राष्ट्रीय

Lakhimpur Kheri : योगी सरकार ने विपक्षी नेताओं को लखीमपुर न जाने देने का जारी किया आदेश, धारा 144 का दिया हवाला

Janjwar Desk
4 Oct 2021 10:06 AM GMT
lucknow news
x

(लखनऊ में पुलिस की गाड़ी आग के हवाले image/twitter)

Lakhimpur Kheri : लखीमपुर खीरी में किसानों और BJP कार्यकर्ताओं के बीच संघर्ष और मौत के बाद सियासी पारा सातवें आसमान पर जा पहुँचा है। कल से आज तक अखिलेश यादव, प्रियंका गांधी लखीमपुर जाने के प्रयास में गिरफ्तार किए गये हैं...

Lakhimpur Khiri (जनज्वार) : उत्तर प्रदेश के लखीपुर खीरी से उठी हिंसा की चिंगारी चलकर लखनऊ तक पहुँची है। यहां सपा प्रमुख अखिलेश यादव की गिरफ्तारी से पहले एक पुलिस वाहन को आग के हवाले करने सहित जमकर नारेबाजी व बवाल हुआ है। इस सहित योगी सरकार ने पूरे लखीमपुर में धारा 144 लागू कर दी है।

इससे पहले पुलिस की गाड़ी में आग लगने की घटना पर पुलिस की तरफ से कहा गया है कि वाहन को सपा कार्यकर्ताओं ने आग लगा दी। वहीं दूसरी तरफ अखिलेश यादव का बयान आया है कि गाड़ी थाने के बाहर खड़ी थी, और आग भी वहीं लगी है।

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी में किसानों और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच संघर्ष और मौत के बाद सियासी पारा सातवें आसमान पर जा पहुँचा है। कल से आज तक अखिलेश यादव, प्रियंका गांधी लखीमपुर खीरी जाने के प्रयास में गिरफ्तार कर लिए गये हैं। वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री सहित पंजाब के डिप्टी सीएम के लखीमपुर जाने की सूचना मिलते ही सरकार की तरफ से उन्हें रोके जाने का लिखित आदेश जारी किया गया है।


राज्य की योगी सरकार में अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी की तरफ से जारी पत्र संख्या 2496 ख/छ-पु.4-2021 के मुताबिक लखीमपुर खीरी में कल से ही घारा 144 लागू कर दी गई है। साथ ही पंजाब के डिप्यूटी सीएम व छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री को चौधरी चरण सिंह अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड़े पर रोके जाने का लिखित निर्देश जारी किया गया है।

इस बीच चंद्रशेखर रावण ने ट्वीट कर बताया कि, 'मैं तत्काल लखीमपुर खीरी घटनास्थल के लिए निकल रहा हूं। दुःख की इस घड़ी में हम सब अपने पीड़ित किसान भाइयों के साथ खड़े हैं। किसानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। अब हत्यारों को सजा दिलाकर ही दम लेना है। चाहे वह मंत्री का बेटा हो या फिर कोई और गुर्गा। सभी लोग किसानों का साथ दें।'

लेकिन पहला ट्वीट करने के बाद दूसरा ट्वीट भी सामने आया जिसमें लिखा गया है कि, 'अन्नदाता के हत्यारों को पकड़ने की बजाय यूपी पुलिस खैराबाद टोल प्लाजा पर सैकड़ो पुलिसकर्मी लगा कर हमे रोक कर खड़ी है। हम पीड़ित किसानों को न्याय दिलाने जरूर जाएंगे।' लेकिन इस सबको देखकर एक सलाह है कि प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को राज्य के चारों तरफ एक उंची सी बाउंड्री वॉल बनवा देनी चाहिए, जिससे कोई आ ना पाए। ऐसी ही बाउंड्री हर एक जिलों की भी बनावानी चाहिए।

राकेश टिकैत के कहा मंत्री पर केस किसानों की जीत

इस बीच किसान नेता राकेश टिकैत ने अपने बयान में कहा कि, 'अफसरों से 6वें राउंड की मीटिंग हुई। 'अफसरों ने माना कि मंत्री के बेटे की गलती है।' 'रोकने के बाद भी आशीष ने काफिला नहीं रोका।' जिसके चलते इतनी बड़ी घटना हुई। इतिहास में पहली बार है कि गृह राज्यमंत्री पर केस दर्ज हुआ है। ये देश के किसान भाइयों की जीत है।'

Next Story

विविध

Share it