Top
हरियाणा

हाथ पर 786 लिखा होने के कारण मुस्लिम युवक का आरा मशीन से काटा हाथ लेकिन पुलिस का दावा कुछ और

Janjwar Desk
11 Sep 2020 9:52 AM GMT
हाथ पर 786 लिखा होने के कारण मुस्लिम युवक का आरा मशीन से काटा हाथ लेकिन पुलिस का दावा कुछ और
x
पानीपत के एसीपी सतीश कुमार वत्स ने भी सोशल मीडिया पर इस घटना को दिए जा रहे 'सांप्रदायिक कोण' को बिल्कुल बेतुका' बताते हुए अस्वीकार किया......

पानीपत। हरियाणा के पानीपत में एक 28 वर्षीय युवक पर कथित हमले के कुछ दिनों बाद सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीर तेजी से शेयर हो रही है। युवक के भाई ने आरोप लगाया है कि उसकी भुजाओं पर '786' टैटू देख गुस्साए हमलावारों ने उसका हाथ आरा मशीन से काट दिया है। वहीं एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि शुरूआती जांच से संकेत मिलता है कि 28 वर्षीय युवक ने एक बच्चे से छेड़छाड़ की और भागने की कोशिश में खुद घायल हो गया।

पानीपत के एसीपी सतीश कुमार वत्स ने भी सोशल मीडिया पर इस घटना को दिए जा रहे 'सांप्रदायिक कोण' को बिल्कुल बेतुका' बताते हुए अस्वीकार किया।

यह घटना 23 अगस्त को हरियाणा क पानीपत में हुई थी। 28 वर्षीय युवक को अगली सुबह जीआरपी ने रेलवे ट्रेक पर पाया। उसके भाई के बयान के आधार पर जीआरपी ने एफआईआर दर्ज की और मामला मामला जांच के लिए स्थानीय पुलिस को स्थानांतरित कर दिया।

बच्चे के परिवार के द्वारा उसी पुलिस स्टेशन में 28 वर्षीय व्यक्ति के खिलाफ बच्चे के अपहरण और यौन उत्पीड़न की एफआईआर दर्ज की गई थी। परिवार के अनुसार उन्होंने बच्चे को बचाया और 28 वर्षीय व्यक्ति को पकड़ लिया। लेकिन बाद में वह भागने में सफल रहा। बच्चे के चाचा ने कहा उसके दो दांत तोड़ दिए थे और उसके शरीर पर हमले के निशान थे। दोनों एफआईआर सात सितंबर को दर्ज की गई थी।

एसीपी सतीश कुमार वत्स ने 'इंडियन एक्सप्रेस' को बताया, हम जांच कर रहे हैं। लेकिन प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत होता है कि वह व्यक्ति कथित तौर पर एक नाबालिग लड़के पर यौन हमले में शामिल था। वह घायल अवस्था में भाग गया और रेलवे पटरियों पर चोट लगी हो सकती है। उसे जीआरपी कर्मियों ने सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। जब मामला मेरे संज्ञान में लाया गया तो मैने जांच अधिकारी को उसका बयान दर्ज करने को भेजा लेकिन वह पहले भाग गया था।

वत्स ने कहा, 28 वर्षीय युवक का भाई सोशल मीडिया पर इन चीजों को प्रसारित करके घटना को एक सांप्रदायिक कोण दे रहा है।

पुलिस के वर्जन को चुनौती देते हुए 28 वर्षीय युवक के भाई ने कहा कि वो नाई का काम करता है, काम की तलाश में पानीपत गया था, जब वहां कुछ लोगों ने उसका नाम पूछा और पाया कि वह मुस्लिम है तो हमला कर दिया। चार पुरुषों और दो महिलाओं ने बाद में उसकी भुजाओं पर गुदवाया हुआ 786 टैटू देखा तो आक्रोशित हो गए और फिर आरा मशीन से उसका हाथ काट दिया और रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया।

युवक सहारनपुर जिले के कस्बा ननौता का रहने वाला है। दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक युवक ने कहा कि 15 दिन पहले वह सहारनपुर से पानीपत काम की तलाश में आया था और उसके पास रहने के लिए कमरा नहीं था। इसलिए किशनपुरा स्थित पार्क में लेट गया। देर रात प्यास लगी तो उसने एक घर से पीने के लिए पानी मांगा। युवक का आरोप है कि उस घर में मौजूद लोगों ने उसे अंदर खींच लिया। पहले सिर में ईंट मारी फिर 4 घंटे तक लाठी-डंडों से पीटा। उसके बाद आरा मशीन से हाथ काट दिया। इसके बाद रेलवे लाइन के पास फेंक दिया। होश आने पर राहगीर की मदद से परिजनों को कॉल किया।

इससे पहले 28 वर्षीय युवक के भाई इकराम का आरोप लगाया था कि किशनपुरा चौकी तो कभी जीआरपी थाने का चक्कर काट रहे हैं। दोनों ही पुलिस अपने-अपने क्षेत्र का मामला न होने की बात कह रही है। इसलिए उसने सोशल मीडिया पर मामला वायरल कर दिया।

Next Story

विविध

Share it