राष्ट्रीय

Jhajjar News : किसान ने शादी के कार्ड में छपवाई अनोखी सुचना, BJP, JJP और RRS के लोगों का प्रवेश किया निषेध

Janjwar Desk
25 Nov 2021 7:14 AM GMT
Jhajjar News : किसान ने शादी के कार्ड में छपवाई अनोखी सुचना, BJP, JJP और RRS के लोगों का प्रवेश किया निषेध
x

शादी के कार्ड में बीजेपी, जेजेपी और आरआरएस के लोगों को शादी में शामिल ना होने की सुचना छपवाई गई है।

Jhajjar News : एक साल से जारी किसान आंदोलन (Kisan Andolan) का असर अब शादी-विवाह में भी दिखने लगा है। हरियाणा (Haryana) के झज्जर (Jhajjar) में एक किसान द्वारा शादी के कार्ड में बीजेपी, जेजेपी और आरआरएस के लोगों को शादी में शामिल ना होने की सुचना छपवाई गई है।

Jhajjar News : एक साल से जारी किसान आंदोलन (Kisan Andolan) का असर अब शादी-विवाह में भी दिखने लगा है। हरियाणा (Haryana) के झज्जर (Jhajjar) में एक किसान द्वारा शादी के कार्ड में बीजेपी, जेजेपी और आरआरएस के लोगों को शादी में शामिल ना होने की सुचना छपवाई गई है। झज्जर में राजेश धनखड़ (Rajesh Dhankhad) ने एक दिसंबर को होने वाली शादी के कार्ड (Wedding card) पर 'कृपया BJP, JJP और RSS के लोग इस शादी (Marriage) से दूर रहें' छपवाया है। बुधवार को ये कार्ड उस समय चर्चा में आया। जब किसान नेता युद्धवीर सिंह (Yudhveer Singh) ने मंच पर सार्वजनिक तौर पर दिखाया। किसान नेता युद्धवीर सिंह, सर छोटू राम जयंती पर रेवाड़ी आए हुए थे और बीजेपी, जेजेपी और आरआरएस के विरोध में लोगों से एकजुट रहने का आह्वान किया।

बेटी के शादी के कार्ड में अनोखी सुचना

दिल्ली की सीमाओं पर एक साल से किसान आंदोलन (Kisan Aandolan) जारी है। हरियाणा में भाजपा और जजपा के नेताओं का विरोध भी लगातार बढ़ रहा है। झज्जर (Jhajjar) के रहने वाले विश्व वीर जाट महासभा के अध्यक्ष और किसान नेता राजेश धनखड़ (Rajesh Dhankhad) ने शादी (Marriage) का एक अनूठा कार्ड (Wedding card) छपवाया है। इसमें लिखा है कि 'कृपया BJP, JJP और RSS के लोग शादी से दूर रहें।' किसान नेता राजेश धनखड़ के घर में 1 दिसंबर को बेटी की शादी होने वाली है। इसी शादी के लिए यह अनोखा कार्ड छपवाया गया है।

बता दें कि राजेश धनखड़ विश्व जाट महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। राजेश धनखड़ मातनहेल गांव में रहने वाले है। साथ ही यह जय जवान जय किसान मजदूर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और ब्लॉक समिति के चेयरमैन भी रहे चुके हैं। राजेश ने घर में होने वाली शादी के कार्ड पर 'कृपया BJP, JJP और RSS के लोग इस शादी से दूर रहें' छपवाया है। इस कार्ड में छपी ये सुचना देखने के बाद माना जा रहा है कि इस तरह के संदेश लिखवा कर किसान और जाट नेता सरकार, भाजपा, जजपा और आरएसएस के लोगों के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर कर रहे हैं। ये शादी एक दिसंबर को हरियाणा के झज्जर में होने वाली है।

सोशल मीडिया पर लोग कर रहे कमेंट

बता दें कि पंजाब, हरियाणा समेत अन्य राज्यों के किसान तीन कृषि कानून के बाद से भाजपा नेताओं का विरोध करते आ रहे हैं। हरियाणा में तो भाजपा और जजपा नेताओं का खुलकर विरोध किया जा रहा है। जिस कारण कई बार बवाल भी हो चुका है लेकिन शादी के कार्ड पर नाराजगी जताए जाने का यह पहला मामला सामने आया है। अब शादी का यह कार्ड सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। ज्यादातर यूजर्स एक ही सवाल पूछ रहे हैं कि आखिरकार ऐसा क्या हो गया कि आप शादी के कार्ड पर ऐसे संदेश छपवा रहे हैं। कुछ यूजर्स ने लिखा हैं कि शादी में ना बुलाने और खाने में पैसे खर्च ना करने का ये बहुत ही बढ़िया रास्ता है।

हरियाणा में किसान आंदोलन जोरों पर

बता दें कि हरियाणा के सिंघु और टिकरी बॉर्डर पर एक साल से किसानों का आंदोलन चल रहा है। पिछले साल 26 नवंबर से किसान यहां दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन करने बैठे थे। एक हफ्ते पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीनों कृषि कानून वापस लेने का ऐलान किया तो वह राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ गई हैं। दोनों ही बॉर्डर पर बड़ी संख्या में किसानों के पहुंचने की अपील की गई है। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार प्रधानमंत्री के ऐलान के बाद से किसान आंदोलन के मंच से भाजपा और केंद्र सरकार को कोसने के भाषण कम सुनाई दे रहे हैं।

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों की वापसी के बावजूद किसानों का आंदोलन खत्म नहीं हुआ है। पिछले एक साल में हरियाणा के किसानों ने बढ़-चढ़कर आंदोलन में हिस्सा लिया है। दिल्ली बॉर्डर्स से लेकर राज्य के भीतर भी प्रतिदिन किसान जोरों-शोरों से विरोध प्रदर्शन करते हैं। बता दें कि हाल ही में किसानों के विरोध के चलते मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर समेत अन्य बड़े नेताओं का घर से निकलना दूभर हो गया था। हरियाणा के किसानों के आक्रोश का आंदाज इस वैवाहिक निमंत्रण कार्ड से लगाया जा रहा है।

Next Story

विविध

Share it