Top
राष्ट्रीय

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के टिकटों की बिक्री से हुई आय में से 5.4 करोड़ रुपये का गबन, मामला दर्ज

Janjwar Desk
2 Dec 2020 2:43 PM GMT
स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के टिकटों की बिक्री से हुई आय में से 5.4 करोड़ रुपये का गबन, मामला दर्ज
x
पुलिस अधिकारी के मुताबिक, नर्मदा जिले के केवडिया स्थित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के प्रबंधन ने करीब डेढ़ साल में यह राशि जमा की थी और राशि नकदी एकत्र करने वाली एजेंसी को दी गई थी जिसकी नियुक्ति वडोदरा स्थित निजी बैंक ने की थी....

अहमदाबाद। गुजरात के नर्मदा जिले में स्थित दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिम स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के टिकटों की बिक्री से अर्जित धनराशि में कथित रूप से 5.24 करोड़ रुपये गबन करने का मामला सामने आया है। पुलिस के एक अधिकारी ने बुधवार को जानकारी दी कि रकम एकत्रित करने वाली एजेंसी के कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

बता दें कि देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की यह प्रतिमा दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है और इसे स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के नाम से जाना जाता है। साल 2018 के अक्टूबर माह में इसका उद्घाटन किया गया था।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक, नर्मदा जिले के केवडिया स्थित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के प्रबंधन ने करीब डेढ़ साल में यह राशि जमा की थी और राशि नकदी एकत्र करने वाली एजेंसी को दी गई थी जिसकी नियुक्ति वडोदरा स्थित निजी बैंक ने की थी। उप पुलिस अधीक्षक वाणी दूधत ने कहा कि कुछ कर्मचारियों ने कथित तौर पर 5,24,77,375 रुपये स्टैच्यू ऑफ यूनिटी प्राधिकरण के खाते में जमा नहीं किए हैं।

उन्होंने बताया कि निजी बैंक के प्रबंधक ने सोमवार रात को केवडिया पुलिस थाने में नकदी जमा करने वाली एजेंसी के साथ-साथ अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथिमकी दर्ज कराई है। पुलिस ने मामले में भारतीय दंड संहिता की धारा-420 (धोखाधड़ी), धारा-406 (विश्वास भंग) और धारा-120बी (आपराधिक साजिश) के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। हालांकि, अबतक किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है। इस बीच, स्टैच्यू ऑफ यूनिटी प्राधिकरण ने बुधवार को कहा कि बैंक ने उसके खाते में 5.24 करोड़ रुपये जमा करा दिए हैं।

प्रबंधन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बयान में कहा, स्टैच्यू ऑफ यूनिटी इस मामले में शामिल नहीं है। यह बैंक और नकद एकत्र करने वाली एजेंसी के बीच का यह मामला है। बैंक ने पहले ही हमारी राशि खाते में जमा करा दी है।

Next Story

विविध

Share it