झारखंड

Jharkhand News : मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन ना मिलने के कारण हुई मरीज की मौत, परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर लगाया आरोप

Janjwar Desk
12 Nov 2021 10:06 AM GMT
Jharkhand News : मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन ना मिलने के कारण हुई मरीज की मौत, परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर लगाया आरोप
x

(ऑक्सीजन ना मिलने के कारण हुई मरीज की मौत)

Jharkhand News : परिजनों ने बताया कि मरीज को नियमित तौर पर ऑक्सीजन तक नहीं दी जा रही थी। जिस कारण गुरुवार को मरीज नेपाल राणा की मौत हो गई।

Jharkhand News : झारखंड के धनबाद में स्थित शहीद निर्मल महतो मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में ऑक्सीजन नहीं मिलने के कारण एक मरीज की मौत का मामला सामने आया है। एसएनएमएमसीएच में मरीज के मौत पर परिजनों का हॉस्पिटल वालों पर आरोप है कि अस्पताल में मरीज को देखने के लिए सीनियर डॉक्टर एक बार भी नहीं आए। ऑक्सीजन ना मिलने के कारण मरीज ने दम तोड़ दिया।

बुधवार को किया गया था भर्ती

मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को नेपाल राणा नाम के मरीज को धनबाद के शहीद निर्मल महतो मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। बताया गया कि नेपाल राणा को सांस लेने के साथ-साथ अन्य कई परेशानियां भी थी। हालत गंभीर होने के बाद परिजनों ने नेपाल राणा को बुधवार को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया था। अस्पताल में गुरुवार को मरीज की मौत हो गई। जिसके बाद परिजनों ने मौत का जिम्मेदार सीनियर डॉक्टरों समेत अस्पताल प्रशासन को ठहराया है।

डॉक्टर पर परिजनों ने लगाया आरोप

अस्पताल में मरीज की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। मौत का जिम्मेदार परिजनों ने अस्पताल प्रशासन और सीनियर डॉक्टर को बताया है। परिजनों ने बताया कि मरीज को नियमित तौर पर ऑक्सीजन तक नहीं दी जा रही थी। जिस कारण गुरुवार को नेपाल राणा की मौत हो गई।

परिजनों का आरोप है कि ऑक्सीजन के लिए जूनियर डॉक्टर और नर्स से गुहार लगा रहे थे लेकिन किसी ने मरीज की सुध तक नहीं ली और ना मरीज की तरफ ध्यान दिया गया। साथ ही परिजनों ने बताया कि अस्पताल में छठ महापर्व को लेकर 2 दिन का अवकाश भी था। इस दौरान एक भी सीनियर डॉक्टर मरीज को देखने नहीं पहुंचे।

मरीज की हालत गंभीर देखते हुए जब परिजनों ने डॉक्टरों के बारे में पूछा तो जूनियर डॉक्टरों ने परिजनों को बताया कि डॉ एलबी टूडू की ड्यूटी थी। रात ज्यादा होने के कारण चेकअप नहीं किया जा सका।

बता दें कि मरीज को मेल वार्ड से आईसीयू में भर्ती कराया गया था। इस दौरान ऑक्सीजन ना मिलने के कारण नेपाल राणा की गुरुवार की सुबह 4:00 बजे मौत हो गई। जिसके बाद परिजनों ने अस्पताल पर आरोप लगाने शुरू कर दिए।

वहीं दूसरी तरफ मरीजों को ऑक्सीजन नहीं देने पर अस्पताल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। यह वायरल वीडियो स्वास्थ्य सचिव से लेकर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता तक पहुंच गया है।

आईसीयू में खराब अवस्था

जिस मेल वार्ड के आईसीयू में नेपाल राणा को भर्ती कराया गया था। उस आईसीयू की व्यवस्था ठीक नहीं थी। मेल वार्ड के आईसीयू में भर्ती मरीजों के बेड में चादर नहीं थी। इस बारे में अधीक्षक से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि 1 महीने पहले इंचार्ज संजू साहा को इस व्यवस्था के लिए फटकार लगाई गई थी। अब उन्हें निलंबित भी किया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले भी चेतावनी दी गई थी लेकिन फिर भी उनकी कार्यशैली नहीं सुधरी है।

अधीक्षक ने कहा ऑक्शन की कमी नहीं है

मामले के बाद एसएनएमएमसीएच के अधीक्षक एके वर्णवाल ने कहा कि 'अस्पताल में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। अगर किसी मरीज को ऑक्सीजन नहीं दी जा रही है तो यह कर्मचारियों की लापरवाही है। इसकी जांच की जाएगी। जो भी दोषी होंगे, उन पर कार्यवाही होगी। जिस मरीज की मृत्यु हुई है, उसकी स्थिति काफी नाजुक थी। दो-दो बार रुटीन चेकअप किया गया। मरीज की स्थिति बिगड़ती ही जा रही थी। सुबह उसकी मौत हो गई।'

Next Story

विविध

Share it