Top
मध्य प्रदेश

MP में हैवानियत का नंगा नाच : गर्भवती महिला के कंधे पर बच्चा बिठा 3 किमी चलने को किया मजबूर, मना करने पर बुरी तरह पीटा

Janjwar Desk
16 Feb 2021 10:27 AM GMT
MP में हैवानियत का नंगा नाच : गर्भवती महिला के कंधे पर बच्चा बिठा 3 किमी चलने को किया मजबूर, मना करने पर बुरी तरह पीटा
x

गर्भवती महिला को ससुरालियों ने दी बच्चे को कंधे पर बिठाकर 3 किमी चलने की सजा

मध्य प्रदेश के गुना में गर्भवती महिला के साथ हैवानियत की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल, महिला के कंधे पर बच्चे को बिठाकर 3 किलोमीटर तक चलने को किया मजबूर, मना करने पर सरेआम की पिटाई....

गुना। मध्य प्रदेश के गुना जिले में इंसानियत को तार-तार कर देने वाली तस्वीर सामने आई है। यहां एक गर्भवती महिला के कंधे पर एक बच्चे को बैठाकर तीन किलोमीटर नंगे पांव चलने को मजबूर किया गया। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। मिली जानकारी के अनुसार बांसखेड़ी में रहने वाली गर्भवती महिला को उसके ससुराल वालों ने एक बच्चे को कंधे पर बैठकर तीन किलोमीटर का रास्ता तय कराया। महिला का कसूर सिर्फ इतना था कि उसका पति उसे अन्य युवक के घर छोड़कर इंदौर चला गया था।

महिला के अनुसार उसका पति सीताराम सांगई गांव में डेमा नामक युवक के घर छोड़कर चला गया था। उसके बाद ससुर, जेठ आए और घर चलने को कहा। महिला ने मना किया तो उन्होंने पिटाई कर दी और एक बालक को कंधे पर बैठाकर महिला को बांसखेड़ा तक तीन किलोमीटर पैदल चलाकर लाए।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में दिखाई दे रहा है कि बहुत बड़े बच्चे को अपने कंधे पर बिठाकर ले जाती गर्भवती महिला के आसपास पुरुषों का एक झुंड है। वह लगातार उसका उपहास उड़ा रहे हैं। एक लड़का चिढ़ाने के लिए डांस भी कर रहा है।

पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। यह मामला सोमवार 15 फरवरी को सामने आया है। यह घटना लगभग दस दिन पुरानी बताई जा रही है। तीन आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। एक अन्य की तलाश है।

पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ ने कहा है कि, "प्रदेश के गुना जिले के बांसखेड़ी गांव में एक गर्भवती महिला के साथ घटित घटना बेहद शर्मसार करने वाली है, इंसानियत व मानवता को तार- तार कर देने वाली। एक गर्भवती महिला के कंधे पर एक बच्चे को बैठाकर उसका नंगे पैर जुलूस निकाला गया, रास्ते भर उसकी लाठी- डंडों से बेरहमी से पिटाई भी की गई।"

कमल नाथ ने आगे कहा, "शिवराज जी, ये हम कैसे प्रदेश में जी रहे हैं, क्या यही आपका सुशासन है? एक महिला के साथ ये कैसा अमानवीय व्यवहार? एक महिला का जुलूस निकलता रहा और कोई रोकने वाला नहीं ? कहां सोता रहा आपका पुलिस प्रशासन?"

पूर्व मुख्यमत्री ने मांग की है कि दोषियों पर सख्त से सख्त कार्यवाही हो और इस गंभीर मामले में लापरवाही बरतने वाले दोषी अधिकारियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो। कमल नाथ ने कहा कि महिला को पूर्ण सुरक्षा प्रदान की जाए, उसका समुचित इलाज सरकार करवाये और उसकी हरसंभव मदद की जाए।

पुलिस को पीड़िता ने बताया कि दो महीने पहले पति सीताराम मुझे सांगई गांव में डेमा, जिसके घर में वह रह रही थी, के घर छोड़कर इंदौर चला गया। उसके पति ने जाते वक्त कहा था कि अब मैं तुम्हें नहीं रख सकता, तुम डेमा के साथ ही रहो। बाद में महिला के ससुर गुनजरिया वारेला, जेठ कुमार सिंह, केपी सिंह और रतन आए और घर चलने के लिए कहा। जब उसने मना किया, तो उसे पीटने लगे। उसके कंधे पर गांव के एक लड़के को बैठा दिया और सांगई से बांसखेड़ी ससुराल तक तीन किलोमीटर तक नंगे पैर ले गए। महिला पांच महीने की गर्भवती है। महिला के मुताबिक पेट में बच्चा होने के बाद भी उसके ससुर और जेठ उसे घसीटते रहे। डंडे, पत्थर, क्रिकेट के बल्ले से पैरों में मारते रहे। इस दौरान पति ने फोन कर अपने परिवार वालों से मुझे छोड़ने के लिए भी कहा, लेकिन उसकी भी किसी ने नहीं सुनी।

घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ गाली देना, धक्का देना, चांटा मारना, जान से मारने की धमकी के आरोप में मामला दर्ज किया है। इसके तहत आरोपियों को तीन महीने से लेकर दो साल तक की सजा हो सकती है।

इस मामले में गुना एसपी ने कहा कि गुना में गांव वालों के सामने एक पुरुष का एक महिला के कंधे पर सवार होकर जुलूस निकालने का वीडियो वायरल होने के बाद तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है।एसपी ने बताया कि चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, जिसमें तीन को गिरफ्तार किया जा चुका है। जांच चल रही है।

Next Story

विविध

Share it