राष्ट्रीय

लखनऊ में प्राइवेट अस्पतालों की लूट को लेकर IAS और CMO आमने-सामने, DM ने कहा 6 दिन बाद मैं खुद कराउंगी मुकदमा

Janjwar Desk
18 May 2021 2:18 PM GMT
लखनऊ में प्राइवेट अस्पतालों की लूट को लेकर IAS और CMO आमने-सामने, DM ने कहा 6 दिन बाद मैं खुद कराउंगी मुकदमा
x

डीएम रौशन जैकब ने किया था लखनऊ के मैक्वेल, जेपी और देविना हॉस्पिटल्स का निरीक्षण

रोशन जैकब के निरीक्षण के दौरान देविना हॉस्पिटल में 6 रोगी भर्ती पाए गए थे, लेकिन इनमें से किसी का RT-PCR टेस्ट नहीं हुआ था...

जनज्वार/लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ में कोविड मामलों की रोकथाम के लिए प्रभारी नियुक्त की गईं आईएएस रोशन जैकब और सीएमओ आमने-सामने आ गए हैं। दरअसल रोशन जैकब ने बीती 12 मई को लखनऊ के प्राइवेट अस्पतालों का निरीक्षण किया था। निरीक्षण में कई अस्पताल मनमाने तरीके से वूसली में लिप्त पाए गए थे। जिसके बाद जैकब ने सीएमओ को पत्र लिखकर इन अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया था।

मामले में 6 दिन बीत जाने के बाद भी कोई एक्शन न होने पर रोशन जैकब ने सीएमओ के खिलाफ ही एफआईआर दर्ज कराने को कह दिया है। उन्होंने कहा कि अगले एक हफ्ते में अगर मनमानी कर रहे प्राइवेट अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई तो मैं खुद सीएमओ के खिलाफ एफआईआर करवा दूंगी।

बता दें कि रोशन जैकब ने लखनऊ के मैक्वेल, जेपी और देविना हॉस्पिटल्स का निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान मरीजों से वसूली के आरोप लगे थे। रोशन जैकब की जांच में ये आरोप सही साबित हुए थे। जिसके बाद भी सीएमओ ने अब तक अस्पतालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अधिक पैसे लेकर इलाज करने वाले अस्पतालों को सीज करने का आदेश दिया है।

रोशन जैकब के निरीक्षण के दौरान देविना हॉस्पिटल में 6 रोगी भर्ती पाए गए थे, लेकिन इनमें से किसी का RT-PCR टेस्ट नहीं हुआ था। इसके अलावा और भी मरीजों के बिलों में बेड चार्ज के अलग नर्सिंग चार्ज, डॉक्टर विजिट चार्ज, ऑक्सीजन चार्ज के नाम पर अधिक वसूली होने की बात खुली थी। और तो मौके पर कोई भी एमबीबीएस डॉक्टर भी नहीं मिला।

इसी तरह जैकब ने जेपी हॉस्पिटल का निरीक्षण किया तो वहां भी इलाज के नाम पर मरीजों से ज्यादा बिल की वसूली की जा रही थी। इसके अलावा मैक्वेल हॉस्पिटल गोमती नगर में निरीक्षण के दौरान मरीजों के हॉस्पिटल डिस्चार्ज समरी व दवा के बिल इत्यादि व्यवस्थित तरीके से उपलब्ध नहीं कराया जा सका।

गौरतलब है कि डॉ रोशन जैकब यूपी की नौकरशाही में तेजतर्रार व ईमानदार छवि वाली आईएएस मानी जाती हैं। कानपुर डीएम रहने के दौरान जैकब ने शहर में बेहद ही सराहनीय काम किये थे। तमाम डिपार्टमेंट में भृष्ट लोग उनसे दूर रहते थे तो वहीं शहर का तमाम तबका उनकी पीठ पीछे तारीफ भी करता था।

Next Story

विविध

Share it