राष्ट्रीय

LIVE | Lakhimpur Kheri: लखीमपुर जाने पर अड़े अखिलेश धरना पर बैठे तो लिए गए हिरासत में, धू-धूकर जली पुलिस की गाड़ी

Janjwar Desk
4 Oct 2021 6:28 AM GMT
LIVE | Lakhimpur Kheri: लखीमपुर जाने पर अड़े अखिलेश धरना पर बैठे तो लिए गए हिरासत में, धू-धूकर जली पुलिस की गाड़ी
x

(धरना पर बैठे अखिलेश यादव को हिरासत में ले लिया गया है)

Lakhimpur Kheri: लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा का जबरदस्त असर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में नजर आने लगा है, अखिलेश यादव सड़क पर ही धरने पर बैठ गए, इसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया है..

LIVE| Lakhimpur Khori : (जनज्वार)। लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा का जबरदस्त असर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में नजर आने लगा है। यहां लखीमपुर जाने से रोकने पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। इसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया है।

बवाल और उबाल के बीच कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) लखीमपुर जाने के लिए निकली लेकिन उन्हें सीतापुर के हरगांव में पुलिस ने हिरासत में ले लिया। वहीं केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है।

ताजा अपडेट्स-

- अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के धरने से कुछ दूरी पर भीड़ ने पुलिस की एक जीप को आग के हवाले कर दिया है। पुलिस ने विपक्ष के कई नेताओं को लखीमपुर खीरी पहुंचने से रोकने के लिए उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया है। इनमें बसपा महासचिव सतीश मिश्र, कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी, सलमान खुर्शीद, आराधना मिश्रा और शिवपाल यादव शामिल हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को पुलिस सुबह ही हिरासत में ले चुकी है।

- दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को लखीमपुर खीरी जाने से रोकने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग-9 और 24 बंद कर दिया है। इससे दिल्ली से गाजियाबाद (Ghaziabad) आने-जाने वाले कई रास्तों पर लंबा जाम लग गया है।

- लखीमपुर जा रहे रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी के काफिले को पुलिस ने हापुड़ के छिजारसी टोल पर रोकने का प्रयास किया। इस दौरान उनके काफिले में शामिल कार्यकर्ताओं ने पुलिस के साथ धक्का-मुक्की करते हुए पीछे धकेल दिया। इसी बीच जयंत चौधरी काफिले के साथ आगे रवाना हो गए। इसके बाद जयंत चौधरी ब्रजघाट स्थित टोल पर पहुंचे यहां भी उन्होंने पुलिस को चकमा दिया और आगे बढ़ गए।

- उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में रविवार को हुई हिंसक झड़प में चार किसान समेत कुल आठ लोगों की मौत हो गई। इस घटना के बाद से ही सभी विपक्षी पार्टियों के नेता कल रात से लखीमपुर खीरी पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि अभी तक कोई कामयाब नहीं हो सका।

- ट्विटर पर इस वक्त लखीमपुर किसान नरसंहार टॉप ट्रेंड है। गुजरात के वडगाम से विधायक जिग्नेश मेवानी ने ट्वीट कर कहा- 'प्रियंका गांधी, दीपेंद्र हुड्डा, सलमान खुर्शीद, अखिलेश यादव को हिरासत में लिए जाने के बाद भी क्या हम अब भी लोकतंत्र की जननी हैं?'

लेखक व ब्लॉगर हंसराज मीणा ने अपने ट्वीट में लिखा- हम अपने शहीद किसानों के लिए न्याय चाहते हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक वीडियो मैसेज ट्वीट कर कहा, "भाजपा सरकार किसानों को कुचलने की राजनीति कर रही है, किसानों को खत्म करने की राजनीति कर रही है।"

क्या है पूरा मामला

बता दें कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Khiri) में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष मिश्र ने प्रदर्शन कर रहे किसानों पर कथित तौर पर गाड़ी चढ़ा दी। ये किसान डिप्टी CM केशव प्रसाद मौर्य का विरोध कर रहे थे।इस घटना में 8 लोगों की मौत हो गई।

लखीमपुर खीरी के ASP अरुण कुमार सिंह ने 8 मौतों की पुष्टि की है, जिनमें 4 किसान थे और बाकी 4 या तो उस गाड़ी में सवार थे, जिसने किसानों को कुचला था या मंत्री के काफिले में शामिल दूसरी गाड़ियों में बैठे थे। घटना के बाद गुस्साए किसानों ने 2 गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया।

केशव प्रसाद मौर्य का कार्यक्रम में पहुंचे थे केंद्रीय मंत्री

जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र और UP के डिप्टी CM केशव मौर्य एक कार्यक्रम के लिए लखीमपुर खीरी पहुंचे थे। जब इसकी जानकारी कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों को लगी, तो वे हेलिपैड पर पहुंच गए। किसानों ने रविवार सुबह 8 बजे ही हेलिपैड पर कब्जा कर लिया था।

इसके बाद, दोपहर करीब 2.45 बजे सड़क के रास्ते मिश्र और मौर्य का काफिला तिकोनिया चौराहे से गुजरा, तो किसान उन्हें काले झंडे दिखाने दौड़ पड़े। इसी दौरान भारी बवाल हो गया और इन सबके बीच हुई हिंसा में 8 लोगों की मौत हो गई।

Next Story
Share it