दिल्ली

पश्चिमी यूपी के कुख्यात गैंग्स्टर अंकित गुर्जर की तिहाड़ जेल में हत्या, लाश मिलने से जेल प्रशासन में हड़कंप

Janjwar Desk
4 Aug 2021 1:04 PM GMT
पश्चिमी यूपी के कुख्यात गैंग्स्टर अंकित गुर्जर की तिहाड़ जेल में हत्या,  लाश मिलने से जेल प्रशासन में हड़कंप
x

बागपत के कुख्यात अंकित गुर्जर का तिहाड़ में मर्डर.

कुख्यात गैंगस्टर पर 8 मर्डर करने का आरोप था। उत्तर प्रदेश और दिल्ली पुलिस दोनों ने उस पर इनाम घोषित किया था। जहां यूपी में अपराध के लिए उस पर 1 लाख रुपए का इनाम रखा गया था, वहीं दिल्ली में उस पर 25 हजार का इनाम था...

जनज्वार ब्यूरो। यूपी के बागपत का कुख्यात गैंग्स्टर अंकित गुर्जर की तिहाड़ की जेल नंबर तीन में संदिग्ध परिस्थितियों में लाश बरामद हुई है। बताया जा रहा है कि, बुधवार सुबह तिहाड़ जेल की बैरक नंबर तीन मे हत्या हुई है। गैंगस्टर की हत्या से तिहाड़ जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया है। वहीं अंकित के परिजनों ने जेल अधिकारियों पर हत्या करने का आरोप लगाया है।

कुख्यात गैंगस्टर अंकित गुर्जर बागपत के खैला गांव का रहने वाला था। पूर्व प्रधान विनोद की हत्या के मामले में एक लाख के इनामी रहे अंकित को दिल्ली पुलिस ने हरियाणा में मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था। पंचायत चुनाव में अंकित उर्फ बाबा के नाम से गांव में उसके पोस्टर भी चस्पा किए गए थे, जिसमें सामने चुनाव लड़ने वालों को अंजाम भुगतने की धमकी दी गई थी। फिलहाल अंकित की मां गीता ग्राम प्रधान है।

गैंग्स्टर अंकित के परिजनों ने जेल अधिकारियों पर हत्या करने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि अंकित के पास से मंगलवार को पुलिस अधिकारियों ने मोबाइल पकड़ा था, जिसके बाद उसकी एक जेल अधिकारी के साथ हाथापाई हो गई थी। परिजनों का कहना है कि हाथापाई के बाद उसे पुलिस ले गई और उसके साथ बुरी तरह मारपीट की गई, जिससे उसकी मौत हो गई। वहीं, पुलिस का कहना है कि जेल में कैदियों के बीच झगड़ा हो गया था, जिसमें अंकित की मौत हो गई।

अंकित का शव तिहाड़ में जेल नंबर-3 में मिला। बता दें कि इस कुख्यात गैंगस्टर पर 8 मर्डर करने का आरोप था। उत्तर प्रदेश और दिल्ली पुलिस दोनों ने उस पर इनाम घोषित किया था। जहां यूपी में अपराध के लिए उस पर 1 लाख रुपए का इनाम रखा गया था, वहीं दिल्ली में उस पर 25 हजार का इनाम था। उसे बागपत और दादरी में आतंक का पर्याय माना जाने लगा था।

अंकित गुर्जर को यूपी पुलिस ने 2015 में गिरफ्तार किया था, लेकिन 2019 में उसे जमानत मिल गई, जिसके बाद वह दिल्ली में रोहित चौधरी गैंग में शामिल हो गया। दोनों ने चौधरी-गुर्जर गैंग बनाने के बाद अपना नेटवर्क दक्षिण दिल्ली तक बढ़ा लिया। दिल्ली पुलिस ने पिछले साल सितंबर में गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया, तब तक यूपी पुलिस ने उसे मोस्ट वॉन्टेड अपराधी घोषित कर दिया था।

परिवार का आरोप

अंकित गुर्जर के परिवार की ओर से आरोप लगाया गया है कि उसका मर्डर किया गया है। हालांकि, अभी तक प्रशासन की ओर से पूरी जानकारी नहीं दी गई है। अंकित गुर्जर पर मर्डर के आरोप, मकोका के तहत केस दर्ज थे। तिहाड़ में उसकी मौत की घटना इसलिए भी बड़ी मानी जा रही है क्योंकि दिल्ली हाईकोर्ट ने इसी साल मई में श्रीकांत रामा स्वामी के जेल में मारे जाने की घटना पर सीबीआई जांच बिठाने का आदेश दिया है। बता दें कि श्रीकांत गोस्वामी को 14 मई 2002 को तिहाड़ की जेल नंबर-2 के बैरक नंबर-4 में मृत पाया गया था।

Next Story

विविध

Share it