राष्ट्रीय

73 रुपये पेट्रोल होने पर कार जलाने की इच्छा रखने वाले अमिताभ बच्चन से जेल से निकलने के बाद मिलना चाहता हूँ : पप्पू यादव

Janjwar Desk
19 Jun 2021 9:24 AM GMT
73 रुपये पेट्रोल होने पर कार जलाने की इच्छा रखने वाले अमिताभ बच्चन से जेल से निकलने के बाद मिलना चाहता हूँ : पप्पू यादव
x

डीजल-पेट्रोल के दामों को लेकर पप्पू यादव ने महानायक अमिताभ बच्चन पर तंज कसा है.

देश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर एक तरफ जहां विपक्ष सरकार पर हमलावर है तो दूसरी तरफ लोगों की जेब भी काटने लगा है। जन अधिकारी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर तंज कसा है...

जनज्वार, पटना। पूर्व सांसद पप्पू यादव को जबसे एक पुराने मामले में जेल भेजा गया है तब से वह पुरानी बातें खोज रहे हैं। जिसमें उन्होने दर्जा प्राप्त महानायक अमिताभ बच्चन का एक पुराना ट्वीट खोज निकाला है। अपने इस ट्वीट में सीनियर बच्चन ने कहा था की पेट्रोल इतना मंहगा की वह अपनी कार जलाना चाहते हैं।

गौरतलब है कि देश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर एक तरफ जहां विपक्ष सरकार पर हमलावर है तो दूसरी तरफ लोगों की जेब भी काटने लगा है। जन अधिकारी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर तंज कसा है। उन्होंने शुक्रवार 18 जून को ट्वीट कर अभिनेता अमिताभ बच्चन से मिलने की इच्छा जाहिर की है।

पप्पू यादव ने अपने ट्वीट में लिखा कि 'जेल से आजाद होने के बाद अमिताभ बच्चन जी से मिलने जाऊंगा। उन्हें 100 रु का पेट्रोल खरीदकर दूंगा। उन्हें 2012 से ही कार जलाना है। शायद लॉकडाउन के कारण उनके पास पैसे नहीं हैं, या कोरोना के कारण स्मरण शक्ति कमजोर हो गई है। तब 73 रुपये लीटर पेट्रोल था तभी जलाना चाहते थे अब तो 102 रुपये हो गया है।'


बता दें कि 24 मई 2012 को अमिताभ बच्चन ने एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने पेट्रोल की बढ़ती कीमत को लेकर एक पोस्ट में लिखा था कि 'कितने का डालूं? 2-4 रुपये का कार पर स्प्रे कर दे भाई, जलानी है।' मालूम हो की उस वक्त देश में पेट्रोल की कीमत करीब 73 रुपये के आसापस थी।

वहीं अब पेट्रोल 100 के पार जाने के बाद अमिताभ बच्चन के इस पोस्ट पर इसे डिलीट करने के लिए लोग कहने लगे हैं। एक ट्विटर यूजर ने अमिताभ के इस पुराने पोस्ट पर कमेंट कर लिखा है अब तो इसे डिलीट कर दीजिए, पब्लिक बहुत खिसिया रही है।

Next Story

विविध

Share it