राष्ट्रीय

Jahangirpuri Violence : बिना इजाजत लिए ही निकाला गया था हनुमान जयंती पर जुलूस, विहिप व बजरंग दल के नेताओं पर भी केस, एक गिरफ्तार

Janjwar Desk
18 April 2022 2:15 PM GMT
Jahangirpuri Violence : बिना इजाजत लिए ही निकाला गया था हनुमान जयंती पर जुलूस, विहिप व बजरंग दल के नेताओं पर भी केस, एक गिरफ्तार
x

Jahangirpuri Violence : बिना इजाजत लिए ही निकाला गया था हनुमान जयंती पर जुलूस, विहिप व बजरंग दल के नेताओं पर भी केस, एक गिरफ्तार

Jahangirpuri Violence : दिल्ली पुलिस उपायुक्त (उत्तर पश्चिमी) ऊषा रंगनानी के अनुसार शहर के हिंसा प्रभावित उत्तर-पश्चिमी इलाके में शांति बनाए रखने के लिए सोमवार को जहांगीरपुरी थाने में एक बैठक का आयोजन किया गया...

Jahangirpuri Violence : हनुमान जयंती (Hanuman Jayanti) पर शोभायात्रा (Shobha Yatra) निकालने वाले बजरंग दल (Bajrang Dal) व विश्व हिंदू परिषद (Vishwa Hindu Parishad) के नेताओं (Leaders) पर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने अपना शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। पुलिस के अनुसार हनुमान जयंती के दिन बिना प्रशासन (Administration) की ​इजाजत लिए ही जुलूस निकाला गया था। इसके बाद पुलिस हिंदू संगठनों (Hindu Organisations) के उन नेताओं पर भी केस दर्ज कर दिया है जिन्होंने शोभायात्रा निकालने का आयोजन किया था।

जनसत्ता की एक रिपोर्ट के अनुसार इस मामले में बताते हुए डीसीपी ऊषा रंगनानी (Usha Rangnani) ने कहा है कि विहिप नेता प्रेम शर्मा (Prem Sharma) को गिरफ्तार किया गया है। बताया जाता है कि वो विहिप (VHP) के जिला सेवा प्रमुख हैं। पुलिस का कहना है कि अन्य की तलाश में भी पुलिस जुटी है।

दिल्ली पुलिस उपायुक्त (उत्तर पश्चिमी) ऊषा रंगनानी के अनुसार शहर के हिंसा प्रभावित उत्तर-पश्चिमी इलाके में शांति बनाए रखने के लिए सोमवार को जहांगीरपुरी थाने में एक बैठक का आयोजन किया गया। अमन कमेटी की इस बैठक में शामिल लोगों से अपने-अपने समुदायों में शांति और सद्भाव बनाए रखने की अपील की गयी है। उनसे कहा गया कि किसी भी अफवाह या गलत सूचना फैलने पर ध्यान नहीं दें। अगर ऐसी कोई स्थिति बनती है तो पुलिस को तत्काल सूचन दें।

आपको बता दें कि दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में शनिवार 16 अप्रैल को हनुमान जयंती शोभायात्रा के दौरान दो गुटों के बीच हिंसा हुई थी, जिसमें नौ पुलिसकर्मी और एक आम आदमी जख्मी हो गए थे। दिल्ली पुलिस का कहना है कि शाम करीब सवा 4 बजे हनुमान जयंती के मौके पर शोभायात्रा निकाली गई थी जिसपर 6 बजे के आसपास पथराव किया गया था।

इसके बाद अफतरातफरी की स्थिति बन गयी थी। खबरों के मुताबिक पथराव क बाद गोलियां भी चली ​थीं। इस गोलीबारी में दिल्ली पुलिस के आठ पुलिसकर्मी जख्मी हो गए थे। आपको बता दें कि पुलिस ने इस मामले की जांच के दौरान पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया है जिनसे पूछताछ कर चल रही है। वहीं सोमवार 18 अप्रैल को दिल्ली पुलिस के कमिश्नर राकेश अस्थाना ने भी प्रेसवार्ता कर कहा था कि मामले में बिना किसी पक्षपात के जांच की जाएगी। जो भी दोषी होंगे उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने लोगों से भी अपील की थी कि वे अफवाहों पर ध्यान नहीं दें।

Next Story

विविध