Top
मध्य प्रदेश

MP : शिव 'राज' में दलित परिवार ने भाजपा के बजाय बसपा को दिया वोट तो निकाल दिया गांव से

Janjwar Desk
1 Dec 2020 9:00 AM GMT
MP : शिव राज में दलित परिवार ने भाजपा के बजाय बसपा को दिया वोट तो निकाल दिया गांव से
x

एसपी आफिस के बाहर धरने पर बैठा दलित परिवार (photo : social Media)

एसपी आफिस के बाहर धरना दे रहे दलित परिवार का आरोप है कि उपचुनाव में कमल के फूल के बजाय मायावती की पार्टी को वोट दिया तो राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा के रिश्तेदार प्रताड़ित कर रहे हैं, उन्हें गांव से बाहर निकाल दिया है...

शिवपुरी, जनज्वार। मध्य प्रदेश के शिवपुरी में एक दलित परिवार ने भाजपा पर बड़ा आरोप लगाया है। परिवार का कहना है कि हाल में हुए मध्य प्रदेश विधानसभा उपचुनाव में उन्होंने बीजेपी को वोट नहीं डाले तो भाजपा से जुड़े तथाकथित दबंगों ने उन्हें गांव निकाला दे दिया।

पीड़ित दलित परिवार का कहना है कि उन्होंने उपचुनाव में कमल के फूल को वोट ना देकर बसपा को वोट दिया था, इसलिए उन्हें गांव से बाहर कर दिया। अब पूरा परिवार जिले के एसपी ऑफिस के सामने बैठकर धरना दे रहा है और न्याय की गुहार लगा रहा है।

गौरतलब है कि एमपी में विधानसभा की 28 सीटों में से शिवपुरी जिले की पोहरी विधानसभा सीट पर भी 3 नवंबर को उपचुनाव हुए थे। यहां के बैराड़ थाना के झलवासा गांव के हरवीर सिंह व उसके परिवार ने बीजेपी प्रत्याशी और राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा को वोट न देकर बसपा प्रत्याशी को वोटिंग की। हालांकि इस उपचुनाव में राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा की शानदार जीत हुई।

इस बात से गुस्साए भाजपा कार्यकर्ताओं ने दलित परिवार को गांव निकाला ही दे दिया, जिसके बाद उसने पुलिस में भी शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई तो दलित परिवार अब एसपी ऑफिस के बाहर धरने पर बैठ गया है और चूल्हा जलाकर भोजन बना रहा है।

पीड़ित हरवीर सिंह का आरोप है कि उपचुनाव में कमल के फूल को वोट नहीं दिया तो राज्य मंत्री सुरेश राठखेड़ा के रिश्तेदार उसे व उसके परिवार को प्रताड़ित कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ राजनीतिक दबाव के चलते पुलिस भी हमारी शिकायत सुनने की बजाए उल्टा हम पर ही झूठे मुकदमे दर्ज कर बार बार जेल भेज देती है।

खबरों के मुताबिक धाकड़ समाज के कुछ लोगों ने पंचायत में शिकायत कर दी कि हरवीर सिंह के परिवार ने भाजपा को वोट नहीं दिया है, इसी बात पर दलित परिवार का गांव निकाला कर दिया गया। आखिरकार पीड़ित परिवार ने अब एसपी ऑफिस के बाहर डेरा लगा लिया है।

पीड़ित का साफ कहना है कि जब तक उन्हें इंसाफ नहीं मिल जाता वे यहां से नहीं उठेंगे। वही मामला मीडिया के सामने आने के बाद प्रशासन हरकत में आ गया है। एएसपी शिवपुरी प्रवीण कुमार भूरिया मामले की जांच की बात कही है।

Next Story

विविध

Share it