Top
झारखंड

भाजपा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री ने की 'भविष्यवाणी', हेमंत सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है

Janjwar Desk
12 July 2020 5:46 AM GMT
भाजपा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री ने की भविष्यवाणी, हेमंत सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है
x
कांग्रेस शासित राज्यों में एक के बाद एक राजनीतिक संकट उत्पन्न हो रहा है। भाजपा के नेता बार-बार झारखंड की झामुमो-कांग्रेस सरकार के गिर जाने की बात भी कहते हैं...

जनज्वार, रांची। कांग्रेस के नेतृत्व वाली या उसकी मजबूत हिस्सेदारी वाली राज्य सरकारें बारी-बारी से संकट में पड़ती व सत्ता से बाहर होती दिख रही हैं। इस क्रम में कर्नाटक व मध्यप्रदेश में कांग्रेस सत्ता से बाहर हो चुकी है और राजस्थान का संकट सचिन पायलट गुट के दो दर्जन विधायकों के दिल्ली कैंप करने के साथ चरम पर पहुंच गया है। इस बीच भाजपा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री बीएल संतोष ने कहा है कि झारखंड की
हेमंत सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो गई है।

शनिवार (11 july 2020) को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए झारखंड भाजपा के नए पदाधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए पहली बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जिस दिन राज्यसभा चुनाव में हमें 31 वोट मिले और सत्ताधारी दल को 30 वोट मिले उसी दिन हेमंत सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो गई। उन्होंने कहा कि हमने उस दिन मनोवैज्ञानिक जीत हासिल कर ली। बीएल संतोष ने नए पदाधिकारियों के साथ पार्टी की भावी रणनीति पर चर्चा की।

मालूम हो कि गोड्डा से भाजपा के सांसद निशिकांत दुबे बार-बार यह दुहराते रहे हैं कि यह हेमंत सरकार गिर जाएगी। बीएल संतोष का बयान इस मायने अहम है कि भाजपा संगठन में राष्ट्रीय अध्यक्ष व राष्ट्रीय संगठन मंत्री दो सबसे ताकतवर पद हैं।

81 सदस्यों वाली झारखंड विधानसभा में झामुमो के 29 व कांग्रेस के कांग्रेस के 17 विधायक हैं। वहीं, भाजपा के पास 26 विधायक हैं। झामुमो बिना कांग्रेस के साथ सरकार नहीं चला सकती है और भाजपा बिना सत्तापक्ष के बड़े साझेदारों में टूट के कुछ नहीं कर सकती है। विभिन्न प्रदेश में कांग्रेस के अंदर ही असंतोष उत्पन्न होता रहा है। ऐसे में झारखंड कांग्रेस में भविष्य में क्या होगा, इसके बारे में कुछ भी कहना मुश्किल है।

पिछले महीने हुए राज्यसभा चुनाव में विपक्षी भाजपा के उम्मीदवार प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश को 31 वोट मिले थे जबकि झामुमो के अध्यक्ष शिबू सोरेन को 30 वोट हासिल हुआ था। इसके बाद से ही भाजपा सरकार पर अधिक आक्रामक हो गई है।

Next Story

विविध

Share it