झारखंड

Bokaro News: बोकारो में मजदूर की पीट पीट कर कर दी हत्या, वजह जान कर हो जाएंगे हैरान

Janjwar Desk
17 March 2022 5:56 AM GMT
Bokaro News: बोकारो में मजदूर की पीट पीट कर कर दी हत्या, वजह जान कर हो जाएंगे हैरान
x
Bokaro News: झारखंड के बोकारो जिला अंतर्गत बालीडीह थाना क्षेत्र का बोकारो औद्योगिक क्षेत्र का जीयाडा स्थित डालमिया सीमेंट कंपनी में काम करने वाले बिहार के सीवान निवासी ठेका मजदूर नगेंद्र कुमार यादव की गत 16 मार्च को पीट पीट कर हत्या कर दी गयी है, जबकि एक मजदूर लापता हैं।

विशद कुमार की रिपोर्ट

Bokaro News: झारखंड के बोकारो जिला अंतर्गत बालीडीह थाना क्षेत्र का बोकारो औद्योगिक क्षेत्र का जीयाडा स्थित डालमिया सीमेंट कंपनी में काम करने वाले बिहार के सीवान निवासी ठेका मजदूर नगेंद्र कुमार यादव की गत 16 मार्च को पीट पीट कर हत्या कर दी गयी है, जबकि एक मजदूर लापता हैं। घटना के विरोध में मजदूरों ने लोडिंग का काम ठप करा दिया है।

जिस मजदूर की मौत हुई है वह बिहार के सिवान जिला अंतर्गत मजरुल हक नगर हसनपुरा का रहने वाला था। वहीं गायब दूसरा मजदूर ओडिशा निवासी जुगल टेटे बताया गया है। घटना के बाद से जुगल टेटे गायब है। घटना के विरोध में बीती रात से साथी मजदूरों ने लोडिंग का काम ठप कर दिया है। मजदूरों की मांग है कि मृतक नगेंद्र के परिजनों को उचित मुआवजा दिया जाए और आरोपियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज करते हुए कार्रवाई की जाय। इसके साथ ही गायब जुगल टेटे को खोज कर निकाला जाए।


दोनों मजदूर श्री दुर्गा इंटरप्राइजेज में लोडर मजदूर के रूप में काम करते थे। साथी मजदूरों ने कहा कि ने बीती रात ठेका कंपनी के कर्मियों द्वारा उसकी बुरी तरह पिटाई की गई थी। जानकारी के मुताबिक नगेंद्र और गायब मजदूर जुगल ने ओवर टाइम ड्यूटी करने से इंकार कर दिया था। जिसके बाद ठेकेदार के सुपरवाइजर, ठेकेदार का पुत्र विशाल सिंह और अन्य लोग आ धमके और कमरे से उसे बाहर निकाल कर इतनी पिटाई की गई कि उसकी मौत हो गई। इसके बाद से ओडिशा निवासी मजदूर जुगल टेटे गायब है।

मामले पर डालमिया सीमेंट के अधिकारियों ने मीडिया से बात करने से इनकार कर दिया है। जबकि पुलिस के मुताबिक शव अभी अस्पताल में पड़ा हुआ है। गायब मजदूर की बरामदगी के लिए प्रयास जारी है।

बताया जा रहा है कि मजदूर नागेंद्र यादव ए शिफ्ट यानी प्रथम पाली की ड्यूटी कर घर लौटा था। 16 मार्च की रात करीब नौ बजे ठेका कंपनी के गुर्गे मजदूर के घर पहुंचे। मजदूर से दोबारा नाइड शिफ्ट ड्यूटी पर चलने के लिए कहा। मना करने पर मजदूर को जमकर पीटा गया।


इसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया। अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने मजदूर को मृत घोषित कर दिया। घटना रात करीब साढ़े दस बजे की है। मजदूर का एक साथी जुगल टेटे लापता बताया जा रहा है। 17 मार्च की सुबह घटना की जानकारी मिलने के बाद मजदूरों का गुस्सा फूट पड़ा। पीड़ित परिवार को इंसाफ दिलाने की मांग को लेकर साथी कर्मचारियों ने प्लांट के अंदर प्रोडक्शन रोक दिया। सभी कर्मचारी कंपनी के गेट पर एकत्र होकर प्रदर्शन करने लगे।

घटना की जानकारी मिलने के बाद बालीडीह OP प्रभारी SI सुकुमार टुडू, ASI हरिश्चन्द्र तिर्की सहित कई पुलिस के जवान मौके पर पहुंचे। मामले की जांच शुरू कर दी गई है। मजूदरों का कहना है कि मृतक के आश्रितों को प्लांट में नियोजन के साथ-साथ जब तक अन्य सुविधाएं प्रदान नहीं की जाती, तब तक आंदोलन चलता रहेगा। कंपनी में काम नहीं होगा। मजदूर अपने गायब साथी के सकुशल वापसी की मांग कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि वारदात का शिकार हुआ मजदूर कंपनी में सीमेंट लोड करने का काम करता था।

मजदूरों का कहना है कि यह कोई पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी कई मजदूरों की जान जा चुकी है। कंपनी प्रबंधन और ठेका कंपनी की मिलीभगत से मजदूरों को इंसाफ नहीं मिल पाता है। इस कारण इस घटना को लेकर मजदूरों में काफी आक्रोश देखा जा रहा है। मृतक के परिजन अपने गांव सिवान से बोकारो के लिए रवाना हो चुके हैं। मजदूरों का कहना है कि जब तक परिजन नहीं पहुंचते। तब तक किसी भी प्रकार का कोई समझौता नहीं होगा।

Next Story

विविध