सिक्योरिटी

Jharkhand News : पुलिस ने निर्दोष को बनाया साइबर अपराधी, छोड़ने के लिए मांगे 75 हजार रूपए, Video Viral होने पर लाइन हाजिर

Janjwar Desk
23 Sep 2022 9:00 AM GMT
Tamil Nadu News : चंडीगढ़ के बाद मदुरै में MMS कांड, लड़कियों के अश्लील वीडियो बनाकर शेयर करने का आरोप, छात्रा और उसका प्रेमी गिरफ्तार
x

Tamil Nadu News : चंडीगढ़ के बाद मदुरै में MMS कांड, लड़कियों के अश्लील वीडियो बनाकर शेयर करने का आरोप, छात्रा और उसका प्रेमी गिरफ्तार

Jharkhand News : झारखंड के दुमका में साइबर ठगी के केस में शिकारीपाड़ा के एक व्यक्ति को फंसाया गया, व्यक्ति को रिहा करने के नाम पर पुलिसकर्मी ने 75 हजार घूस के रूप में ले लिए...

Jharkhand News : झारखंड के दुमका में साइबर ठगी के केस में शिकारीपाड़ा के एक व्यक्ति को फंसाया गया। व्यक्ति को रिहा करने के नाम पर पुलिसकर्मी ने 75 हजार घूस के रूप में ले लिए। घुस के रुपए गिनते हुए सहायक पुलिस कर्मी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जिसके बाद साइबर डीएसपी ने शिवेंद्र कुमार ने साइबर सेल में तैनात सहायक पुलिस आनंद कुमार को लाइन हाजिर कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार साइबर सेल में तैनात सहायक पुलिस कर्मी आनंद कुमार ने शिकारीपाड़ा के एक युवक को साइबर अपराधी बनाकर अपने जेल में डाला और फिर उसे रिहा करने के एवज में 75 हजारभी ले लिए।

घूस लेने का वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

बीते बुधवार की देर शाम लेन-देन का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो वायरल होने के बाद आनंद कुमार को तत्काल सेल से हटाकर जांच शुरू कर दी गई। साइबर अपराधी बनाने के नाम पर जिस व्यक्ति से 75 हजार रूपए लिए गए थे वह शिकारीपाड़ा के द्वार पहाड़ी गांव का अली हुसैन है। अली हुसैन का कहना है कि वह हिमाचल प्रदेश में काम करता है। कुछ दिन पहले ही घर आया है। दांत का दर्द दिखाने के लिए वह हॉस्पिटल गया था। घर आने के क्रम में कुरूवा में एक होटल में खाना खा रहा था। तभी पुलिस की जीप से 3 लोग सादे लिबास में आए और हाथ पकड़ लिया। कहा कि साइबर ठगी करता है। तुम्हारी लंबे समय से तलाश थी। जब जवानों को सारी बात बताई और दवा का पर्चा भी दिखाया तो इसके बाद भी उन्होंने मेरी एक नहीं सुनी।

रिहा करने के नाम पर मांगे 75000 रूपए

अली हुसैन के विरोध करने पर पीटने की धमकी भी दी गई। डर के कारण वह उनके साथ चला गया। तीनों ने अली हुसैन को साइबर सेल में डाल दिया। एक सिपाही ने कहा कि अपराधी बनने से बचना चाहते हो तो डेढ़ लाख रुपए देना होगा, वरना झूठे केस में फंसा देंगे। शाम तक बंद रखा। किसी तरह से 75000 देने की बात पर तैयार किया गया। घर के लोगों से बातचीत की और किसी तरह से ससुर ने आकर सारे पैसे दिए। पैसा मिलने के बाद देर शाम छोड़ा गया।

DCP ने सहायक पुलिसकर्मी को किया लाइन हाजिर

साइबर सेल के पुलिस उपाधीक्षक शिवेंद्र कुमार का कहना है कि 'साइबर अपराधी बनाने के नाम पर पैसे लेने का एक वीडियो वायरल होने के बाद सेल में तैनात सहायक पुलिस आनंद कुमार को हटाते हुए एसपी से कार्रवाई की अनुशंसा की गई है। जांच कर यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि सहायक पुलिस के साथ और दो कौन लोग थे।'

Next Story

विविध