Begin typing your search above and press return to search.
राष्ट्रीय

ED Raid : छापे के बाद संजय राउत ने खाई बालासाहेब ठाकरे की कसम, कहा - ' मैं मर भी जाऊं तो समर्पण नहीं करूंगा '

Janjwar Desk
31 July 2022 4:38 AM GMT
ED Raid : छापे के बाद संजय राउत ने खाई बालासाहेब ठाकरे की कसम, कहा -  मैं मर भी जाऊं तो समपज़्ण नहीं करूंगा
x

ED Raid : छापे के बाद संजय राउत ने खाई बालासाहेब ठाकरे की कसम, कहा - ' मैं मर भी जाऊं तो समपज़्ण नहीं करूंगा '

ED Raid : बालासाहेब ने हमें लडऩा सिखाया है। मैं शिवसेना के लिए लडऩा जारी रखूंगा। यह झूठी कार्रवाई है। झूठा सबूत है।

ED Raid : रविवार तड़के से मुंबई स्थित शिवसेना सांसद संजय राउत ( Sanjay Raut ) के भांडुप आवास पर ईडी की छापेमारी ( ED raid ) जारी है। इस बीच संजय राउत ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने शिवसेना के संस्थापक और हिंदू सम्राट बालासाहेब ठाकरे ( Balasaheb Thackeray ) की कसम खाते हुए कहा कि मेरा किसी घोटाले से कोई लेना-देना नहीं है। मैं शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे की शपथ लेकर यह कह रहा हूं। बालासाहेब ने हमें लडऩा सिखाया है। मैं शिवसेना ( Shiv Sena ) के लिए लडऩा जारी रखूंगा। यह झूठी कारज़्वाई है। झूठा सबूत है। मैं शिवसेना नहीं छोड़ूंगा। मैं मर भी जाऊं तो समपज़्ण नहीं करूंगा।

करीब 3 घंटे से जारी है पूछताछ

फिलहाल, शिवसेना ( Shiv Sena ) सांसद संजय राउत ( Sanjay Raut ) के घर पर ईडी टीम की छापेमारी जारी है। ईडी की टीम में करीब 10 से 12 अफसर हैं। ईडी के अधिकारी शिवसेना सांसद संजय राउत के अलावा उनके परिवार से भी पूछताछ कर रही है। टीम रावत के अलावा उनके दो करीबियों के घर भी पहुंची है। महाराष्ट्र के 1034 करोड़ के पात्रा चॉल जमीन घोटाला मामले में ईडी की टीम संजय राउत से पूछताछ कर रही है। ईडी की पूछताछ लगभग तीन घंटे से जारी है।

27 जुलाई को ईडी के सामने पेश नहीं हुए थे संजय राउत

इससे पहले 27 जुलाई को ईडी ने संजय राउत ( Sanjay Raut ) को तलब किया था। वह अधिकारियों के सामने पेश नहीं हुए थे। इसके बाद ईडी के अधिकारी उनके घर पहुंचे हैं। संजय राउत और उनके विधायक भाई सुनील राउत दोनों इस वक्त अपने भांडुप के बंगले मैत्री पर मौजूद हैं।

नवनीत राणा का पलटवार - इतनी संपत्ति कहा सं बनाई, जवाब दो

दूसरी तरफ अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ( Navneet Rana ) ने ईडी की छापेमारी ( ED raid ) के बाद संजय राउत पर निशाना साधा है। उन्होंने पूछा है कि संजय राउत ( Sanjay Raut ) ने इतनी संपत्ति कहां से बनाई। ईडी को संजय राउत से पूछताछ का हक है। संजय राउत ने चोरी नहीं की तो डर क्यों रहे हैं। वह ईडी से जांच में सहयोग क्यों नहीं कर रहे हैं। अगर शिवसेना ( Shiv Sena ) सांसद ने गलत नहीं किया तो डर क्यों, क्या वो इसका जवाब देंगे। दरअसल, ईडी की छापेमारी से नवनीत राणा को संजय राउत के खिलाफ खुलकर का बोलने का मौका मिल गया है। अखिर उन्हें हनुमान चालीसा प्रकरण में खुद और पति रवि राणा की गिरफ्तारी और जेल के पीछे पहुंचाने में संजय राउत की भूमिका अहम थी।

ये है पूरा मामाला

मुंबई के पत्रा चॉल घोटाला गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन के फर्जीवाड़े से जुड़ा है। गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन को पात्रा चॉल के पुनर्विकास के लिए काम मिला था। यह काम एमएचएडीए ने उसे सौंपा था। इसके अन्तर्गत मुंबई के गोरेगांव में 47 एकड़ में पात्रा चॉल में 672 किरायेदारों के घरों पुनर्विकसित होने थे। गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन ने एमएचएडीए को गुमराह किया और बिना फ्लैट बनाए ही यह जमीन 9 बिल्डरों को 901.79 करोड़ रुपए में बेच दी। बाद में गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन ने मिडोज नाम से एक प्रोजेक्ट शुरू किया और घर खरीदारों से फ्लैट के लिए 138 करोड़ रुपए जुटाए। अब इसमें संजय राउत का नाम भी जांच के दौरान सामने आया है। ईडी ने संजय राउत के आवास पर छापेमारी पत्रा चॉल में उनका कनेक्शन आने के बाद की है।


Next Story