Top
हरियाणा

हरियाणा के सोनीपत में 2 लड़कियों से गैंगरेप के खिलाफ प्रदर्शन, पुलिस पर प्राइवेट पार्ट में डंडा डालने का आरोप

Janjwar Desk
9 Oct 2020 4:09 PM GMT
हरियाणा के सोनीपत में 2 लड़कियों से गैंगरेप के खिलाफ प्रदर्शन, पुलिस पर प्राइवेट पार्ट में डंडा डालने का आरोप
x
हरियाणा के सोनीपत में पुलिस थाने में दो लड़कियों से गैंगरेप के खिलाफ बड़ा प्रदर्शन किया गया, छात्र एकता मंच के बैनर तले कई संगठनों ने डीसी ऑफिस के सामने नारेबाजी की....

सोनीपत। हरियाणा के सोनीपत के बुटाना गांव में दो लड़कियों (जिनमें से एक नाबालिग है और एक की उम्र 19 साल है) के साथ पुलिस के द्वारा कथित तौर पर किए गए गैंगरेप के खिलाफ छात्र एकता मंच हरियाणा की ओर से जिला मुख्यालय के आगे प्रदर्शन किया गया है।

30 जून को दो पुलिसकर्मियों की हत्या की गयी थी जिसमें बुटाना गाँव की दो लड़कियां आशा, सुशीला (बदला हुआ नाम) का नाम भी था। 2 जुलाई को सुशीला, आशा की मां अपनी लड़कियों को लेकर बरोदा थाने में सरेंडर करती हैं लेकिन आशा और सुशीला को कोर्ट में 6 तारीख को पेश किया जाता है। इस बीच 10 से 12 पुलिसकर्मियों ने उनके साथ कथित तौर पर गैंगरेप किया। यह गैंगरेप कथित तौर पर इतना खतरनाक था कि नाबालिग लड़की सुशीला के पर्सनल पार्ट में डंडा तक डाला गया।

उसके बाद 15 जुलाई को उसकी मां लड़की से मिलने जाती है तो कुछ लोग उनको बताते हैं कि उनकी बेटी की तबीयत बहुत खराब है और उन्हें मेडिकल के लिए ले जाया गया है। 18 तारीख को जब उसकी मां सुशीला से मिलती है तो सुशीला बताती है कि उनके साथ गैंगरेप किया गया। उसके बाद परिवार वाले बरोदा थाना में एफआईआर दर्ज करवाते हैं लेकिन थाने में उनके साथ भी कथित तौर पर बदतमीजी की जाती है।

डीसी ऑफिस के सामने नारेबाजी करने के बाद तहसीलदार को अपनी जायज मांगों का ज्ञापन सौंप सभी संगठनों ने अपनी बातें रखीं। छात्र एकता मंच हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष अंकित ने अपनी बात रखते हुए कहा कि जो महिलाओं के साथ लगातार रेप होते जा रहे हैं। सुशीला और आशा अकेले नहीं है जिनके साथ बलात्कार किया गया है। लगातार हर रोज 100 से ज्यादा महिलाओं के साथ शारीरिक उत्पीड़न किया जाता है।

अंकित आगे कहते हैं, 'रेप की सजा फांसी कोई समाधान नहीं है। रेप को रोकने के के लिए समाज की महिला विरोधी मानसिकता और दिमागी कचरे की जड़ में चोट करनी पड़ेगी जो महिलाओं को सिर्फ उपभोग की वस्तु समझता है, उसको दिमाग से साफ करना पड़ेगा और फिलहाल जो पुलिसवालों के द्वारा कस्टडी में बर्बर रेप किया गया है इसकी हम कड़े शब्दों में निंदा करते है।

Next Story

विविध

Share it