राष्ट्रीय

Lakhimpur Khiri : 5 दिन के इंतजार बाद भी नहीं बिका किसान का धान तो क्रय केंद्र पर रखी 100 क्विंटल फसल को लगा दी आग

Janjwar Desk
22 Oct 2021 9:46 AM GMT
lakhimpur kheri
x

(बिक्री न हेने पर किसान ने जला दी अपनी फसल image/socialmedia)

Lakhimpur Khiri : प्रमोद सिंह अपना 100 क्विंटल धान लेकर पांच दिन पहले मोहम्मदी की मंडी आए थे। उस समय केंद्र प्रभारी ने बारदाना ना होने का हवाला देकर एक-दो दिन इंतजार करने को कहा था...

Lakhimpur Khiri (जनज्वार) : उत्तर प्रदेश के रामराज्य में आँख मीचते ही अंधेर दिख रही। अब लखीमपुर खीरी में एक किसान ने अपनी धान की फसल को ही आग लगा दी है। किसान बीते 5 दिनों से मंडी में धान बिकने का इंतजार कर रहा था लेकिन जब धान नहीं बिके तो आज शुक्रवार 22 अक्टूबर उसका सब्र टूट गया।

बताया जा रहा कि किसान ने क्रय केंद्र प्रभारियों की मान मनौवल भी की थी, बावजूद इसके उसका धान नहीं बिका तो आग लगा दी। उपज में आग लगते ही वहां मौजूद अफसरों के हाथ पांव फूल गए, जैसे तैसे आग बुझाई गई। मौके पर पहुंचे एसडीएम ने किसान को धान बिक्री का आश्वासन दिया है।

जानकारी के मुताबिक, मोहम्मदी तहसील के गांव बरखेड़ा कला के रहने वाले प्रमोद सिंह अपना 100 क्विंटल धान लेकर पांच दिन पहले मोहम्मदी की मंडी आए थे। उस समय केंद्र प्रभारी ने बारदाना ना होने का हवाला देकर एक-दो दिन इंतजार करने को कहा था। इस बीच अचानक बारिश हो गई प्रमोद सिंह ने अपना धान पॉलीथिन के नीचे बचाने की कोशिश की, फिर भी नीचे का धान भीग ही गया।

गुरुवार 21 अक्टूबर को धूप निकली तो प्रमोद सिंह ने उस धान की दोबारा सुखाई और सफाई कराई। किसान प्रमोद का कहना है कि उन्हें आश्वासन दिया गया था कि आज शुक्रवार को धान जरूर खरीद लिया जाएगा, लेकिन जब दोपहर तक अधिकारियों ने उनके धान की खरीदी नहीं की तो प्रमोद सिंह ने धान के ढेर पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी।

घटना के बाद क्रय केंद्र पर पहुंचे एसडीएम पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि किसान के पिता से खरीद को लेकर बात हो चुकी थी। क्रय अधिकारी सूखा धान खरीदने की बात कर रहे थे, लेकिन किसान अपना पूरा धान सरकारी केंद्र पर बेचने पर अड़ा हुआ था। जिसलिए यह तनातनी हो गई।

Next Story

विविध