Top
झारखंड

गड्ढे के कारण ट्रक कार पर पलटा, सड़क निर्माण विभाग की अव्यवस्था ने ली एक ही परिवार के 5 लोगों की जान

Janjwar Desk
26 Aug 2020 4:53 AM GMT
गड्ढे के कारण ट्रक कार पर पलटा, सड़क निर्माण विभाग की अव्यवस्था ने ली एक ही परिवार के 5 लोगों की जान
x

दुर्घटना के बाद का दृश्य. फोटो: लाइव हिंदुस्तान से साभार।

यह हादसा पूरी तरह से विभागीय लापरवाही का परिणाम है। अगर बारिश का महीना शुरू होने से पहले सड़क निर्माण विभाग ने उक्त सड़क की अच्छे से मरम्मत करायी होती है तो ऐसा हादसा नहीं होता...

जनज्वार। संबंधित विभागों की अव्यवस्था से अक्सर लोगों की जान चला जाया करती है। ऐसा ही वाकया झारखंड के देवघर-दुमका हाइवे पर घटा है। एनएच-114 ए पर मंगलवार (25 August 2020) की रात दुमका जिले के जामा स्टेट बैंक शाखा के सामने एक ट्रक गड्ढे में फंस गया और पलट कर बगल की कार पर गिर गया। इस हादसे में छह लोगों की मौत हो गई, जिसमें एक ही परिवार के पांच लोग थे।

अगर सड़क निर्माण विभाग ने रोड के गड्ढों को भरवाया होता तो शायद ऐसे हालात नहीं बनते। ट्रक पर चावल लदा हुआ था जो देवघर से दुमका की ओर जा रहा था और इसी दौरान वह इंडिगो कार जेएच 04 एफ - 6851 पर पलट कर गिर गया, जिससे देवघर निवासी एक परिवार के पांच लोगों सहित छह की मौत हो गई। इस हादसे में कार चालक की भी मौत हो गई।

इस घटना पर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी ट्वीट कर दुःख जताया। मरने वाले लोग देवघर के सलोनाटांड़ के थे। मृतकों में शांतनु सिंह, उनकी मां पुतुल देवी, उनकी बहन नेहा कुमार व उनके दो बच्चे सहित ड्राइवर शामिल हैं। शांतनु सिंह देवघर के संत फ्रांसिस स्कूल में नौकरी करते थे और ऑनलाइन क्लास के प्रभारी थे।

जानकारी के अनुसार, शांतनु सिंह अपनी मां व बहन के साथ दुमका से अपने भाई के घर से देवघर लौट रहे थे। जिस गड्ढे में ट्रक के फंसने से यह हादसा हुआ उसके बारे में स्थानीय अखबारों में कई दफा खबर छपी लेकिन विभाग की ओर से उसे भरवाने की पहल नहीं की गई।

बारिश के मौसम में ऐसे गड्ढे में पानी भर जाने के कारण वाहन चालक को कई बार यह पता नहीं चल पाता कि गड्ढा कितना गहरा है, इससे आम दिनों की तुलना में बारिश के मौसम में हादसे की आशंका कई गुणा बढ जाती है।

जामा की विधायक सीता सोरेन ने भी ट्वीट कर इस घटना पर दुःख जताया और लापरवाही का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण के नाम पर हाल में सिर्फ गड्ढों को भर कर खानापूर्ति की गई जो लगातार 2 दिन के बारिश में बद से बदतर हो गई। अगर अब भी इस सड़क निर्माण में ध्यान नहीं दिया गया तो मैं पहले भी दुर्घटना की आशंका जाहिर कर चुकी थी आगे भी यही हाल होगा।


Next Story

विविध

Share it