राष्ट्रीय

Kerala : चर्चित मलयालम फिल्ममेकर अली अकबर ने लिया इस्लाम छोड़ने का फैसला, वजह जानकर चौंक जाएंगे 'कट्टरपंथी'

Janjwar Desk
11 Dec 2021 5:19 AM GMT
Kerala : चर्चित मलयालम फिल्ममेकर अली अकबर ने लिया इस्लाम छोड़ने का फैसला, वजह जानकर चौंक जाएंगे कट्टरपंथी
x

चर्चित मलयालम फिल्ममेकर अली अकबर। 

फिल्ममेकर अली अकबर ने वीडियो जारी कर कहा कि जनरल बिपिन रावत के निधन पर हंसने वालों से खफा होकर उन्होंने इस्लाम त्यागने का फैसला लिया है। मुस्लिमों की हरकत पर इस्लामिक धर्मगुरुओं ने इसका विरोध नहीं किया।

नई दिल्ली। शिया वक्फ बोर्ड के सदस्य वसीम रिजवी द्वारा हिंदू धर्म को स्वीकार करने के बाद अब केरल के चर्चित मलयालम फिल्ममेकर अली अकबर ( Malyalam Filmmaker Ali Akbar ) ने इस्लाम छोड़ने ( Quit Islam ) का बड़ा फैसला लेकर सबको चौंका दिया है। चौंकाने वाली बात इसलिए कि उन्होंने अपने बयान में कहा कि दुर्भाग्यपूर्ण कुन्नूर हेलीकॉप्टर हादसे में सीडीएस जनरल बिपिन रावत ( CDS General Bipin Rawat ) के निधन से जहां पूरा देश गमगीन है, वहीं देखने को यह भी मिला कि सोशल मीडिया पर उनकी मौत की खबर पर कई लोगों ने हंसने की इमोजी भी बनाई। ये बात इस कदर बुरी लगी कि मैंने इस्लाम धर्म को ही छोड़ने का फैसला कर लिया। उनकी ये सोच सभी तरह की सोच से प्रभावित कट्टरपंथियों के लिए एक सीख है।

बहादुर बेटे का अपमान स्वीकार्य नहीं

केरल के मलयालम फिल्ममेकर अली अकबर ( Malyalam Filmmaker Ali Akbar ) और उनकी पत्नी लुसीअम्मा ने इस घटना से आहत होेने के बाद इस्लाम छोड़कर हिंदू ( Hindu ) धर्म अपनाने का फैसला किया है। अकबर ने कहा कि मुस्लिमों की तरफ से ऐसी हरकत का विरोध इस्लाम के सीनियर नेताओं और धर्मगुरुओं ने भी नहीं किया है। देश के बहादुर बेटे का ऐसा अपमान स्वीकार्य नहीं है। अकबर ने सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट कर कहा कि उनका धर्म से विश्वास उठ गया है।

वीडियो संदेश में बताया - अब मैं मुस्लिम नहीं, भारतीय हूं

फिल्ममेकर अली अकबर ने एक वीडियो जारी कर बताया है कि मुझे जन्म के समय से ही जो चोला मिला था, उसे उतारकर फेंक रहा हूं। आज से मैं मुस्लिम नहीं हूं। मैं एक भारतीय हूं। मेरा यह संदेश उन लोगों के लिए है, जिन्होंने भारत के खिलाफ हंसते हुए स्माइली पोस्ट की है। अकबर की इस पोस्ट पर कई लोगों ने विरोध किया तो कईयों ने उनका समर्थन किया है। कुछ लोगों ने उनके खिलाफ अमर्यादित भाषा का भी इस्तेमाल किया है। उनकी ये पोस्ट बाद में पोस्ट फेसबुक से हट गई।

टीओआई से बातचीत में अकबर ने बताया है कि बिपिन रावत की मौत की खबर पर हंसने वाले अधिकतर लोग मुस्लिम थे। उन्होंने ऐसा इसलिए किया क्योंकि रावत ने पाकिस्तान और साथ ही कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सख्त कदम उठाए थे। मैं ऐसे धर्म के साथ नहीं जुड़ा रह सकता हूं जो अपने बहादुर बेटे का सम्मान करना नहीं जानता। खास बात यह है कि वसीम रिजवी से इ​तर अली अकबर ने कहा कि उनकी पत्नी ने भी हिंदू धर्म अपनाने का फैसला लिया है। इसको लेकर जरूरी कागजी कार्रवाई की जाएगी।

भाजपा कार्यसमिति से दे चुके हैं इस्तीफा

इससे पहले अली अकबर भारतीय जनता पार्टी की केरल प्रदेश समिति के सदस्य थे। पार्टी नेतृत्व के साथ अक्टूबर में हुई मतभेद व विवाद के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। अकबर 2015 में भी चर्चा में आ चुके हैं। जब उन्होंने मदरसे में पढ़ाई के दौरान यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था।

20 से अधिक फिल्मों में कर चुके हैं काम

फिल्ममेकर अली अकबर एक भारतीय फिल्म निर्देशक, पटकथा लेखक और गीतकार हैं। वह मलयालम सिनेमा में काम करते हैं। उन्होंने 20 से अधिक मलयालम फिल्मों का निर्देशन किया जिनमें ग्राम पंचायत, बैंबू बॉयज, जूनियर मैंड्रेक, कुडुम्बा वर्थकल और पाई ब्रदर्स से उन्होंने अपनी अलग पहचान बनाई।

Next Story

विविध