राष्ट्रीय

'सामना' का संपादकीय-प्रियंका गांधी में दादी इंदिरा जैसा जज्बा, पंजाब व छत्तीसगढ़ सरकार इन 5 मृतकों को देगी 50-50 लाख रूपये

Janjwar Desk
6 Oct 2021 11:46 AM GMT
lakhimpur khiri
x

(सामना ने प्रियंका गांधी को बताया दादी जैसा)

प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश प्रशासन से तीखे सवाल किए कि उनका अपराध क्या था और उन्हें हिरासत में लेने के लिए क्या उनके खिलाफ वारंट जारी किया गया था...

जनज्वार, बुधवार 6 अक्टूबर। लखीमपुर खीरी हिंसा (Lakhimpur Kheri Violence) को लेकर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने जिस तरह का जज्बा दिखाया है। ठीक वैसा ही जोश और उत्साह उनकी दिवंगत दादी इंदिरा गांधी में था। शिवसेना ने लखमीपुर खीरी जिले में हिंसा में मारे गए किसानों के परिवार के सदस्यों से मिलने जा रही कांग्रेस महासचिव को हिरासत में लेने के लिए भाजपा और उत्तर प्रदेश सरकार की आलोचना करते हुए यह बात कही।

शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' में एक संपादकीय में पार्टी ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) और उनके पंजाब समकक्ष चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjeet Channi) को लखमीपुर खीरी जाने से रोकने पर यह भी पूछा कि क्या भारत-पाकिस्तान जैसी कोई दुश्मनी थी और देश के संघीय ढांचे में इसे 'अजीब घटना' करार दिया।

मराठी दैनिक में कहा गया, 'चूंकि प्रियंका गांधी कांग्रेस पार्टी की महासचिव हैं, उन पर राजनीतिक हमला हो सकता है, लेकिन वह महान नेता इंदिरा गांधी की पोती भी हैं जिन्होंने देश के लिए महान बलिदान दिया और पाकिस्तान (बांग्लादेश में) का विभाजन किया। जिन लोगों ने उन्हें अवैध रूप से हिरासत में लिया था, उन्हें इस बात से अवगत होना चाहिए था।'

शिवसेना ने कहा कि प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश प्रशासन से तीखे सवाल किए कि उनका अपराध क्या था और उन्हें हिरासत में लेने के लिए क्या उनके खिलाफ वारंट जारी किया गया था या उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी।

कांग्रेस सरकारें देंगी किसानों व मृतक पत्रकार को 50-50 लाख

लखीमपुर खीरी हिंसा में अपनी जान गंवाने वाले किसानों और पत्रकार रमन कश्यप के परिवार को छत्तीसगढ़ व पंजाब सरकार की तरफ से 50-50 लाख रुपए दिए जाएंगे। 3 अक्टूबर को 4 किसानों, पत्रकार रमन कश्यप सहित कुल आठ लोगों की जान गई थी, इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी मृतक परिवारों को 45-45 लाख रुपए और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की बात कही थी।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज लखनऊ में कहा कि 'किसानों और पत्रकारों के परिवार को 50-50 लाख रुपए देगी सरकार। पीड़ित परिवारों के साथ पूरा हिंदुस्तान खड़ा हुआ है छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से किसानों के परिवार को 50 लाख, पत्रकार के परिवार को भी 50 लाख रुपये दिए जाएंगे।' पंजाब व छत्तीसगढञ सरकार की तरफ से यह जानकारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर दी है।

Next Story

विविध

Share it