राष्ट्रीय

5 साल बाद भी योगी के मंत्री नहीं भूले पुराना प्रेम, BJP के कार्यक्रम को बताया बहिनजी का बहुजन सम्मेलन

Janjwar Desk
12 Sep 2021 4:54 AM GMT
5 साल बाद भी योगी के मंत्री नहीं भूले पुराना प्रेम, BJP के कार्यक्रम को बताया बहिनजी का बहुजन सम्मेलन
x
(स्वामी प्रसाद मौर्य का बसपा प्रेम photo-twitter)
मौर्य तब चौंक पड़े जब सामने बैठै सैकड़ों लोग एक साथ हंसने लगे। मंच पर मौजूद लोगों ने जब मौर्या को उनकी गलती का एहसास कराया, वह भी खुद को झेपने से बचाने के लिए जोर से हंस पड़े...

जनज्वार, लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) की गिनती एक समय बसपा के कद्दावर नेताओं में होती थी। मौर्य लंबे समय तक बसपा में रहे। उन्हें मायावती का भी बेहद करीबी माना जाता था। शायद यही कारण है कि साढ़े चार साल पहले बसपा छोड़कर भाजपा में आने के बाद भी पुरानी पार्टी उनके जेहन से मिट नहीं सकी।

इसका फलसफा शनिवार 11 सितंबर को देखने को मिला। मौर्य तब चौंक पड़े जब सामने बैठै सैकड़ों लोग एक साथ हंसने लगे। मंच पर मौजूद लोगों ने जब मौर्या को उनकी गलती का एहसास कराया, वह भी खुद को झेपने से बचाने के लिए जोर से हंस पड़े। स्वामी प्रसाद का यह वीडियो भी खूब वायरल (Viral Video) हो रहा है।

मामला रायबरेली में आयोजित भाजपा के प्रबुद्ध सम्मेलन का है। शनिवार को रायबरेली में आयोजित प्रबुद्धजन सम्‍मेलन में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य पहुंचे थे। मौर्य जब भाषण देने पहुंचे तो भाषण की शुरुआत 'बहिनजी' (Bahinji) से करते हुए कहा कि....रायबरेली में बहुजन समाज पार्टी द्वारा आयोजित प्रबुद्धजन सम्‍मेलन में...।

मौर्य के मुंह से बहुजन समाज पार्टी का नाम सुनते ही लोग हंस पड़े। अचानक लोगों को हंसता देख मौर्य चौंक गए। उन्होंने आयोजकों की तरफ देखकर इशारे से पूछा, (What Happen) क्या हुआ। जब लोगों ने बताया कि बहुजन समाज पार्टी (BSP) नहीं भारतीय जनता पार्टी (BJP), तब उन्हें अपनी गलती का एहसास हुआ और दोबारा उन्होंने अपने संबोधन को बदल कर भाषण की शुरुआत की।

गौरतलब है कि 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव (UP Election 2017) में बसपा ने जब स्‍वामी प्रसाद मौर्य के परिवारवालों को टिकट देने से इन्‍कार कर दिया तो नाराज होकर उन्‍होंने पार्टी छोड़ दी थी। इसके बाद वह बीजेपी में शामिल हो गए और कुशीनगर (Kushinagar) के पडरौना सीट से लगातार तीसरी बार विधायक बने।

Next Story

विविध

Share it