हिमाचल प्रदेश

Himachal Chunav 2022: PM Modi ने निर्दलीय प्रत्याशी से कहा 'चुनाव से हट जाओ' कांग्रेस बोली- हार ने साहेब की नींद उड़ा दी

Janjwar Desk
5 Nov 2022 3:32 PM GMT
Himachal Chunav 2022: PM Modi ने निर्दलीय प्रत्याशी से कहा चुनाव से हट जाओ कांग्रेस बोली- हार ने साहेब की नींद उड़ा दी
x

Himachal Chunav 2022: PM Modi ने निर्दलीय प्रत्याशी से कहा 'चुनाव से हट जाओ' कांग्रेस बोली- हार ने साहेब की नींद उड़ा दी

Himanchal Chunav 2022: हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा की फतेहपुर विधानसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार कृपाल परमार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बातचीत का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में प्रधानमंत्री को परमार से कहते सुना जा रहा है कि, आप चुनाव से हट जाओ...मैं कुछ नहीं सुनूंगा...

Himanchal Chunav 2022: हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा की फतेहपुर विधानसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार कृपाल परमार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बातचीत का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में प्रधानमंत्री को परमार से कहते सुना जा रहा है कि, आप चुनाव से हट जाओ...मैं कुछ नहीं सुनूंगा। वीडियो को शेयर कर कांग्रेस ने कहा है कि, 'हार ने साहेब की नींद उड़ा दी है।'

इस दौरान भाजपा से बागी हुए कृपाल परमार ने BJP राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करते हुए कहा कि, नड्डा 15 साल से उन्हें जलील करते रहे हैं। जिसपर PM Modi ने कहा कि, मैं देख लूंगा, अगर आपकी जिंदगी में मेरा कोई रोल है तो आप हट जाएं। प्रधानमंत्री को जवाब देते हुए परमार कहते हैं, आपका बहुत रोल है।

कृपाल परमार आगे कहते हैं..मेरे लिये यह भगवान का आदेश है। आखिरी में परमार कहते हैं, मोदी जी अगर यही फोन दो दिन पहले हो जाता तो बेहतर रहता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कृपाल परमार की बातचीत का यह वीडियो Social Media में तेजी पकड़े हुए है। जिसपर लोग अपनी-अपनी तरह से प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं। कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत ने लिखा है, 'नड्डा जी नाकाम हो गये- अब साहेब खुद ही बागियों को फोन घुमा रहे हैं। आगामी हार ने नींद उड़ा दी साहेब की।'

इस तरह BJP से बागी हो गये परमार

बता दें कि कृपाल परमार हिमाचल से पूर्व राज्यसभा सांसद रह चुके हैं। वे नरेंद्र मोदी और पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल के करीबी भी रहे। परमार साल 2012 से लेकर अब के विधानसबा चुनाव तक लड़ने के लिए भाजपा से टिकट मांग रहे थे। 2012 में उन्होने देहरा विधानसभा सीट से टिकट की मांग की थी। लेकिन, तब पार्टी ने रवींद्र रवि को मैदान में उतार दिया था।

इस बार परमार ने फतेहपुर से विधानसभा से टिकट मांगी लेकिन उनकी जगह यहां से वन मंत्री राकेश पठानिया को टिकट दे दिया गया। जिससे नाराज होकर कृपाल परमार BJP से बागी हो गये। BJP के शीर्ष नेताओं ने परमार को मनाने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने। बताया जा रहा है कि परमार की बगावत से भाजपा फतेहपुर में बैकफुट पर आ गई है।

2017 में हार गये थे कृपाल परमार

साल 2017 के विधानसभा चुनाव में BJP ने परमार को टिकट दिया था। लेकिन तब कृपाल परमार कांग्रेस के पूर्व मंत्री सुजान सिंह पठानिया से चुनाव हार गये थे। इसके बाद साल 2020 में पठानिया का निधन हो गया। 2021 में हुए उपचुनाव में कृपाल परमार ने फिर टिकट मांगी, लेकिन तब पार्टी ने परमार को टिकट ना देकर अर्जुन सिंह को टिकट दे दिया था। तब परमार निर्दलीय चुनाव लड़ने की तैयारी में थे, मगर साएम जयराम ठाकुर उन्हें नामांकन वाले दिन हेलीकाप्टर से अपने साथ शिमला ले गये थे।

भाजपा से अब तक कौन-कौन हुआ बागी?

फतेहपुर में कृपाल परमार, मंडी से प्रवीण शर्मा, बिलासपुर से सुभाष ठाकुर, बंजार से हितेश्वर सिंह, किनेनौर से तेजवंत नेगी, चंबा से इंदिरा ठाकुर, देहरा से होशियार सिंह, आनी से किशोरी लाल, करसोग से युवराज कपूर, बड़सर से संजीव शर्मा और नालागढ़ से केएल ठाकुर जैसे दिग्गज नेता अब तक भाजपा से किसी ना किसी कारण बागी हो चुके हैं। इनमें से अधिकतर सीटों पर भाजपा मुश्किल में पड़ती दिख रही है।

Next Story

विविध