दुनिया

India-China relations : क्यों फंसा चीनी विदेश मंत्री वांग यी के नई दिल्ली दौरे पर पेंच, जानें क्यों?

Janjwar Desk
24 March 2022 6:15 AM GMT
चीनी विदेश मंत्री वांग यी के नई दिल्ली दौरे पर फंसा पेंच
x

पीएम नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति शी जिनपिंग।

India-China relations : ओआईसी बैठक में चीनी विदेश मंत्री की ओर से कश्मीर मुद्दे पर जारी बयान के खिलाफ भारत ने सख्त ऐतराज जताया है। एमईए ने साफ कह दिया है कि हमारे आंतरिक मामले में दखल देने का किसी को हक नहीं है।

नई दिल्ली। पाकिस्तान ( Pakistan ) की राजधानी इस्लामाबाद ( Islamabad ) में जारी इस्लामिक सहयोग संगठन ( OIC ) की बैठक में इमरान खान ( Imran Khan ) ने कश्मीर का मुद्दा उठाया था। इस मुद्दे पर चीन ( China ) का भी उसे पूरा साथ मिला है। भारतीय विदेश मंत्रालय ( MEA India ) ने इस पर सख्त आपत्ति दर्ज कराते हुए ड्रैगन को चेताया है कि हमारी नीति आतंरिक मामलों के दखल देने की नहीं है। अगर चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आया तो भारत ( India ) भी ताईवान, तिब्बत और हॉन्गकॉन्ग के मुद्दे पर नये सिरे से विचार कर सकता है।

फिलहाल, ओआईसी की बैठक में चीनी विदेश मंत्री वांग यी ( Wang Yi ) के बयान को भारत ने पूरी तरह से खारिज कर दिया है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा है कि कश्मीर ( kashmir ) से संबंधित मामले पूरी तरह से भारत के आंतरिक मामले हैं। चीन सहित अन्य देशों के पास टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है। भारत ने बुधवार को इस्लामिक सहयोग संगठन ( OIC ) की एक बैठक में जम्मू-कश्मीर का जिक्र करते हुए की गई चीन की टिप्पणियों को खारिज कर दिया है।

वांग यी के दौरे की भारत ने नहीं की है पुष्टि

चीनी विदेश मंत्री वांग यी ( Chinese Foreign Minister Xi Jinping ) का बयान ऐसे समय में आया है जब नई दिल्ली को चीनी विदेश मंत्री वांग यी की यात्रा की पुष्टि करनी है। वांगी यी (Wang Yi ) की भारत यात्रा ( New Delhi Visit ) इसी माह प्रस्तावित है। इसने बीजिंग में नेतृत्व को याद दिलाया कि भारत अपने आंतरिक मुद्दों के सार्वजनिक निर्णय से परहेज करता है। यह राजनयिक चैनलों के माध्यम से भेजे गए एक सीमांकन में व्यक्त किया गया है। अब नये परिप्रेक्ष्य में भारत यह फैसला लेगा कि चीनी विदेश मंत्री के नई दिल्ली ( New Delhi ) को हरी झंडी दी जाए या नहीं। इस बात की आशंका जताई जा रही है कि भारत चीनी विदेश मंत्री के भारत दौरे को टाल दे। बता दें कि वांग यी 25 से 27 मार्च तक नेपाल में दौरे पर होंगे।

OIC की बैठक में चीन का बयान

इस्लामाबाद में जारी ओआईसी की बैठक में चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने कहा कि कश्मीर पर हमने आज फिर से अपने कई इस्लामी दोस्तों की पुकार सुनी है। चीन भी यही उम्मीद साझा करता है। इस पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि हम ओआईसी बैठक में अपने भाषण के दौरान चीनी विदेश मंत्री वांग यी द्वारा भारत के लिए अनावश्यक संदर्भ को खारिज करते हैं।

क्या कहा था इमरान ने

बता दें कि इमरान खान ने मुस्लिम देशों के 57 सदस्यीय निकाय OIC के विदेश मंत्री परिषद ( CFM ) के 48वें सत्र के उद्घाटन सत्र में कहा था कि हम फलस्तीनियों और कश्मीर के लोगों के आगे फेल हुए हैं। मुझे ये कहते हुए दुख हो रहा है कि हम कोई प्रभाव नहीं डाल पाये हैं। वे हमें गंभीरता से नहीं लेते हैं। हम लोग विभाजित हैं। वे शक्तियां इसे जानती हैं। इन दिनों पाकिस्तान में इमरान खान अपनी कुर्सी बचाते हुए नजर आ रहे हैं। इस बीच वह इस राजनीतिक उठापटक से बचने के लिए OIC की बैठक में पहुंचकर मुस्लिम देशों से फलस्तीन और कश्मीर मुद्दे पर एक साथ आने की बात कर रहे हैं।

Next Story

विविध