Top
कश्मीर

श्रीनगर का 26 साल का एमबीए युवा हिजबुल मुजाहिदीन में हुआ शामिल : कश्मीर पुलिस

Janjwar Desk
24 Jun 2020 2:30 AM GMT
श्रीनगर का 26 साल का एमबीए युवा हिजबुल मुजाहिदीन में हुआ शामिल : कश्मीर पुलिस
x
प्रतीकात्मक फोटो.
युवक के परिवार वाले पुलिस व प्रशासन से उसकी तलाश की गुहार कर रहे हैं, युवक गुड़गांव में नौकरी करता था...

जनज्वार। जम्मू कश्मीर के एक 26 वर्षीय युवक के आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल होने का दावा कश्मीर पुलिस ने किया है। श्रीनगर का रहने वाला हिलाल अहमद डार 13 जून को अपने दोस्तों के साथ एक ट्रैकिंग अभियान के दौरान अचानक से लापता हो गया और और पुलिस के दावे के अनुसार, बाद में उसने हिजबुल ज्वाइन कर लिया। हालांकि उसके परिवार वाले अपने लड़के को निर्दाेष होने की बात कह रहे हैं और लेफ्टिनेंट गवर्नर, पुलिस व सुरक्षा बलों से उसे ढूंढ लाने की गुहार लगा रहे हैं।

कश्मीर रेंच के आइजी विजय कुमार ने मंगलवार को पुलवामा जिले में आतंकवादियों से मुठभेड़ में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित कार्यक्रमों के दौरान अलग से पत्रकारों से बात करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा है कि अगर उसके परिवार वाले उसे वापस ले आते हैं तो पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं करेगी।

कश्मीर यूनिवर्सिटी से एमबीए किया हिलाल गुड़गांव की एक कंपनी में नौकरी करता था। मार्च में वह श्रीनगर तब लौटा जब देश में कोविद19 का संक्रमण बढने लगा। वह अपने दोस्तों के साथ गांदरबल जिले में नारानाग में एक ट्रैकिंग ट्रिप पर गया था और इसी दौरान वह लापता हो गया।

उसने अंतिम फोन अपने भाई यासीर को किया था और कहा था कि वह थक चुका है और वापस लौट आएगा। इस दौरान उसने यह भी कहा था कि उसके फोन की बैटरी लो हो गयी है और वह फिर फोन नहीं कर सकेगा।

हिलाल के भाई यासीर, मां व चाचा श्रीनगर के लाल चौक पर लेफ्टिनेंट गवर्नर, प्रशासन व पुलिस से इस मांग को लेकर प्रदर्शन कर चुके हैं कि उसे ढूंढ कर लाया जाए। उसके परिवार का कहना है कि वह आतंकवादी नहीं है।

हिलाल के चाचा निसार अहमद कहते हैं कि हमारा लड़का आतंकी नहीं है, उसके 20 साल का फोन रिकार्ड चेक कर लीजिए उसमें कुछ आपत्तिजनक नहीं मिलेगा। वे सभी सुरक्षा एजेंसियों से उसकी तलाश की अपील कर रहे है।

उधर, कश्मीर पुलिस का कहना है कि उसके साथ ट्रैकिंग पर गए अन्य पांच लड़कों से पूछताछ की गयी है, वे पुलिस के साथ पूछताछ में सहयोग कर रहे हैं और हम उस जगह का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं जहां वह आखिरी बार देखा गया था।

Next Story

विविध

Share it