या पर VHP का दावा, जुटा रहा था राम मंदिर के लिए चंदा इसलिये उतारा मौत के घाट
x

photo : twitter

जनज्वार। दिल्ली में 25 साल के युवक रिंकू शर्मा की हत्या हुई है, जिस पर आज सोशल मीडिया पर #JusticeForRinkuSharma टॉप ट्रेंड कर रहा है। जानकारी के मुताबिक रिंकू भाजपा और विश्व हिंदू परिषद से जुड़ा हुआ था।

भाजपा नेता कपिल​ मिश्रा ने अपना एक वीडियो पोस्ट करते हुए ट्वीट किया है, 'अगर रिंकू का नाम रेहान होता तो उसकी हत्या देश की सबसे बड़ी खबर होती। हर नेता उसके दरवाजे पर होता। रिंकू शर्मा जी की हत्या दिल्ली में ऐसा पहला अपराध नहीं। अंकित सक्सेना, ध्रुव त्यागी, डॉ नारंग, राहुल, अंकित शर्मा सब को ऐसे ही तो मारा गया आखिर क्यों?

कपिल मिश्रा ने अपने एक अन्य ट्वीट में लिखा है, 'हर नेता, सेलिब्रिटी, पत्रकार जो राम मंदिर निधि समर्पण के खिलाफ नफरत फैला रहे हैं, जो मन्दिर के लिए हाथ जोड़कर घर घर जाकर सहयोग मांगने वालों को खलनायक बता रहे हैं, भड़काऊ बयान दे रहे हैं, ट्वीट कर रहे हैं, वो सभी रिंकू शर्मा की हत्या के कसूरवार हैं।'

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने इस घटना पर नाराजगी जताते हुए रिंकू शर्मा के लिए इंसाफ की मांग की है। संबित पात्रा ने ट्वीट किया है, 'रिंकू शर्मा, जय श्री राम।'

वीएचपी ने बयान दिया है रिंकू शर्मा राम मंदिर के लिए निधि समर्पण अभियान से जुटा था और इसके चलते ही उसकी हत्या हुई है। वीएचपी नेता सुरेंद्र जैन ने हत्यारों को फांसी की सजा दिए जाने की मांग तक कर डाली है।

फिलहाल दिल्ली पुलिस ने रिंकू शर्मा की हत्या के चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

गौरतलब है कि बाहरी दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके में बुधवार 10 फरवरी की देर रात रिंकू शर्मा की हत्या हो गई थी। पुलिस के मुताबिक जन्मदिन की पार्टी में हुई बहस के बाद 4 लोगों ने रिंकू शर्मा की चाकू मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने हत्या के सांप्रदायिक ऐंगल पर बोलने से साफ इनकार किया है, लेकिन मृतक के भाई का कहना है कि उसकी हत्या धार्मिक वजह से ही की गई है।

पुलिस ने रिंकू के हत्यारोपियों को गिरफ्तार किया है, जिनकी पहचान मोहम्मद दानिश (36), मोहम्मद इस्लाम (45), जाहिद (26) और मोहम्मद मेहताब (20) के रूप में हुई है। दानिश और इस्लाम टेलर का काम करते हैं, जाहिद एक कॉलेज छात्र है और मेहताब कक्षा 12वीं में पढ़ता है। जानकारी के मुताबिक मृतक युवक रिंकू शर्मा एक निजी अस्पताल में तकनीशियन के रूप में काम करता था।

पुलिस का इस मामले में कहना है कि दानिश और रिंकू की अपने पड़ोस में बुधवार 10 फरवरी की रात एक जन्मदिन की पार्टी में बहस हो गई थी, जिसके बाद लगभग 11 बजे रिंकू की हत्या कर दी गई। पार्टी में दानिश और रिंकू दोनों को आमंत्रित किया गया था। पार्टी के बाद जब रिंकू सिंह अपने एक अन्य दोस्त लाली के साथ घर ​के लिए निकला तो दानिश ने उन्हें रोक लिया। इसके बाद फिर से उनमें बहस हो गई और रिंकू ने दानिश को थप्पड़ जड़ दिया।

पुलिस के मुताबिक इससे गुस्साये दानिश ने अपने तीन दोस्तों के साथ रिंकू को पकड़ लिया और उस पर चाकू से वार किया। रिंकू को बचाने की कोशिश के दौरान लाली को भी मामूली चोटें आईं। रिंकू के गिरने के बाद चारों आरोपी वहां से भाग गए। पुलिस का कहना है कि अभी यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि आखिर दोनों के बीच बहस का कारण क्या था। घायल हालत में रिंकू को पास के अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अस्पताल के कर्मचारियों ने पुलिस को इस बारे में सूचित किया।

इस मामले में दिल्ली के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (बाहरी) सुधांशु धामा ने कहा कि प्रारंभिक जांच के दौरान दानिश और उसके दोस्तों की पहचान कर छापेमारी के बाद चारों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Next Story

विविध

Share it