मध्य प्रदेश

रिवॉल्वर घर पर भूले MLA और बेटे ने खुद को मारी गोली, सुसाइड नोट में लिखा "मेरा दोस्त ऊपर अकेला है, उसके पास जा रहा हूं"

Janjwar Desk
12 Nov 2021 3:59 PM GMT
रिवॉल्वर घर पर भूले MLA और बेटे ने खुद को मारी गोली, सुसाइड नोट में लिखा मेरा दोस्त ऊपर अकेला है, उसके पास जा रहा हूं
x

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ के साथ विधायक का पुत्र विभव (pic credit: Social Media)

विभव ने अपने पिता संजय यादव के लाइसेंसी बंदूक से खुद को गोली मारी थी। विधायक संजय यादव के पास लाइसेंसी रिवॉल्वर है, जो वे हमेशा अपने साथ रखते थे। मगर घटना के दिन वे रिवॉल्वर साथ ले जाना भूल गए...

Madhya Pradesh News: मध्य प्रदेश में जबलपुर के बरगी से कांग्रेस विधायक संजय यादव के छोटे बेटे विभव उर्फ विभु ने गुरुवार, 11 नवंबर को पिता की रिवॉल्वर से खुद को गोली मार ली। गंभीर हालत में विभव को भंडारी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई। विभव ने अपने पिता की लाइसेंसी रिवॉल्वर से कनपटी पर फायर किया था। गोली उसके सिर में फंस गई थी। पुलिस को मौके से दो पेज का सुसाइड नोट मिला है, जिसमें विभव ने लिखा, "पापा मम्मी मेरी मौत का दुख मत मनाना। मुझ में जीने की इच्छा और जुनून नहीं रहा। मेरा दोस्त ऊपर गया, मैं उसके पास जा रहा हूं।

बरगी से कांग्रेस विधायक संजय यादव के दो बेटे हैं। इनमें बड़ा बेटा समर्थ कॉलेज में बढ़ता है और छोटा बेटा विभव (17) 12वीं का छात्र था। घटना के दिन विधायक संजय यादव ग्रामीण बैठक में शामिल होने गए थे। विधायक की पत्नी सीमा भोपाल के लिए निकली थीं। बेटे की मौत की खबर सुनते ही बीच रास्ते से लौट गईं। विधायक की पत्नी सीमा यादव पेट्रोल पंप का काम संभालती थी, लेकिन उनकी गैर मौजूदगी में बड़ा बेटा समर्थ पेट्रोल पंप चला गया था। घटना के समय घर में विभु के अलावा नौकर हरिनाथ था। दोपहर डेढ़ बजे घर की पहली मंजिल पर से फायरिंग की आवाज आई। नौकर ने देखा तो विभु खून से लथपथ पड़ा था। विधायक संजय यादव को इसकी सूचना दी गई। बड़ा बेटा समर्थ विभु को लेकर भंडारी अस्पताल पहुंचा जहां उसकी मौत हो गई।

रिवॉल्वर घर पर भूल गए थे विधायक

विभव ने अपने पिता संजय यादव के लाइसेंसी बंदूक से खुद को गोली मारी थी। विधायक संजय यादव के पास लाइसेंसी रिवॉल्वर है, जो वे हमेशा अपने साथ रखते थे। मगर घटना के दिन वे रिवॉल्वर साथ ले जाना भूल गए। गुरुवार, 11 नवंबर को पार्टी के ग्रामीण अध्यक्ष राधेश्याम चौबे के घर पर बैठक में शामिल विधायक का ध्यान पूरा टाइम रिवॉल्वर पर ही था। उन्होंने बैठक में सहयोगियों से कहा भी था कि रिवॉल्वर घर भूल आया हूं। लेकिन उन्हें ये नहीं पता था कि उनके रिवॉल्वर से उनका बेटा आत्महत्या कर लेगा। गुरुवार को हाथीताल स्थित घर में विधायक पिता संजय यादव के कमरे में बने चेंजिंग रूम में बेटे ने कनपटी पर खुद को गोली मार ली।

दो पन्ने का सुसाइड नोट बरामद

विभव उर्फ विभु के पास से पुलिस ने दो पेज का सुसाइड नोट बरामद किया है। विभु ने इसमें लिखा, "मेरे मम्मी-पापा, भईया और सब दोस्त बहुत अच्छे हैं। मुझे किसी से कोई शिकायत नहीं है। मेरा दोस्त ऊपर अकेला है। मैं भी उसके पास जा रहा हूं। मैं खुद की खुशी के लिए सुसाइड कर रहा हूं। सुसाइड का ख्याल काफी समय से आ रहा था, पर हर बार कुछ कारणों से इरादा बदलना पड़ जाता था। मेरे जाने का आपलोग दुख मत मनाना। मेरी यादों के सहारे खुश रहना।"

विभव ने दो पन्नों के सुसाइड नोट में अपने मां बाप से कई बार माफी मांगी। उसने लिखा कि, "पापा, मम्मी और भईया मैं बहुत घटिया हरकत करने जा रहा हूं। अभी मैच्योर नहीं हुआ। खुद की खुशी के लिए सुसाइड कर रहा हूं। मेरी वजह से आपको दर्द झेलना पड़ेगा, पर आप सब खुश रहना। अनजाने में हुई भूल के लिए मुझे माफ कर देना।"

दोस्तों को किया गुडबाय

जानकारी के अनुसार, सुसाइड से पहले विभु ने अपने 5 स्कूल फ्रेंड को गुडबाय मैसेज भी भेजा और अच्छे से रहने का संदेश दिया। विभु ने अपने पांच दोस्तों को मैसेज में लिखा "तुम सब बहुत अच्छे हो। अपना ख्याल रखना। मैं जा रहा हूं।" अपने सुसाइड नोट में विभव ने अपने परिवार, रिश्तेदार, दोस्तों और टीचर्स से भी माफी मांगी है।

परिवार वालों के अनुसार, विभु पढ़ाई में होनहार छात्र था। 12वीं के बाद आगे की पढ़ाई के लिए परिवार वाले उसे US भेजना चाहता था। उसने 12वीं में अतिरिक्त विषय के तौर पर साइकोलॉजी लिया था लेकिन परिवार को इसकी भनक नहीं थी। परिजनों के मुताबिक, बुधवार को विभव के मौसा मौसी हैदराबाद से आए थे। रात में वह देर रात तक उनसे बातचीत करता रहा। देर रात तक जगने के कारण गुरुवार को वह काफी देर तक सोता रहा। सुबह 11.30 बजे वह सोकर उठा था। उसकी मां बहन के साथ भौपाल के लिए निकली थीं। घर के अन्य लोग भी काम से बाहर थे। उसी वक्त विभव ने अपने पिता के रिवॉल्वर से आत्महत्या कर ली।







Next Story

विविध