झारखंड

झारखंड में महागठबंधन ने दोनों विधानसभा सीटों का उपचुनाव जीता, हेमंत सरकार को मिला संबल

Janjwar Desk
10 Nov 2020 12:32 PM GMT
झारखंड में महागठबंधन ने दोनों विधानसभा सीटों का उपचुनाव जीता, हेमंत सरकार को मिला संबल
x
हेमंत सोरेन के नेतृत्व वाले महागठबंधन ने झारखंड में दुमका व बेरमो विधानसभा सीटों के उपुचनाव को जीत लिया। इससे सरकार के अस्थिर होने की संभावना भी खत्म हो गई। ये दोनों सीटें पहले भी महगठबंधन ने ही जीतीं थीं...

जनज्वार, रांची। झारखंड में दो सीटों के लिए हुए उपचुनाव में महागठबंधन ने जीत दर्ज की है। संताल परगना इलाके की दुमका सीट से मुख्यमंत्री व झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन के छोटे भाई झारखंड मुक्ति मोर्चा उम्मीदवार बसंत सोरेन चुनाव जीते हैं, जबकि बोकारो जिले की बेरमो सीट से कांग्रेस के कुमार जयमंगल सिंह चुनाव जीते हैं।

दुमका सीट मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के द्वारा खाली की गई थी। पिछले साल के अंत में हुए झारखंड विधानसभा चुनाव में हेमंत सोरेन ने दुमका व बरहेट से जीत दर्ज की थी, जिसमें उन्होंने बरहेट का प्रतिनिधित्व करने का फैसला लिया। यहां से बसंत सोरेन का मुकाबला भाजपा की डाॅ लुईस मरांडी से था। डाॅ लुईस 2014 के चुनाव में भाजपा के टिकट पर चुनाव जीतीं थीं और रघुवर दास सरकार में मंत्री भी थीं, लेकिन 2019 में वे हार गईं।

बसंत सोरेन ने डाॅ लुईस मरांडी पर 6512 मतों की जीत दर्ज करायी। वहीं, बेरमो सीट पर जयमंगल सिंह ने भाजपा के योगेश्वर महतो बाटुल को 14223 मतों से हराया। जयमंगल सिंह कांग्रेस के दिवंगत नेता राजेंद्र सिंह के बेटे हैं। राजेंद्र सिंह झारखंड कांग्रेस के प्रभावी नेताओं में शुमार किए जाते थे और राज्य के प्रमुख कोयला यूनियन नेता थे। उनके निधन से बेरमो सीट खाली हुई थी, जिससे पार्टी ने उनके बेटे को उम्मीदवार बनाया।

झारखंड विधानसभा उप चुनाव के इस परिणाम से हेमंत सोरेन सरकार को संबल मिल गया है और सरकार के अस्थिर होने की संभावना खत्म हो गई। हालांकि अगर महागठबंधन ये सीटें हार भी जाता तो भी उसके बाद भी प्रबल बहुमत सदन में रहता, लेकिन हाल के सालों दल-बदल व टूट का जो सिलसिला शुरू हुआ है, उससे आशंकाएं बनी हुई थीं।

सरकार को अस्थिर करने की साजिश रचने का आरोप लगाकर ही उपचुनाव प्रचार के दौरान दुमका में कांग्रेस के नेताओं ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दीपक प्रकाश के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज कराया है, जिसमें लोकतांत्रिक ढंग से चुनी गई सरकार को अस्थिर करने की साजिश रचने का आरोप लगाया गया है। दीपक प्रकाश ने कहा था कि आने वाले दिनों में सरकार गिर जाएगी।

झारखंड में मधुपुर विधानसभा सीट भी वहां के झामुमो विधायक व मंत्री हाजी हुसैन अंसारी के निधन के कारण रिक्त हुई है, जहां अब नए साल में चुनाव होने की संभावना है।

Next Story

विविध

Share it