Top
राष्ट्रीय

वाइ प्लस सुरक्षा के साथ कंगना मुंबई रवाना, सामना ने लिखा इनका समर्थन भी 'हरामखोरी'

Janjwar Desk
9 Sep 2020 5:11 AM GMT
वाइ प्लस सुरक्षा के साथ कंगना मुंबई रवाना, सामना ने लिखा इनका समर्थन भी हरामखोरी
x
कंगना राणावत को वाई प्लस सिक्यूरिटी केंद्र सरकार ने दी है। उनकी सुरक्षा में 12 कमांडो तैनात किए गए हैं।

जनज्वार। अभिनेत्री कंगना राणावत हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला स्थित अपने गांव से मुंबई के लिए रवाना हुई हैं। वे मंडी से चंडीगढ और फिर वहां से मुंबई जाएंगी। कंगना महाराष्ट्र की मुख्य सत्ताधारी पार्टी शिवसेना की चेतावनी के बाद आज मुंबई पहुंच रही हैं। इस बीच शिवसेना के मुखपत्र सामना में एक कड़ा लेख लिख कर कंगना को फिर से से निशाने पर लिया गया है।

शिवसेना नेता व सामना के संपादक संजय राउत ने पहले ही कंगना राणावत को हरामखोर बताया था और उस शब्द का अब अभिनेत्री के समर्थकों के लिए प्रयोग किया है। सामना ने लिखा है कि राजनैतिक एजेंडे को सामने लाने के लिए देशद्रोही पत्रकार और सुपारीबाज कलाकारों के राजद्रोह का समर्थन करना भी हरामखोरी ही है।


वहीं, अभिनेत्री कंगना राणावत वाई प्लस श्रेणी के साथ एक वीवीआइपी के रूप में मुंबई जा रही हैं। उनके साथ उनकी बहन व मैनेजर रंगोली चंदेल भी हैं। सुबह वे सुरक्षा घेरे के साथ घर से सड़क मार्ग से मंडी जिले के अपने गांव भानवला से निकलीं और हमीरपुर जिले में रुक कर एक मंदिर में पूजा अर्चना की। इस दौरान कंगना राणावत लगातार अपने आधिकारिक ट्विटर एकाउंट पर ट्वीट कर अपना पक्ष रख रही हैं।


सामना ने लिखा है कि हिंदुत्व और संस्कृत का धर्म और 106 शहीदों के त्याग का अपमान किया गया तथा ऐसा अपमान करके छत्रपति शिवराय के महाराष्ट्र पर नशे की पिचकारी फेंकने वाले व्यक्ति को केंद्र सरकार विशेष सुरक्षा की पालकी का सम्मान दे रही है। सामना अखबार ने लेख में सवाल उठाया है कि अहमदाबाद, गुड़गांव, लखनऊ, वाराणसी, रांची, हैदराबाद, बेंगलुरु और भोपाल जैसे शहरों के बारे में अगर कोई अपमानजनक बयान देता तो केंद्र ने उसे वाई सुरक्षा की पालकी दी होती क्या? इसको महाराष्ट्र के भाजपाई स्पष्ट करें।


कंगना राणावत पूरे तामझाम और मीडिया अटेंशन के साथ जा रही हैं मुंबई

कंगना ने ट्विटर पर लिखा : मैं बारह साल की उम्र में हिमाचल छोड़ चंडीगढ हाॅस्टल गई फिर दिल्ली में रही और 16 साल की थी जब मुंबई आयी, कुछ दोस्तों ने कहा मुंबई में वही रहता है जिसे मुम्बादेवी चाहती हैं, हम सब मुम्बादेवी के दर्शन करने गए, सब दोस्त वापस चले गए और मुम्बादेवी ने मुझे अपने पास ही रख लिया।


अभिनेत्री ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि रानी लक्ष्मीबाई के साहस, शौर्य और बलिदान को मैंने फिल्म के जरिए जिया है। दुख की बात यह है कि मुझे मेरे ही महाराष्ट्र में आने से रोका जा रहा है, मैं रानी लक्ष्मीबाई के पद चिह्नों पर चलूंगी और ना डरूंगी और ना झुकूंगी। गलत के खिलाफ मुखर होकर आवाज उठाती रहूंगी, जय महाराष्ट्र, जय शिवाजी।


कंगना ने मुंबई में अपने घर का फोटो ट्वीट करते हुए लिखा है, मैं मानती हूं कि महाराष्ट्र ने मुझे सबकुछ दिया है, मगर मैंने भी महाराष्ट्र को अपनी भक्ति और प्रेम से एक ऐसी बेटी की भेंट दी है जो महाराष्ट्र शिवाजी महाराज की जन्मभूमि में स्त्री सम्मान और अस्मिता के लिए अपना खून भी दे सकती है।

उल्लेखनीय है कि कंगना राणावत की मीडिया के माध्यम से शिवसेना नेता संजय राउत से जुबानी जंग पिछले कई दिनों से चल रही है और इसी क्रम में एक बार कंगना ने कहा कि मुंबई क्या पीओके है कि वे वहां नहीं जा सकती हैं, वे जरूर जाएंगी। इसके बाद शिवसेना की ओर से उनके खिलाफ विरोध और तेज हो गया। उनके खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव भी विधानसभा में लाया जा सकता है।

लोग पूछ रहे कुलदीप सेंगर के ने जिस लड़की का रेप किया उसे क्यों नहीं दी थी सुरक्षा

केंद्र सरकार द्वारा कंगना को वाइ प्लस सुरक्षा दिए जाने पर लोग ट्विटर पर यह सवाल उठा रहे हैं कि उन्नाव में भाजपा के विधायक कुलदीप सेंगर ने जिस लड़की का बलात्कार किया था, उसे क्यों नहीं सुरक्षा दी थी। स्वामी वैराज्ञानंद गिरी ने लिखा, वह लड़की चीख कर कहती रही कि उसके परिवार को कुलदीप सेंगर से खतरा है तब कंगना को वाइ प्लस सुरक्षा देने वाले चुप हो गए थे। परिणाम यह हुा कि पीड़ित लड़की और उसके परिजनों को कुलदीप सेंगर ने मरवा दिया।



Next Story

विविध

Share it