Top
राष्ट्रीय

पत्नी की जलती चिता में पति ने लगाई छलांग, फिर दे दी जान, पत्नी तीन महीने की गर्भवती

Janjwar Desk
24 Jun 2020 12:17 PM GMT
पत्नी की जलती चिता में  पति ने लगाई छलांग, फिर दे दी जान, पत्नी तीन महीने की गर्भवती
x
पोस्टमॉर्टम के बाद सोमवार 22 जून को भंगाराम तळोधी गांव की श्मशान भूमि पर रुचिता का अंतिम संस्कार कर जब सभी लोग वापस जाने लगे तभी रुचिता का पति किशोर खटीक अचानक दौड़ता हुआ गया और जलती हुई चिता पर छलांग लगा दी....

जनज्वार। महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले में एक हैरान कर देने वाली यह घटना घटी है। जहां तीन महीने की गर्भवती पत्नी ने कुएं में छलांग लगाकर जान दे दी तो पति पत्नी की जलती चिता में ही कूद गया। जब लोगों ने उसे चिता से बाहर निकाला तो उसने भी एक कुएं में कूदकर जान दे दी। घटना चंद्रपुर के गोंडपिपरी तहसील के भंगाराम तळोधी गांव में ये दिल दहला देने वाली घटना घटी। इस घटना से सभी हैरान और सदमे में हैं।

बताया जा रहा है कि पति किशोर पत्नी रुचिता से बेहद प्यार करता था और वो अपने पत्नी की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाया। दरअसल , 20 साल की रुचिता चिद्दावर का विवाह लॉकडाउन से ठीक पहले 19 मार्च को चंद्रपुर के 25 साल के किशोर खटीक से हुआ था। किशोर चंद्रपुर के आरटीओ ऑफिस में वाहन चालक प्रशिक्षण केंद्र में अस्थाई तौर पर कार्यरत था। विवाह के बाद रुचिता तीन माह की गर्भवती हई थी और चार दिन पहले ही वह अपने मायके भंगाराम तळोधी आई थी। तीन माह की गर्भवती रुचिता रविवार को गांव में बाहर शौच के लिए निकली थी लेकिन काफी देर तक रुचिता के घर नहीं आने पर घर वालों ने रुचिता को ढूंढ़ना शुरू किया तो गांव के बाहर एक कुएं के पास उसकी चप्पल और कुछ सामान दिखा। परिवार वालों को शक हुआ कि कहीं रुचिता ने कुएं में कूदकर जान तो नहीं दे दी इसलिए घटना की जानकारी पुलिस को दी गई।

पुलिस ने मौके पर जांच शुरू की तो रुचिता का शव कुएं में मिला। उस शव को पुलिस ने गांव वालों की मदद से बाहर निकाल कर पोस्टमॉर्टम के लिए चंद्रपुर जिला अस्पताल भेजा। उसके बाद पुलिस जांच में जुट गई कि आखिर रुचिता की आत्महत्या के पीछे वजह क्या है। पोस्टमॉर्टम के बाद सोमवार 22 जून को भंगाराम तळोधी गांव की श्मशान भूमि पर रुचिता का अंतिम संस्कार कर जब सभी लोग वापस जाने लगे तभी रुचिता का पति किशोर खटीक अचानक दौड़ता हुआ गया और जलती हुई चिता पर छलांग लगा दी।

किशोर की इस हरकत से वहां मौजूद परिजन और गांव वाले घबरा गए और किसी तरह जलती हुई चिता से किशोर को बाहर निकाला। इस बीच किशोर कुछ हद तक जल गया था फिर भी किशोर ने खुद को लोगों से छुड़ाकर पास के ही कुएं में कूद गया और अपनी जान दे दी। रोंगटे खड़े करने वाली इस घटना के बाद अब पुलिस भी हैरान है कि अब तक रुचिता के आत्महत्या की वजह भी पता नहीं चली है और उसके पति ने भी आत्महत्या कर ली। फिलहाल गोंडपिपरी के थानेदार संदीप धोबे परिवार वालों से पूछताछ में जुट गए हैं और रुचिता की आत्महत्या के पीछे की वजह की तलाश कर रहे हैं।

Next Story

विविध

Share it