राष्ट्रीय

कानपुर : अस्पताल न जाकर दारूबाजी करने लगा एंबुलेंस ड्राइवर, गंभीर मरीज की बीच रास्ते मौत

Janjwar Desk
9 Sep 2021 9:26 AM GMT
कानपुर : अस्पताल न जाकर दारूबाजी करने लगा एंबुलेंस ड्राइवर, गंभीर मरीज की बीच रास्ते मौत
x
एंबुलेंस कर्मी को कमरे में दारु पार्टी करते देख लोगों ने वीडियो बनाना शुरू कर दिया, इसपर एंबुलेंस चालक ने जमकर नशेबाजी और हंगामा किया...

जनज्वार/कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर में स्वास्थ्य कर्मी की लापरवाही से बड़ी घटना सामने आ रही है। यहां एंबुलेंस में एक मरीज की जान चली गई। मरीज की मौत का जो कारण है वह बेहद हैरान करने वाला है। बताया जा रहा है कि एंबुलेंसकर्मी मरीज को अस्पताल पहुंचाने की बजाय दारू पार्टी करता रहा।

जानकारी के मुताबिक, कानपुर देहात के गजनेर थानाक्षेत्र के रूपपुर गांव निवासी 70 वर्षीय सुर्जन सिंह को किसी विषैले कीड़े ने काट लिया था। उन्हें सीएचसी ले जाया गया, जहां से डॉक्टरों ने मरीज को कानपुर रेफर कर दिया। लेकिन एंबुलेंस चालक उसे अस्पताल ले जाने के बजाय सीएचसी परिसर के एक कमरे शराब पार्टी करने लगा। देरी होने पर मरीज की मौत हो गई।

एंबुलेंस कर्मी को कमरे में दारु पार्टी करते देख लोगों ने वीडियो बनाना शुरू कर दिया, इसपर एंबुलेंस चालक ने जमकर नशेबाजी और हंगामा किया।

बताया जा रहा है कि, बुधवार दोपहर लगभग 5 बजे सुर्जन सिंह को कानपुर के लिए रेफर किया गया। सूचना पर एंबुलेंस भी पहुंची, लेकिन चालक अनुज व सहकर्मी कोमलबाबू मरीज को कानपुर ले जाने के बजाए मौके से गायब हो गए। काफी तलाश के बाद परिजन उन्हें खोजते-खोजते सीएचसी के एक कमरे में मिले, जहां शराब पार्टी चल रही थी। यहां 8 से दस एंबुलेंस चालक और भी थे। सीन देखकर लोगों ने वीडियो बना लिया।

खुद का वीडियो बनता देख एंबुलेंस चालकों ने हंगामा शुरू कर दिया। शोर सुनकर सीएचसी अधीक्षक डाक्टर कैलाश चंद्रा भी मौके पर पहुंचे। करीब एक घंटे बाद मरीज सुर्जन को दूसरी एंबुलेंस से कानपुर भेजा गया। लेकिन थोड़ी दूर बढ़ते ही सुर्जन की मौत हो गई। परिजनों के मुताबिक मरीज की मौत सीएचसी में ही हो गई थी।

सीएचसी अधीक्षक का कहना है कि मरीज की मौत सीएचसी में हुई है या फिर रास्ते में इस बात की पुष्टि अभी नहीं हो पाई है। उन्होंने बताया कि हमारे यहां से मरीज को कानपुर रेफर कर दिया गया था।

सीएचसी अधीक्षक डॉ. कैलाश चंद्रा ने मामले की शिकायत सीएमओ से कर दी गई है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में सीएमओ को पत्र लिखकर घटना की जानकारी दी गई है। साथ ही सीएचसी में तैनात घाटमपुर लोकल के एंबुलेंस चालकों को हटाने की बात भी कही गई है।

Next Story

विविध

Share it