राष्ट्रीय

Lakhimpur Kheri Update : देशभर से दबाव के बाद पुलिसिया हरकत में हल्की तेजी, मंत्रीपुत्र आशीष टेनी के घर चस्पा हुआ पेशी का समन

Janjwar Desk
7 Oct 2021 5:54 PM GMT
lakhimpur khiri11
x

एसआईटी ने लखीमपुर खीरी हत्याकांड को हत्या माना। इस मामले में आज केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे व मुख्य आरोपी आशीष मिश्र कोर्ट में पेश होंगे। 

Lakhimpur Kheri Update : बहरहाल नोटिस मिला है। लेकिन अभी भी इसे कार्रवाई की दृष्टि से देखना उठित नहीं होगा। कार्रवाई हो तब माने, क्योंकि सभी मामला सत्ता पक्ष से जुड़ा है...

Lakhimpur Kheri Violence Update (जनज्वार) : तमाम दबाव के बाद आखिरकार अब पुलिस की भूमिका तय की गई है। और इसी तय भूमिका का नतीजा ये नोटिस माना जा रहा है। दरअसल पुलिस ने लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा मामले में जांच की तेजी दिखाई है। आईजी लक्ष्मी सिंह ने भी हिंसा मामले में दो लोगों के बयान को दर्ज करने की पुष्टि की है।

इसी बीच आज 7 अक्टूबर बुधवार पुलिस ने आशीष मिश्रा को पूछताछ के लिए समन जारी किया है। आशीष मिश्रा को 8 अक्टूबर को पुलिस के सामने मौजूद होने के निर्देश दिए गए हैं। गौरतलब हे कि आशीष मिश्रा केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे हैं। आशीष टेनी पर लखीमपुर में रविवार को किसानों के ऊपर गाड़ी चढ़ाने का आरोप है।

लखीमपुर खीरी हिंसा (Lakhimpur Kheri Violence) की जांच कर रही पुलिस ने गुरुवार को केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के लखीमपुर खीरी के आवास पर नोटिस चिपकाया है। जिसमें अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को पुलिस के सामने 8 अक्टूबर को उपस्थित होने को कहा गया है। नोटिस में जिक्र है कि 8 अक्टूबर की सुबह दस बजे आशीष मिश्रा को रिजर्व पुलिस लाइंस खीरी के क्राइम ब्रांच ऑफिस उपस्थित होकर बयान दर्ज कराना है।

आईजी लक्ष्मी सिंह ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया था कि हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा को पूछताछ के लिए समन भेजने की तैयारी की जा रही है। आशीष मिश्रा से पूछताछ के दौरान उनका बयान दर्ज किया जाएगा और आगे की कार्रवाई की जाएगी। अगर आशीष मिश्रा पूछताछ के लिए उपस्थित नहीं होते हैं तो पुलिस कोर्ट जाएगी और कानून के तहत कार्रवाई करेगी। लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर जो एफआईआर दर्ज की गई है उसमें आशीष मिश्रा समेत कई लोगों के नाम शामिल हैं।

लखीमपुर खीरी हिंसा में सबूतों के मुताबिक आशीष मिश्रा को आरोपी बताया जा रहा है, वहीं दूसरी तरफ उनके पिता और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी बेटे पर लगाए जा रहे आरोपों को गलत बता रहे हैं। अजय टेनी का कहना है कि उनके बेटे को बेवजह फंसाया जा रहा है। घटना के वक्त ना तो वो और ना ही उनका बेटा मौके पर मौजूद था। बुधवार को भी अजय मिश्रा टेनी ने कहा कि वो किसी भी जांच एजेंसी का सामना करने के लिए तैयार हैं। इसी बीच आशीष मिश्रा को पुलिस ने 8 अक्टूबर गुरूवार को पूछताछ के लिए बुलाया है।

इससे पहले लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में भारतीय जनता पार्टी के तमाम प्रवक्ताओं सहित कथित गोदी मीडिया भी आरोपी बताए जा रहे आशीष मिश्रा टेनी को बचाने तथा बेकसूर ठहराने की कोशिश में जुटा रहा। बहरहाल नोटिस मिला है। लेकिन अभी भी इसे कार्रवाई की दृष्टि से देखना उठित नहीं होगा। कार्रवाई हो तब माने, क्योंकि सभी मामला सत्ता पक्ष से जुड़ा है।

Next Story

विविध

Share it