मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश में पड़ोसियों ने महिला को खंभे से बांधकर पीटा, पहले भी बेटी से कर चुके थे छेड़खानी

Janjwar Desk
27 Sep 2020 3:16 PM GMT
मध्य प्रदेश में पड़ोसियों ने महिला को खंभे से बांधकर पीटा, पहले भी बेटी से कर चुके थे छेड़खानी
x
महिला का कहना है कि जब मेरे पति और मेरे बच्चे मुझे बचाने के लिए आए तो गुंडों ने उनके साथ मारपीट कर उन्हें वहां से भगा दिया....

जनज्वार। मध्य प्रदेश के सागर जिले के गौरझामर थाना क्षेत्र के पटनाखुर्द गांव में एक महिला को बिजली के खंभे से बांधकर पांच लोगों द्वारा मारपीट करने का मामला सामने आया है। महिला राधारानी रजक के साथ पड़ोस में रहने वाले दिनेश, चंद्रेश, अरविंद, रोहित एवं राज विश्वकर्मा ने शराब के नशे में महिला को खंभे के साथ बांध कर लाठी और डंडों से पीट दिया।

पुराने विवाद के चलते महिला के पड़ोसियों में रहने वाले 5 पुरषों ने शनिवार की सुबह राधा रानी को पहले घर के अंदर से घसीटकर बाहर लाए और फिर बिजली के खंभे से बांधकर करीब 1 घंटे तक पीटा। जब पति व बेटा महिला को बचाने के लिए आए तो गुंडे पड़ोसियों ने उनके साथ भी मारपीट की। पुलिस को बुलाए जाने के बाद महिला की जान बचाई गई। घटना से पहले महिला अपने पति के साथ भैंसों को लेकर घर आई थी।

मामले पर महिला का कहना है, " मेरे घर के सामने रहने वाले दिनेश, चंद्रेश, अरविंद, रोहित एवं राज विश्वकर्मा शराब के नशे में चूर थे। पांचाें मुझे घर से सड़क पर घसीट कर लाए और मेरे साथ मारपीट करते हुए अपने घर के आंगन में ले गए और मुझे बिजली के खंभे से बांधकर लाठी-डंडों से मारपीट करने लगे। मेरे गले में रस्सी का फंदा लगाकर मेरी जान लेने की कोशिश की गई इसी बीच पुलिस आ गई। पुलिस ने मुझे छुड़ाया और देवरी अस्पताल लेकर मेरा इलाज कराया। महिला का कहना था कि हमारे पड़ाेसी शराब पीकर अक्सर हमारे साथ गाली गलौज करते हैं और मना करने पर झगड़ा करते हैं। इससे पहले मेरी बेटी के साथ भी उन्होंने छेड़छाड़ की थी।"

जिसकी रिपाेर्ट मैंने गौरझामर पुलिस थाने में की थी, लेकिन पुलिस ने मामले का रफा-दफा कर दिया। जिसके इन लोगों के हौसले बढ़ गए थे। महिला का कहना है कि जब मेरे पति और मेरे बच्चे मुझे बचाने के लिए आए तो इन गुड़ों ने उनके साथ मारपीट तक उन्हें वहां से भगा दिया। सूचना पहुंचने पर पुलिस ने महिला को को गुंडों से मुक्त कराया।फिलहाल पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इस दौरान जनज्वार ने स्थानीय पुलिस स्टेशन से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन किसी तरह का कोई जबाव नहीं मिला।

Next Story

विविध