Top
झारखंड

गजाधर सोनार की जिंदगी में कोरोना लेकर आया खुशी, 20 साल बाद मिल पाए पत्नी-बच्चे से

Janjwar Desk
12 Aug 2020 2:38 AM GMT
गजाधर सोनार की जिंदगी में कोरोना लेकर आया खुशी, 20 साल बाद मिल पाए पत्नी-बच्चे से
x

तसवीर सोशल मीडिया से।

यह झारखंड कोडरमा जिले के एक ऐसे परिवार की कहानी है, जिसमें पति पत्नी से झगड़े के बाद घर छोड़ कर चला गया था। 20 साल बाद कोरोना संक्रमण के दौरान जब लोगों को यह संदेह हुआ कि इस व्यक्ति को कोरोना हो सकता है, तो कोरोना प्रोटोकाॅल के तहत परिवार वालों ने उस व्यक्ति के परिवार की तलाश शुरू की...

रांची। दुनिया भर में बढ़ते कोरोनावायरस मामलों और मौतों के बीच, कोयला शहर धनबाद से एक दिल को छू लेने वाली कहानी सामने आयी है, जहां एक व्यक्ति 20 साल बाद अपनी पत्नी और बच्चे के साथ फिर से मिला है। कोडरमा के बेलगढ़ गांव के निवासी गजाधर सोनार 20 साल पहले अपनी पत्नी से झगड़े के बाद घर से निकल गए और धनबाद जिले के झरिया लिलोरीपात्रा में सत्यनारायण के नाम से रहने लगे। घर से निकलने के 20 साल बाद अब कोविड-19 के प्रसार के साथ, जब गजाधर सोनार को सर्दी और बुखार हुआ तो उनके पड़ोसियों ने उनके परिवार के सदस्यों के बारे में पूछताछ की।

पड़ोसियों ने संदेह किया कहीं वह कोविड-19 पॉजिटिव तो नहीं हैं। वहीं जब गजाधर ने अपने परिवार के सदस्यों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी तो उनके पड़ोसियों ने पुलिस को सूचित किया।

पुलिस द्वारा पूछताछ के दौरान, गजाधर ने पूरी कहानी बताई। इसके बाद धनबाद पुलिस ने कोडरमा के अपने समकक्षों से संपर्क किया, जिसके बाद गजाधर की पत्नी अनीता देवी और पुत्र चंद्रशेखर कुमार सोमवार को धनबाद जिले पहुंचे। दंपती 20 साल बाद मिले और गजाधर की पत्नी उन्हें वापस कोडरमा स्थित अपने घर ले गई।

झारखंड के सभी 24 जिलों में सोमवार को कोरोना वायरस के कुल 531 नए मामलों का पता चला, जिसके बाद राज्य में कोविड-19 रोगियों की कुल संख्या 18,786 तक पहुंच गई।

वहीं, राज्य में पिछले 24 घंटों में 700 कोविड-19 से अधिक मामलों का पता चला है और अब यहां संक्रमित रोगियों की कुल संख्या 19, 000 है।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, राज्य में सक्रिय यानी एक्टिव मामलों की संख्या 9, 010 है, जबकि महामारी की वजह से होने वाली मौतों की संख्या 189 है।

राज्य भर में कोरोनावायरस मामलों में बड़े पैमाने पर वृद्धि के बावजूद रोगियों के ठीक होने की दर में काफी सुधार हुआ है और यह एक बार फिर 50 प्रतिशत से अधिक हो गया है और वर्तमान में यह दर 51, 88 प्रतिशत है।

राज्य में अब तक 3, 93, 472 नमूने एकत्र किए गए हैं, जिनमें से 3, 87, 184 का परीक्षण किया गया है और 3, 68, 398 नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव आयी है।

Next Story

विविध

Share it