मध्य प्रदेश

मध्यप्रदेश में उद्घाटन के पहले ही नदी में बह गया करोड़ों की लागत से बना पुल

Janjwar Desk
30 Aug 2020 11:52 AM GMT
मध्यप्रदेश में उद्घाटन के पहले ही नदी में बह गया करोड़ों की लागत से बना पुल
x

Photo:social media

इसकी लागत 3 करोड़ 7 लाख रुपये थी, पुल निर्माण का कार्य 1 सितंबर 2018 को शुरू हुआ था और इसके पूर्ण होने की तिथि 30 अगस्त तय थी, पर औपचारिक उद्घाटन के पहले ही 29-30 की दरम्यानी रात पुल ध्वस्त हो गया....

जनज्वार। मध्यप्रदेश में करोड़ों की लागत से बना एक पुल उद्घाटन से पहले ही ध्वस्त हो गया। प्रदेश में हो रही भारी बारिश के बीच यह पुल वैनगंगा नदी में बह गया। वैसे इसका औपचारिक उद्घाटन भले ही नहीं हुआ था, पर पिछले कुछ दिनों से लोगों ने इसका उपयोग करना शुरू कर दिया था। यह पुल सिवनी जिला में वैनगंगा नदी पर बना हुआ था।

मध्यप्रदेश के सिवनी जिला के इस पुल के बारे में बताया जाता है कि इसकी लागत 3 करोड़ 7 लाख रुपये थी। पुल निर्माण का कार्य 1 सितंबर 2018 को शुरू हुआ था और इसके पूर्ण होने की तिथि 30 अगस्त तय थी। पुल इससे पहले ही बनकर तैयार भी हो गया था और गांव के लोग करीब एक महीने से इसका इस्तेमाल भी कर रहे थे। लेकिन औपचारिक उद्घाटन के पहले ही 29-30 की दरम्यानी रात पुल ध्वस्त हो गया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस घटना पर जिला के डीएम राहुल हरिदास का कहना है कि जांच के आदेश दे दिये गए हैं और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

यह पुल सिवनी जिला के केवलारी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत है। केवलारी क्षेत्र के विधायक बीजेपी के राकेश पाल हैं। फिलहाल इलाके का संपर्क टूट गया है जिससे लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही है।

वैनगंगा नदी का यह पुल सुनवारा और भीमगढ़ गांवों को आपस में जोड़ता था। उधर पिछले कुछ दिनों से मध्य प्रदेश में लगातार हो रही बारिश ने अब आफत का रूप ले लिया है। प्रदेश में भारी बारिश के चलते राज्य की कई नदियां उफान पर है। पानी की निकासी के लिए बांधों के गेट खोल दिए गए हैं।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के 9 जिलों के 394 से ज्यादा गांवों में भीषण बाढ़ आई है। बाढ़ में फंसे 7 हजार से अधिक लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है। सीएम ने मीडिया को बताया है कि बाढ़ राहत के लिए बड़ी संख्या में राहत शिविर बनाए गए हैं, जहां पर रूकने, भोजन, दवाओं आदि सभी आवश्यक व्यवस्थाएं की गई हैं।

Next Story

विविध