राष्ट्रीय

किसानों का सिर फोड़ने का आदेश देने वाले SDM पर किसान कराएंगे हत्या की FIR, मानवाधिकार आयोग भी पहुंचे

Janjwar Desk
30 Aug 2021 5:37 PM GMT
किसानों का सिर फोड़ने का आदेश देने वाले SDM पर किसान कराएंगे हत्या की FIR, मानवाधिकार आयोग भी पहुंचे
x

किसानो पर लाठीचार्ज का भारी विरोध

अगर सरकार 6 तारीख तक ये सारी मांगे नहीं मानती तो 7 तारीख को पूरे हरियाणा प्रदेश के किसान करनाल में इकट्ठे होकर सचिवालय का अनिश्चितकाल के लिए घेराव करेंगे और इस की जिम्मेदार हरियाणा सरकार होगी...

जनज्वार। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर व अन्य भाजपा (BJP) नेताओं की करनाल (Karnal) में स्थानीय निकाय चुनावों को लेकर रणनीति बनाने की बैठक होनी थी। इसी दौरान किसानों द्वारा शांतिप्रिय विरोध किए जाने पर पुलिस द्वारा जो बर्बरतापूर्वक लाठियां भांजी गई, किसानों के सिर फोड़े गए, उसके विरोध में घरौंडा की नई अनाज मंडी में हरियाणा के किसान संगठनों की बैठक की गई।

बैठक, संयुक्त किसान मोर्चा हरियाणा (Haryana) के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी के नेतृत्व में की गई थी। जिसमें हरियाणा प्रदेश के सभी किसान संगठनो व पूरे प्रदेश से किसान नेता शामिल हुए। लाठी प्रकरण की कड़े शब्दों में निंदा की गई। गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा, सरकार ने शांतिपूर्वक बैठे किसानों पर लाठीचार्ज कर के अमानवीय कृत्य किया है। जिसमें 11 किसान साथियों को गंभीर रूप से चोट आई है और 40 से ज्यादा साथी घायल हुए हैं।

इस मीटिंग में हरियाणा के सभी किसान संगठनों द्वारा एकजुट होकर फैसला लिया गया। गुरनाम सिंह चढूनी ने पंचायत में कहा कि, प्रशासन द्वारा आने वाली 6 तारीख तक उन सभी दोषी अधिकारियों को जो इस लाठी चार्ज में भागीदार थे, उन सभी पर कार्रवाई कर डिसमिस किया जाए किया जाए और सिर फोड़ने का आदेश देने वाले एसडीएम पर धारा 302 के तहत मुक़द्दमा दर्ज किया जाए।

इस सहित, मृतक किसान सुशील काजल के परिवार को 25 लाख रुपए मुआवजा व परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाए, सभी घायल किसानों को 2 -2 लाख रुपए मुआवजा दिया जाए, जो गाड़ियां पुलिस द्वारा तोड़ी गई है, वो ठीक करवाई जाए और जितने भी झूठे मुकदमे किसानों पर दर्ज किए गए है, वो रद्द किए जाएं।

साथ ही चेतावनी भरे लहजे में कहा गया है कि, अगर सरकार 6 तारीख तक ये सारी मांगे नहीं मानती तो 7 तारीख को पूरे हरियाणा प्रदेश के किसान करनाल में इकट्ठे होकर सचिवालय का अनिश्चितकाल के लिए घेराव करेंगे और इस की जिम्मेदार हरियाणा सरकार होगी।

SDM के खिलाफ मानवाधिकार में कम्प्लेंट

वहीं दूसरी तरफ, करनाल के एसडीएम आयुष सिन्हा के खिलाफ हरियाणा मानवाधिकार आयोग में कम्प्लेंट ईमेल के माध्यम से आज दायर कर दी है। कल रेगुलर कम्प्लेंट दायर हो जाएगी। कम्प्लेंट में मृतक को 50 लाख, घायलों को 25 लाख मुआवजे की मांग की है एवं करनाल के एसडीएम के विरुद्ध हत्या एवं हत्या की कोशिश का मामला दर्ज करने की मांग की है।

Next Story

विविध

Share it