हिमाचल प्रदेश

हिमाचल सरकार नहीं खोलेगी मंदिर, भक्तों को दी ऑनलाइन दर्शन की सलाह

Janjwar Desk
8 Jun 2020 1:37 PM GMT
हिमाचल सरकार नहीं खोलेगी मंदिर, भक्तों को दी ऑनलाइन दर्शन की सलाह
x

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम रमेश, इनके शासन में राज्य के कई जिलों में कोविड पॉजिटिविटी रेट भारत के कई राज्यों से है बहुत ज्यादा

केंद्र की मोदी सरकार ने 8 मई से धार्मिक स्थल खोलने की दे दी है इजाजत, मगर हिमाचल सरकार ने कोरोना वायरस की सुरक्षा के मद्देनजर नहीं किया इस आदेश का पालन...

जनज्वार, शिमला। हिमाचल सरकार द्वारा अभी भी मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) को व्यवस्थित करने व वायरस के प्रसार को रोकने के लिए एहतियात बरतने की दृष्टि से हिमाचल प्रदेश में प्रसिद्ध हिंदू तीर्थस्थल सोमवार 8 जून को बंद रखे गए।

सरकार ने भक्तों को ऑनलाइन पूजा और अनुष्ठान करने की सलाह दी है। कोरोनोवायरस के प्रसार को रोकने के लिए एहतियात के तौर पर राज्य में सभी मंदिरों को 17 मार्च से बंद कर दिया गया था।

इन मंदिरों में बिलासपुर जिले की पहाड़ी नैना देवी, ऊना जिले में चिंतपूर्णी, हमीरपुर जिले में देवसिद्धि में बाबा बालक नाथ मंदिर, और कांगड़ा जिले में ब्रजेश्वरी देवी, ज्वालाजी, बगलामुखी, चामुंडा देवी और बिजनाथ मंदिर शामिल हैं।

इन मंदिरों में आम तौर पर भारी भीड़ एकत्र होती है। यहां पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली से श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं।

गौरतलब है कि केंद्र ने स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) के साथ 8 जून से देशभर में धार्मिक स्थानों को खोलने की अनुमति दी है।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शिमला में पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि राज्य में हर रोज कोरोना के एक दर्जन के करीब मामले आ रहे हैं। ऐसे हालत में मंदिरों व शक्तिपीठों को बंद ही रखा जाएगा। आगामी दिनों में कोरोना के मरीज बहुत कम होने पर धार्मिक स्थलों को खोलने का निर्णय लिया जाएगा।

निजी बस आपरेटरों द्वारा बसें खड़ी करने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संकट में निजी आपरेटर भी आर्थिक तौर पर प्रभावित हुए हैं तथा उन्हें भी बसें चलाने में दिक्कतें आ रही हैं। परिवहन मंत्री जल्द निजी बस आपरेटरों के साथ बैठक कर उनका पक्ष जानेंगे तथा समाधान कर रास्ता निकाला जाएगा।

जयराम ठाकुर ने कहा कि सउदी अरब में मंडी जिला के एक व्यक्ति की कोरोना से मौत होने की वह आधिकारिक जानकारी एकत्रित कर रहे हैं। इस मामले में मृतक व्यक्ति के परिजन जो सरकार से चाहेंगे, उन्हें वो मदद दी जाएगी। इसके साथ ही साउदी अरब में फंसे हिमाचल प्रदेश के लोगों का भी आंकड़ा जुटाया जा रहा है।

Next Story

विविध

Share it