Top
राष्ट्रीय

कंगना रानौत के समर्थन में खुलकर उतरी करणी सेना, शिवसेना से बढ़ा टकराव

Janjwar Desk
9 Sep 2020 8:49 AM GMT
कंगना रानौत के समर्थन में खुलकर उतरी करणी सेना, शिवसेना से बढ़ा टकराव
x

अभिनेत्री कंगना रानौत और शिवसेना नेता संजय राउत (File photo)

करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल अमु ने कहा है कि करणी सेना कंगना को सुरक्षा देगी और हर कदम उनके साथ है, उधर करणी सेना द्वारा देश के अलग-अलग हिस्सों में कई जगह शिवसेना नेता संजय राउत का पुतला दहन किया गया और कैंडल मार्च निकाले गए...

जनज्वार। बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के समर्थन में करणी सेना खुलकर उतर गई है। करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल अमु ने कहा है कि करणी सेना कंगना को सुरक्षा देगी और हर कदम उनके साथ है। उधर करणी सेना द्वारा देश के अलग-अलग हिस्सों में कई जगह शिवसेना नेता संजय राउत का पुतला दहन किया गया और कैंडल मार्च निकाले गए।

करणी सेना के महाराष्ट्र इकाई की महिला विंग अध्यक्ष संध्या राधा किशन सिंह राजपूत ने कल करणी सेना के फेसबुक पेज पर लाइव होकर शिवसेना नेता संजय राउत को चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि संजय राउत एक पत्रकार भी हैं और उन्हें शब्दों और भाषा की मर्यादा अच्छी तरह पता होना चाहिए। अगर वे एक महिला के प्रति शब्दों की मर्यादा भंग करेंगे तो करणी सेना की महिला इकाई इसका कड़ा जबाब देगी। उन्होंने यह भी कहा कि महाराष्ट्र में हर कोई छत्रपति शिवाजी के बताए रास्ते पर ही चलता है।

उधर उत्तरप्रदेश के गोरखपुर में करणी सेना द्वारा संजय राउत का पुतला दहन किया गया। वहीं सहारनपुर, गाजियाबाद आदि कई जगह पर कैंडल मार्च निकाले गए और शिवसेना का विरोध किया गया। 'जस्टिस फ़ॉर सुशांत' के बैनर भी लहराए गए।

बिहार में भी करणी सेना की इकाई द्वारा सोशल मीडिया पर शिवसेना नेता संजय राउत का विरोध किया जा रहा है और उनके विरुद्ध कार्रवाई की मांग की जा रही है। करणी सेना की बिहार यूनिट ऐक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही इस मामले में लगातार आक्रामक है। पूर्व में भी करणी सेना द्वारा इस मामले में बिहार में सडकों पर प्रदर्शन किया जाता रहा है। हालांकि सुशांत सिंह राजपूत के मौत की सीबीआई जांच शुरू होने के बाद से यह सिलसिला थोड़ा थम गया था, लर कंगना रानौत का मामला सामने आने के बाद से करणी सेना फिर से आक्रामक हो गई है।

पूरे मामले में एक तरह से अब करणी सेना और शिवसेना आमने-सामने हो गई है। हालांकि शिवसेना नेता संजय राउत द्वारा कंगना रानौत को लेकर दिए गए उस बयान के बाद से कोई तीखा बयान नहीं आया है, पर कंगना के ऑफिस पर बीएमसी की कार्रवाई के बाद मामला और तूल पकड़ता जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही कंगना रानौत बॉलीवुड में नेपोटिज्म, ड्रग रैकेट आदि को लेकर लगातार बयान दे रहीं हैं और विवादों में हैं। पिछले दिनों कंगना ने महाराष्ट्र की तुलना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से कर दी थी। इसके बाद से शिवसेना उन पर निशाना साध रही है। इन सबके बीच कंगना को केंद्र सरकार द्वारा वाई प्लस श्रेणी सुरक्षा दी गयी है। इसे लेकर भी पक्ष-विपक्ष बन गया है।

शिवसेना नेता संजय राउत पार्टी के समाचार पत्र `सामना` के कार्यकारी संपादक हैं। कल मंगलवार को उन्हें पार्टी का मुख्य प्रवक्ता भी नियुक्त किया गया है। वर्ष 2018 में करणी सेना ने संजय लीला भंसाली की फिल्म `पद्मावत` की रिलीज के खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन किया था, जिसके बाद फिल्म का नाम 'पद्मावती` से बदलकर `पद्मावत` कर दिया गया था।

Next Story

विविध

Share it